Hariyana- शासन-प्रशासन में हड़कंप मचा डाला,हेलीमंडी में 40 मुस्लिमों के मौजूद होने की  मिली सूचना

लाॅक डाउन, बार्डर सील और हेलीमंडी पहुंचे 40 मुस्लिम !

यह मामला हेलीमंडी नगर पालिका के वार्ड नंबर दो का. निजामुद्दीन की घटना को देखते प्रशासन में मचा हड़कंप. स्थानीय प्रशासन ने बाहरी 26 लोगों को भेजा जांच के लिए. मौके पर पहुंचे एसडीएम राजेश, एसीपी बीर सिंह, एसएचओ सुरेश

पटौदी। दुनिया भर में कोरोना-कोविड 19 को लेकर मचे हाहाकार के बीच दिल्ली निजामुद्दीन की घटना अभी ठंडी भी नहीं हो सकी कि, पटौदी हलके के हेलीमंडी नगर पालिका क्षेत्र में एक ही घर में 40 मुस्लिमों के मौजूद होने की सूचना ने शासन-प्रशासन में हड़कंप मचा डाला। जानकारी मिलते ही मौके पर पटौदी के एसडीएम राजेश कुमार, एसीपी बीर सिंह, थाना प्रभारी सुरेश कुमार, तहसीलदार राम निवास, हेलीमंडी चैकी प्रभारी रविंद्र यादव पहुंचे और संबंधित घर की घेराबंदी करते हुए आरंभिक पूछतााछ शुरू कर जिला के वरिष्ठ अधिकारियों को मामले की जानकारी दी। इधर यह सनसनी खेज खबर पूरे इलाके में फैल गई साथ ही लोगों में भी खलबली मच गई। संबंधित घर के बाहर #हेलीमंडी पालिका प्रशासन ने 15 अप्रैल तक के लिए क्वार्टरटाइन को नोटिस चस्पा दिया है।
सूत्रों एवं अन्य जानकारी के मुताबिक हेलीमंडी वार्ड 2 के निवासी गुलजार के यहां पर बीते 36 घंटों के दौरान कथित रूप से देश के विभिन्न राज्यों से करीब 40 मुस्लिम पहुंचे। यह अपने आप में बहुत ही बड़ा और गंभीर सवाल है कि, बार्डर, जिला की सीमा और तमाम नाकाबंदी के बावजूद इतनी संख्या में लोग कैसे पहुंच गए, और पहुंचे भी तो गुलजार या उसके परिवार के द्वारा इसकी जानकारी प्रशासन से क्यो छिपा के रखी ?

मौके पर पहुंचे नागरिक और पुलिस प्रशासन के अधिकारियों के द्वारा गुलजार के परिवार के सदस्यों के साथ-साथ बाहर से यहां पहुंचे लोगों से विस्तार से जानकारी ली। इधर मंगलवार को जैसे ही एक घर में संदिग्ध 40 लोगों के एकत्रित होने का भंडा फूटा तो आसपास के लोगों के मुताबिक बहुत से लोग मौके का फायदा उठाकर, पुलिस के आने से पहले ही फरार हो गए। लोगों के मुताबिक बीती रात को ही गुलजार के घर पर पहुंचे लोगों की सुविधा के लिए किराये पर रिजाई-गद्दे इत्यादी भी लाये गए, लेकिन साक्ष्य मिटाने के लिए मंगलवार को इन्हें आसपास में फैंक दिया गया।

 

 

कोरोना से दुनिया में तबाही -Coronavirus Full Updates:दुनिया 785777 संक्रमित मौत 37815 , भारत में  1347 संक्रमित, 32 की मौत,
महेंद्रगढ़, फतेहपुर और इलाहाबाद यूपी से पहुंचे

स्थानीय अधिकारियों के मुताबिक गुलजार के यहां पर तीन परिवार जो कि स्वयं को उसका रिश्तेदार बता रहे हैं, वे हरियाणा के महेंद्रगढ़, यूपी के फतेहपुर और इलाहाबाद से आये हैं, इनका कहना है कि वे बीमार चल रहे गुलजार को देखने के लिए ही आये हैं, सवाल वही है कि, एक ही घर में शोसल डिस्टेस कैसे संभव है इतने लोगों के एक साथ रहते हुए। इस बात से इंकार नहीं कि, इनके यहां आने मात्र से कोरोना-कोविड 19 के संक्रमण से अछूते होने का सर्टिफिकेट बिना किसी जांच के ही दे दिया जाए ? एक और बड़ा सवाल कि, इतनी दूरी कैसे और किस वाहन से तय करके हेलीमंडी पहुंच भी लिये और कहीं भी रोका नहीं गया ? यह कोरोेना के प्रकोप को देखते बहुत ही गंभीर और जांच का विषय भी बन गया है।

कुल 26 लोगों को भेजा जांच के लिए
पटौदी एसडीएम राजेश कुमार और एसीपी बीर सिंह के मुताबिक गुलजार के यहां रहने वालों में से कुल ऐसे 26 लोगों को आइसोलेशन सहित आरंभिक जांच के लिए भेजा गया है, जो कि हाल ही में अन्य स्थानों से चलकर आये हैं। इनमें बच्चे, महिला और पुरूष को मिलाकर कुल संख्या 26 है। मौके पर एंबुलेंस बुलाकर सबसे पहले नागरिक अस्पताल पटौदी लाया गया और इसके बाद में कोरोना-कोविड 19 के किसी भी प्रकार के लक्षण अथवा संक्रमण की संभावना की जांच के लिए गुरूग्राम के सेक्टर दस अस्पताल के लिए रैफर कर दिया गया है।

India-पैदा हुई बेबी कोरोना !, जानिए आखिर कौन है ये कोरोना !

 

घर में 14 सदस्य क्वार्टरटाइन के लिए
पटौदी हलके के हेलीमंडी नगर पालिका के वार्ड 2 में गुलजार के परिवार में अब कुल 14 सदस्य बताये गए हैं। घर के बाहर पालिका प्रशासन के द्वारा 15 अप्रैल तक के लिए क्वार्टरटाइन को नोटिस चस्पा दिया है। इधर पटौदी नागरिक अस्पताल की एसएमओ डा नीरू का कहना है कि उनके पास एसएचओ का फोन आया, इसके बाद कुल 26 लोगों को बच्चों, महिलाओं व पुरूषों को लाया गया। ये सभी अन्य जिलों या राज्यों से आये हुए थे, यहां आरंभिक जांच के बाद में दो एंबुलेंस गुरूग्राम से बुलाकर सभी 26 लोगों को इनकी पूरी तरह से जांच के लिए गुरूग्राम सेक्टर दस के सरकारी अस्पताल में भेज दिया गया है। इसके अलावा हेलीमंडी में संबंधित घर अथवा परिवार के सदस्यों पर भी निरंतर निगरानी रखते हुए जांच जारी रहेगी, वहीं आम लोग भी अपने बचाव को ही प्राथमिता प्रदान करते सरकार सहित प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग कि हिदायतों का गंभीरता से पालन करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *