hisaar-भाई के निधन के बाद घर के बाहर लिखाशोक व्यक्त करने न आएं,  लॉकडाउन तोड़कर 

शोक व्यक्त करने न आएं,  लॉकडाउन तोड़कर
घर के बाहर लगाया शोक संदेश, लिखा- घर पर ना आये कोई शोक जताने
हिसार (अटल हिन्द ब्यूरो )कोरोना वायरस के खिलाफ जंग और इसके कारण लॉकडाउन के दौरान कई जगह लोग तमाम को‍शिशों के बावजूद हालात को समझने को तैयार नहीं हैं और घरों से बाहर आने से बाज नहीं आ रहे। इन सबके बीच कुछ लोगों की जागरुकता दिल को छू लेने वाली है। हिसार में एक व्‍यक्ति ने अपने भाई के निधन के बाद घर के बाहर संदेश लगा दिया कि कृपया कोई शोक व्यक्त करने न आएं। इससे लॉकडाउन तोड़कर सड़कों पर निकलने वालों को सीखना चाहिए।

कोरोना वायरस (COVID-19) के संक्रमण को रोकने के लिए पूरे देश में 21 दिनों का लॉक डाउन है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद इसकी घोषणा की थी। इसके बाद हरियाणा के मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल ने भी लोगों से लॉक डाउन का पूरी तरह पालन करने की अपील की। इसके बावजूद हर रोज कुछ लोग सड़कों पर निकल रहे हैं।वहीं शहर के सेक्टर 9-11 निवासी मुकेश गोयल ने अनोखा उदाहरण पेश किया है। उन्‍होंने सोशल डिस्टेंस के लिए संदेश दिल छू लेने वाले अंदाज में दिया है। हाल ही में मुकेश गोयल के भाई संजय गोयल का फूड प्वायजनिंग के कारण निधन हो गया। आम तौर पर किसी का निधन होने के बाद लोग घर में शोक जताने आते हैं। कोराेना के कारण पैदा हालात और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सोशल डिस्‍टेंस की अपील को ध्‍यान में रखकर मुकेश गोयल ने बड़ा फैसला किया। लोग शोक जताने न आएं और लोगों का जमावड़ा न लगे इसके लिए मुकेश गोयल ने घर के बाहर नोटिस लगा दिया है।

नोटिस में लिखा है- ‘ देश में चल रही भयंकर त्रासदी और प्रधानमंत्री जी की अपील का समर्थन करते हुए हमें बड़े दुख के साथ आपसे हाथ जोड़ कर कहना पड़ रहा है कि कृपया जितना संभव हो सके घर पर रहें। हमें इस दुख की घड़ी में आपसे न मिल पाने का बहुत दुख है। हम आपकी भावनाओं की बहुत कद्र करते हुए पुन: आपसे सहयोग की प्रार्थना करते हैं। सभी शुभचिंतकों को हाथ जोड़कर धन्यवाद। मुकेश गोयल ने बताया कि वह लोगों से चाहते हैं कि वह उनके घर न आकर फोन पर ही शोक प्रकट कर सकते हैं। अगर फिर भी किसी को लगता है कि जाना चाहिए तो वह गेट से ही अपना संदेश देकर जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *