kaithal-कार्य के लिए अकेले आकर मिलें, किसी बिचौलियो को साथ लाने की जरूरत नही : ढांडा

कार्य के लिए अकेले आकर मिलें, किसी बिचौलियो को साथ लाने की जरूरत नही : ढांडा
गांव पिंजुपूरा, शिमला व मटौर में नागरिक अभिनंदन कार्यक्रम में उपस्थितगण को किया संबोधित
कैथल/कलायत, 8 दिसंबर (कृष्ण प्रजापति): हरियाणा की महिला एवं बाल विकास, अभिलेखागार राज्यमंत्री कमलेश ढांडा ने ग्रामीणों का आह्वान किया कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत अपनी बेटियों को उच्च शिक्षा दिलवाकर उन्हें स्वावलंबी बनाएं। समाज में बेटा-बेटी में फैले भेदभाव को समाप्त करें तथा बेटियों को भी आगे बढऩे के पूरे अवसर प्रदान करें। बेटियां हर क्षेत्र में अपनी योग्यता का लोहा मनवाते हुए उच्च मुकाम हासिल कर रही है। राज्यमंत्री कमलेश ढांडा अपने धन्यवादी दौरा कार्यक्रम के तहत आज जिला के तीन गांवों पिंजुपूरा, सिमला एवं मटौर में नागरिक अभिनंदन कार्यक्रम में उपस्थितगण को संबोधित कर रही थी। इन कार्यक्रमों में ग्रामीणों द्वारा महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री का शॉल व स्मृति चिन्ह भेंट कर नागरिक अभिनंदन किया गया। कमलेश ढांडा ने अपने संबोधन की शुरूआत लोगों का विनम्रता पूर्वक हाथ जोड़कर आभार व्यक्त करते हुए की। उन्होंने कहा कि  हलका वासियों ने हमेशा पूरा सहयोग एवं समर्थन किया है, जिसे वे हमेशा याद रखेगी। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति अपने कार्य के लिए उनसे अकेले आकर मिलें तथा किसी व्यक्ति को बिचौलियो को साथ लाने की जरूरत नही है। हलका की जनता ने गत विधानसभा चुनाव को अपना चुनाव मानकर दिन-रात मेहनत की है तथा वे भी हलका वासियों के मान-सम्मान में कभी कमी नही आने देंगी। उन्होंने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि वे सभी 36 बिरादरी को साथ लेकर चलेंगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ईमानदार एवं साफ छवि के नेता हैं, जिन्होंने प्रदेश में गरीब से गरीब युवाओं को योग्यता के आधार पर सरकारी नौकरी देने का कार्य किया है। उन्होंने मनोहर लाल का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि उन्होंने पार्टी की एक छोटी सी कार्यकर्ता को राज्यमंत्री बनाकर कलायत हलका वासियों का गौरव बढ़ाया है। उन्होंने लोगों को आश्वत करते हुए कहा कि वे हमेशा एक सच्ची सेविका के रूप में कार्य करते हुए हलका वासियों की समस्याओं का समाधान करवाएंगी तथा हलका में विकास कार्य करवाएंगी। तुषार ढांडा ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि वे आपसी भाईचारे को मजबूत करने के लिए ही कार्य करेंगे। उन्होंने कहा कि  उन्होंने लोगों का आह्वान किया कि वे भविष्य में भी संयम रखते हुए पूरा समर्थन व सहयोग दें। यदि कभी वे रास्ते से भटक जाएं तो उन्हें सही रास्ता भी दिखाएं। उन्होंने कहा कि वे पगड़ी की आन-बान व शान को कभी कम नही होने देंगे। उन्होंने कहा कि उनके पिता स्वर्गीय नर सिंह ढांडा ने सभी बिरादरियों को साथ लेकर कार्य किया तथा सभी को पूरा मान-सम्मान दिया। नर सिंह ढांडा मिलनसार व ईमानदार व्यक्ति थे, जो हमेशा हलका वासियों के दुख दर्द में शामिल रहते थे। वे अपने पिता द्वारा दिखाए गए सच्चाई व ईमानदारी के रास्ते पर चलते हुए लोगों की सेवा करेंगे तथा सभी लोगों को पूरा मान-सम्मान देंगे। इस अवसर पर ग्रामीणों द्वारा राज्यमंत्री को स्मृति चिन्ह व शॉल भेंटकर नागरिक अभिनंदन किया गया तथा तुषार ढांडा को मान-सम्मान का प्रतीक पगड़ी पहनाकर सम्मानित किया गया।
इस अवसर पर दिलावर सिंह मलिक, कलायत मंडल के अध्यक्ष राममेहर शर्मा, बालू मंडल के अध्यक्ष राजेश बिढ़ान, पिंजुपूरा सरपंच रेणू बाला, सरपंच प्रतिनिधि तरसेम गोस्वामी, शिमला की सरपंच शिया राम, मटोर के सरपंच पृथ्वी सिंह सहित गणमान्य व्यक्ति तथा भाजपा के विभिन्न पदाधिकारी व वरिष्ठ कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *