Atal hind
कैथल हरियाणा

kaithal-जींद रोड पर जीवन राईस मिल के नजदीक चला  पीला पंजा, निरंतर जारी रहेगा यह अभियान : उपायुक्त 

जींद रोड पर जीवन राईस मिल के नजदीक चला  पीला पंजा, निरंतर जारी रहेगा यह अभियान : उपायुक्त
कैथल, 17 अक्तूबर  (अटल हिन्द/राजकुमार अग्रवाल  ) जिला में विकसित हो रही अवैध कॉलोनियों पर कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जा रही है।  जिला नगर योजनाकार कार्यालय व ड्यूटी मैजिस्ट्रेट ईश्वर सिंह के पूरे अमले द्वारा शहर में कैथल नगरीय क्षेत्र की राजस्व सम्पदा गांव पट्टी  चौधरी में जीवन राईस मिल के नजदीक एक अवैध कॉलोनी विकसित की जा रही थी, जिसको शुरुआती दौर में जिला प्रशासन की मदद से तोड़-फोड़ की कार्रवाई अमल में लाई गई। अवैध कॉलोनी पर जेसीबी चलाने का कार्य सुबह 11 बजे से किया गया।
Kaithal, 17 October (Atal Hind / Rajkumar Aggarwal) Strict action is being implemented on illegal colonies being developed in the district. An illegal colony was being developed by the full staff of District Municipal Planner Office and Duty Magistrate Ishwar Singh near Jeevan Rice Mill in Patti Chaudhary, the revenue estate of Kaithal urban area in the city, which was broken up with the help of the district administration in the initial phase. The bursting action was implemented. The work of running the JCB on the illegal colony was done from 11 am.

उपायुक्त सुजान सिंह ने बताया कि अर्बन एरिया कैथल के अधीन गांव पट्टी  चौधरी में पनप रही एक अवैध कॉलोनी में तोड़-फोड़ की कार्रवाई पूर्वनियोजित कार्यक्रम के तहत अमल लाई गई। विभाग द्वारा कैथल अम्बाला रोड पर 3 एकड़ भूमि में पनप रही अवैध कॉलोनी में निर्मित सभी कच्ची सड़कों को जेसीबी मशीन की मदद से हटाया गया। विभाग की कार्रवाई भनक लगते ही लोग इकट्ठा  हो गए परंतु मौके पर एसएचओ थाना शहर के नेतृत्व में मौजूदा पुलिस बल की मदद से विभागीय कार्रवाई की गई।
उपायुक्त सुजान सिंह ने बताया कि विभाग के संज्ञान में आया कि शहर में कैथल नगरीय क्षेत्र की राजस्व सम्पदा गांव पट्टी  चौधरी में जीवन राईस मिल के नजदीक 3 एकड़ में अवैध कॉलोनी विकसित की जा रही थी। भूमि में भू मालिकों द्वारा बिना विभागीय अनुमति के अवैध कॉलोनी विकसित करने करने का मामला आया था। जिसके उपरांत विभाग द्वारा भूस्वामी और प्रॉपर्टी डीलरों को एचडीआर एक्ट 1975 की धाराओं के तहत नोटिस जारी करके कॉलोनी विकसित करने के लिए जरूरी अनुमति प्राप्त करने वाले आदेश दिए गए थे, परंतु भूस्वामी और प्रॉपर्टी डीलरों द्वारा न तो मौके पर बनाई जा रही अवैध कालोनी का निर्माण रोका और न ही विभाग से किसी प्रकार की अनुमति ली। पीला पंजा चलाने के साथ-साथ अवैध कालोनी विकसित करने वालों के खिलाफ कार्रवाई भी अमल में लाई जा रही है।
जिला नगर योजनाकार अनिल कुमार नरवाल ने बताया कि आम लोगों को जागरूक भी किया जा रहा है कि  वह सस्ते प्लाट के चक्कर में प्रॉपर्टी डीलरों के बहकावे में न आए और न ही अवैध कालोनियों में प्लाट खरीदें। मकान खरीदने से पहले जिला योजनाकार कार्यालय से पूर्ण जानकारी प्राप्त कर लें। सभी प्रॉपर्टी डीलर का भी आह्वान  किया गया है कि वे सरकार द्वारा चलाई गई हाउसिंग स्कीम, दीनदयाल हाउसिंग स्कीम, अफॉर्डेबल हाउसिंग स्कीम, जिसमें 5 एकड़ भूमि पर लाइसेंस प्रदान किया जाता है। कॉलोनी काटने की जरूरी अनुमति प्राप्त करें, ताकि शहर वासियों को सस्ता मकान उपलब्ध हो सके। यदि कोई व्यक्ति अवैध कालोनी में प्लाट आदि खरीदता है तो उसके विरूद्ध भी कार्यालय द्वारा कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी, जिसमें 50 हजार रुपए तक का जुर्माना व तीन साल की सजा प्रावधान है। विभाग द्वारा जुलाई माह में अवैध कलोनाईजेशन के विरूद्घ तोड़-फोड़ कार्यक्रम तैयार किया जा रहा है।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

हरियाणा पंचायत चुनाव : अनाप शनाप खर्चे व उनकी पूर्ति करने के लिए डगर आसान नहीं ! 

Sarvekash Aggarwal

कैथल जिले के 20 गाँवों में 18 करोड़ 41 लाख 71 हजार में होंगे  282 विकास कार्य 

admin

जिम्मेदारियों से भाग रही है खट्टर सरकार : बलराज कुंडू

admin

Leave a Comment

URL