Kaithal प्रशासन जरूरी काम के लिए इजाजत दे या ना दे भैंस लाने वालों को जरूर दे देता है ?

Kaithal administration gives permission for important work or does it not give those who bring buffalo?
कैथल प्रशासन जरूरी काम के लिए इजाजत दे या ना दे भैंस लाने वालों को जरूर दे देता है ?
लोकडाउन में परमिशन देने में प्रशासन दिखा लापरवाह
रेड जोन में भैंसें छोडऩे के लिए दी जा रही परमीशन, परमिशन सोशल मीडिया पर वायरल
कोरोना महामारी के चलते रेड जोन घोषित किया गया है फरीदाबाद
Administration shows negligence in giving permission in Lokdown
Permission given to release buffalo in red zone, permissions are viral on social media
Faridabad has been declared Red Zone due to Corona epidemic
Kalayat(अटल हिंद/तरसेम सिंह)
किसी व्यक्ति को जरूरी काम के लिए भी परमीशन नहीं मिल पा रही थी जबकि कुछ लोगों को केवल भैंस लाने वालों को के लिए 3 से 8 दिन की दी गई परमीशन सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।
सोशल मीडिया पर वायरल भैंसों के लिए परमीशन नगर व क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है। पूर्व सैनिक कृष्ण राणा ने बताया कि लोकडाउन के दौरान हमारे तीन व पांच वर्ष के दोहते घर आए हुए थे। दोहतों को मेरे बेटी के ससुराल छोडक़र आने के लिए कई बार प्रशासन से परमिशन मांगी गई। लेकिन उन्हें प्रशासन की तरफ से परमिशन नहीं दी गई।
नगर निवासी संजीव कुमार, तेजपाल, राजेश कुमार, सुनील, शमशेर सिंह, रवि व दूसरे लोगों ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से वे अपने परिवार के बाहर गए लोगों को घर लेकर आने व अन्य जरूरी कार्यों के लिए उपमंडल कार्यालय में परमीशन के लिए गुहार लगा रहे हैं। कुछ लोगों का कहना है कि हो न हो कुछ लोग इस तरह की परमीशन तस्करी केे लिए भी कर सकते हैं।
लेकिन उन्हें परमिशन नहीं दी गई जबकि उपमंडल के ही कुछ लोगों को केवल भैंस व अन्य पशु लाने व ले जाने के लिए 3 दिन से लेकर 8 दिनों तक की परमीशन दी जा रही है जो जांच का विषय है।
फरीदाबाद शहर जाने के लिए ही क्यों दी जा रही परमीशन:
नगर के लोगों का कहना है कि उपमंडल कार्यालय द्वारा पशु लाने के लिए व ले जाने के लिए केवल फरीदाबाद शहर की परमिशन दी गई है। जबकि वहां पर वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण के दर्जनों हॉटस्पॉट बने हुए हैं। फिर भी वहां पर जाने के लिए प्रशासन द्वारा उपमंडल के कई लोगों को 3 से 8 दिन तक पशु लाने व ले जाने की परमीशन दी जा रही है जो जांच का विषय है। उन्होंने सरकार से उक्त मामले की दी गई परमीशन की जांच की मांग की है।
कैंसिल कर दी गई हैं सभी परमीशन:
एसडीएम विवेक चौधरी ने बताया कि एनीमल हेसबैंडरी के डिप्टी डारेक्टर की सिफारिश पर मेरी अनुपस्थिति में तहसलीदार द्वारा परमीशन दी गई थी। फरीदाबाद बोर्डर सील होने के बाद सभी परमीशन को कैंसिल कर दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *