Atal hind
Uncategorized

kalayat-बिजली कर्मचारी पर अंतरिम जांच में करीब 54 लाख रुपए का गबन के आरोप, पुलिस में दी शिकायत

kalayat-बिजली कर्मचारी पर अंतरिम जांच में करीब 54 लाख रुपए का गबन के आरोप, पुलिस में दी शिकायत
पूर्व में कैशियर का कार्य संभाल रहे एएलएमके खिलाफ एसडीओ ने करवाया था मामला दर्ज
वर्ष 2018 में एएलएम पर लगभग साढ़े 4 लाख रूपए गबन करने का था आरोप
अटल हिंद/ तरसेम सिंह
kalayat-बिजली निगम कार्यालय में गबन के आरोप लगने से निलंबित किए गए कर्मचारी पर बिजली बिल भरने के नाम पर उपभोक्ताओं के लाखों रुपए का गबन करने की उच्च अधिकारियों द्वारा अंतरिम जांच में साढ़े चार लाख रूपए से बढक़र 53 लाख 86 हजार 500 रुपए का गबन करना बताया गया है। बिजली निगम के एसडीओ भारत भूषण काला ने पुलिस का दी शिकायत में बताया कि सितंबर 2018 में कैशियर का कार्य संभाल रहे एएलएम के पद पर तैनात कर्मचारी पर बिजली बिल भरने के नाम पर उपभोक्ताओं के लाखों रुपए का गबन करने का मामला दर्ज करवाया गया था। जिसकी जांच स्थानीय विभागीय अधिकारियों द्वारा की गई थी। नगर व आस पास के गांवों के कुछ उपभोक्ताओं ने बताया था कि उन्होंने बिजली बिल के रुपए तो जमा करवा दिए लेकिन उनके बिल के विभागीय कोष में रुपए जमा नहीं किए गए। उन्होंने बताया था कि उपभोक्ताओं की शिकायत अनुसार अपै्रल व मई माह के बिलों की अपने स्तर के साथ साथ सीए धर्मपाल चुघ व हैड कैशियर द्वारा जांच की गई तो करीब 4 लाख 50 हजार 601 रुपए की गड़बड़ पाई गई थी। उन्होंने बताया कि जांच में पाया गया कि उक्त एएलएम उपभोक्ताओं द्वारा जमा करवाए गए रुपयों की कंप्यूटर से एंट्री कैंसिल कर देता था। उन्होंने बताया कि हैड आफिस में आडिट के लिए लेटर भेज दिया गया था और गबन का आंकड़ा बढऩे का आशंका जताई गई थी। अब उच्च अधिकारियों द्वारा करवाए आडिट के अनुसार पत्र क्रमांक संख्या 2260 के अनुसार कार्यालय में कार्यरत रहे कैशियर के पद पर गोबिंद के खिलाफ 53 लाख 86 हजार 500 रुपए गबन करना पाया गया है। जिसकी लिखित शिकायत स्थानीय पुलिस थाना में दी गई है। उन्होंने आरोपी को गिरफ्तार कर जल्द से जल्द पैसे की रिकवरी करने मांग की है।
आरोप निराधार: गोविंद
बिजली विभाग से निलंबित किए गए गोविंद ने आरोपों को निराधार बताते हुए कहा कि उसके खिलाफ साजिश रची गई है। उन्हें नहीं पता कि गबन कैसे हुआ। मेरे ऊपर लगाए सभी आरोप निराधार है।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Leave a Comment

URL