Lockdown 3.0: कुछ शर्तों के साथ खुलेंगी शराब की दुकानें, जानिए और क्या खुला और बंद रहेगा

लॉकडाउन 3.0: कुछ शर्तों के साथ खुलेंगी शराब की दुकानें, जानिए और क्या खुला और बंद रहेगा

 

New Delhi – (atal hind):

Lockdown 3.0: Liquor shops to open with certain conditions, know what will be open and closed

देश में कोरोनावायरस के संक्रमण का खतरा टला नहीं है। इसलिए मोदी सरकार ने लॉकडाउन को चार मई से 17 मई तक के लिए बढ़ा दिया है। किंतु इस बार के लॉकडाउन में अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए कई उद्योग-धंधों को खोलने के लिए सशर्त अनुमति दी गई है। इनमें कई गतिविधियों के साथ शराब की दुकानें भी शामिल हैं।

पीएम नरेंद मोदी द्वारा घोषित पहले लॉकडाउन की अवधि 25 मार्च से 14 अप्रैल तक, दूसरे लॉकडाउन की अवधि 15 अप्रेल से तीन मई तक है।

गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को तीन मई को समाप्त हो रहे लॉकडाउन को दो हफ्ते के लिए बढ़ाने का ऐलान किया है।

इस बार के लॉकडाउन से पहले देश भर को रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोनों में बांटा गया।

इन तीनों जोनों के हिसाब से कुछ रियायतें भी दी गई हैं।

इसमें पिछली लॉकडाउन अवधि के मुकाबले कई प्रकार की रियायतें दी गई है।

शराब की बिक्री
ग्रीन जोन में शराब की बिक्री हो सकेगी।
शराब की बिक्री मॉल्स और बाजारों में नहीं हो सकेगी।
स्टैंड एलोन दुकानों पर शराब बिक सकेगी।
सोशल डिस्टैंस का पालन करना होगा।
ठेके पर एक साथ पांच ग्राहक न पहुंचें।
लोगों की दूरी कम से कम छह फुट हो।

 

<

>

 

सभी तरह की दुकानें
रेड जोन के कैंटोनमेंट जोन को छोड़कर बाकी क्षेत्रों में सभी तरह की दुकानें खुली रहेंगी।
दुकान खुलने का समय सुबह 7 बजे से शाम के 7 बजे तक होगा।
ग्रीन जोन में सभी आर्थिक गतिविधियां शुरू हो सकेंगी।
सोशल डिस्टैंसिंग का पालन करना होगा।
कार्यस्थल को समय-समय पर सैनेटाइज किया जाएगा।
रेड जोन
जिन जिलों में कोरोना का कोई भी केस न हो या फिर कोरोना का आखिरी केस आए 21 दिन हो गए हों, उस जिले को ग्रीन जोन कहा जाता है।
रेड जोन में एडवाइजरी के मुताबिक कई गतिविधियां शुरू हो सकेंगी।
ग्रामीण क्षेत्रों में मनरेगा कार्य, खाद्य प्रसंस्करण इकाइयां और ईंट-भट्टे सहित औद्योगिक और निर्माण गतिविधियों को अनुमति दी गई है।
हवाई सेवा, रेल सेवा, मेट्रो और सड़क मार्ग से एक राज्य से दूसरे राज्य में प्रवेश 17 मई तक बंद रहेंगी।
ग्रीन जोन में शर्तों के साथ बसें चलेंगी।
बस में क्षमता के मुकाबले 70 प्रतिशत ही सवारियां बिठाई जाएंगी।
ऑरेंज जोन में कैब चल सकेंगी और टैक्सी ड्राइवर के साथ एक यात्री सफर कर सकेगा।
रेड जोन में ऑटो, टैक्सी, रिक्शा और बसों पर रोक जारी रहेगी।
मॉल, सिनेमा मॉल, जिम, क्लब, होटल, रेस्टोरेंट, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्सए स्कूल, कॉलेज, और शिक्षण संस्थान हर जोन में पूरी तरह बंद रहेंगे।
65 साल से ज्यादा उम्र के लोगों, गर्भवती महिलाओं और 10 साल से कम उम्र के बच्चों के बाहर निकलने पर अभी भी रोक है।
रेड जोन में नाई की दुकानें, सैलून आदि बंद रहेंगे।
रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन में दवा की दुकानें खुली रहेंगी।
इन दुकानों को सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा।
कंटेनमेंट जोन में दवा की दुकानें बंद रहेंगी।
रेड जोन में साईकिल रिक्शा, ऑटोरिक्शा, टैक्सी और कैब के संचालन पर प्रतिबंध रहेगा।
रियायतें
रेड जोन में कृषि कार्य, पशुपालन, मछली पालन के लिए भी अनुमति दी गई है।
रेड जोन घोषित शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में प्लांटेशन का कार्य, सभी प्रकार की स्वास्थ्य सेवाएं, मरीजों को एयर एंबुलेंस से ले जाने की भी छूट दी गई है।
रेड जोन में फाइनेंशियल सेक्टर खुले रहेंगे।
इनमें बैंक, गैर बैंकिंग इकाईयां, इंश्योरेंस और कैपिटल मार्केट एक्टिविटी और क्रेडिट कॉपरेटिव सोसाइटी शामिल हैं।
आंगनवाड़ी, बिजली, पानी, सेनिटेशन, वेस्ट मैनेजमेंट, टेलिकम्यूनिकेशन और इंटरनेट कोरियर और पोस्टल सर्विस भी जारी रहेंगी।
रेड जोन में अधिकतर कॉरमर्शियल और प्राइवेट स्टेब्लिसमेंट को छूट दी गई है।
इसमें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, आईटी और डॉटा और कॉल सेंटर्स, कोल्ड स्टोरेज और वेयरहाउस, प्राइवेट सिक्योरिटी और जो स्वयं बिजनेस चलाते हैं, उन्हें छूट दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *