Wednesday, June 26, 2019
 
BREAKING NEWS
1500 रूपये लेकर MLA के फर्जी लैटर पैड पर आधार कार्ड बनाने वाले 6 गिरफ्तारतरावड़ी प्रशासन नही गंभीर, समाजसेवियों के भरोसे गौ-रक्षाजरूरत के हिसाब से पानी का करें प्रयोग : सूर्या सैनीजनता ने भाजपा को फिर से प्रदेश मे सत्ता सौंपने का बनाया मन : पवन सैनीलुप्त हुए "तरावड़ी गेट' और 'बाजारी गेट' कुछ हिस्सा बचने पर ऐतिहासिक करनाली गेट का होगा पुन: निर्माणइंडिया टीम में तेज गेंदबाजी कर परचम लहराऐगा तरावड़ी का नवदीप सैणीनशा मुक्ति दिवस पर 26 जून को सैमिनार, बुद्धिजिवी वर्ग तथा सामाजिक संस्थाए करेंगी प्रतिभागी प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना लागू ,गरीब व्यक्ति को भी आर्थिक लाभ मिलेगा -डीसी दीपेंद्र को हरियाणा कांग्रेस प्रधान बनवाने के लिए बड़ी ताकतें हुई लामबंद,कांग्रेस के आधा दर्जन बड़े नेता कर रहे सामूहिक प्रयासनगर परिषद कैथल के सफाई कर्मचारियों ने सर्वसम्मति से अंगूरी देवी को चुना प्रधान

Sports

कैथल-बेटियों में नहीं है प्रतिभा की कमी लेकिन आर्थिक स्थिरिथा रही आड़े

May 04, 2018 05:17 PM
कृष्ण प्रजापति की रिपोर्ट

गोल्ड मेडल जीतकर समाज व प्रदेश का नाम रोशन कर रही हैं बेटियां

बेटियों में नहीं है प्रतिभा की कमी लेकिन आर्थिक स्थिति आ रही है आड़े

कई बार गोल्ड मेडल जीतकर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा चुकी है बेटियां

15 जून को इंटरनेशनल खेलने नेपाल जाएंगी पूनम और मनीषा प्रजापति

कैथल, 04 मई (कृष्ण प्रजापति): इसे हमारे देश की व्यवस्था की विडंबना समझिए या गलत प्रचलन कि जब व्यक्ति कुछ हासिल कर लेता है तो उसको सम्मानित करने वालों का तांता लग जाता है और उसको ढेर सारा चढ़ावा भी चढ़ता है लेकिन प्रतिभावान व्यक्ति को तंगी के दिनों में अगर थोड़ा सा भी सहयोग मिल जाए तो वह मैडलों की झड़ी लगा सकता है। जी हां हमारे समाज में ऐसी बेटियां भी हैं जिनमें प्रतिभा की कोई कमी नहीं है और यूं कहिए कि वे किसी भी क्षेत्र में आज लड़कों से पीछे नहीं है लेकिन आर्थिक स्थिति कमजोर होने के चलते आगे बढ़ने के लिए उन्हें कई प्रकार की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। कुछ ऐसी ही कहानी है प्रजापति समाज की आन बान और शान मनीषा खोवाल व पूनम खोवाल पुत्री गुलाब खोवाल प्रजापति निवासी बहादुरगढ़ हरियाणा की, जो राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई बार स्वर्ण, रजत व कांस्य पदक जीतकर देश और प्रदेश का नाम रोशन कर चुकी है। इसके साथ ही वे पढ़ाई के मामले में भी हायर एजुकेशन प्राप्त कर रही है। इन दोनों बेटियों के माता-पिता कैंसर रोग से पीड़ित हैं और पिताजी मार्बल का कार्य करते थे लेकिन जब उन्हें डॉक्टर द्वारा कैंसर पीड़ित बता दिया गया व ईलाज के चलते काम छूटता गया तो वे काम करने में अब असमर्थ होने लगे और बीमारी के कारण उनका वह कार्य छूट गया।

(MOREPIC1)   

आजकल घर का गुजारा करने के लिए वे फोटोस्टेट का कार्य करते हैं और बेटियों को पढ़ा भी रहे हैं व खेलों में आगे भी भेज रहे हैं। आर्थिक स्थिति कमजोर होने के चलते उन्होंने हार नहीं मानी और बेटियों को खेलने के लिए विदेशों में भी भेजने की हिम्मत कर रहे हैं। हालांकि उनके हौसले को सभी सलाम कर रहे हैं लेकिन गुलाब सिंह प्रजापति ने बताया कि वे बेटियां और बेटों में कोई फर्क महसूस नहीं करते और उनकी पांच बेटियां हैं जो पढ़ाई में भी अव्वल है और खेलों के मामले में भी काफी प्रतिभावान है और पूनम जहां रेस लगाने में राष्ट्रीय स्तर पर रजत पदक प्राप्त कर चुकी हैं तो वहीं मनीषा भी कुश्ती के 65 किलोग्राम भार वर्ग में स्वर्ण पदक जीत चुकी हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश और जिला स्तर पर तो मेरी बेटियों ने मेडल के ढेर लगा रखे हैं और नेशनल और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी मैडलों की कोई कमी नहीं है लेकिन वे इन बेटियों की पढ़ाई और खेलों के दौरान होने वाले खर्च को वहन करने में असमर्थ है।

(MOREPIC2)   

बॉक्स--प्रदेश की सामाजिक संस्थाओं व समाज सेवकों से अपील बेटियों का साथ दो ताकि आगे बढें बेटियां-पढ़ें बेटियां


पूनम और मनीषा के पिता गुलाब प्रजापति ने कहा कि वैसे तो उन्होंने कभी आर्थिक स्थिति की कमजोरी की परवाह नहीं की लेकिन अब बेटियां बी.ए. और एम.ए. की पढ़ाई करने के साथ-साथ खेलों में भी काफी अच्छा प्रदर्शन कर रही है लेकिन माता-पिता दोनों कैंसर रोग से पीड़ित होने के कारण और 5 बेटियां होने के कारण घर का खर्च चलाने में बहुत मुश्किल हो रही है इसलिए उन्होंने बेटियों को पढ़ाने व खेल में आगे ले जाने के खर्चे में असमर्थता जताते हुए किसी सामाजिक संगठन, एनजीओ अथवा समाज सेवकों से सहयोग की अपील की है। ताकि बेटियों की शिक्षा व खेल प्रैक्टिस प्रभावित न हो।

(MOREPIC3)   

बॉक्स -- दोनों बेटियां कई बार जीत चुकी है गोल्ड मेडल


प्रजापति समाज की बेटियां पूनम और मनीषा गत 28 से 30 अप्रैल को जालंधर के डीएमएस स्कूल में हुए दूसरे स्पोर्ट्स एंड कल्चरल डेवलपमेंट फाउंडेशन राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिता में स्वर्ण और रजत पदक जीत चुकी है और विजेता खिलाड़ियों का उनके यहां पहुंचने पर स्वागत भी किया गया था। मनीषा ने 65 किलो भार वर्ग में कुश्ती में स्वर्ण पदक जीता है तो वहीं पूनम ने रेस प्रतियोगिता में रजत पदक जीतकर समाज, देश, प्रदेश व बहादुरगढ़ का नाम रोशन किया है। पूनम व मनीषा प्रजापति ने बताया कि वे आगे खेलना चाहती हैं और आगामी 15 जून को इंटरनेशनल गेम्स नेपाल में आयोजित होंगे वे उन इंटरनेशनल गेम्स में खेलने नेपाल जाएंगी।

Have something to say? Post your comment

More in Sports

इंडिया टीम में तेज गेंदबाजी कर परचम लहराऐगा तरावड़ी का नवदीप सैणी

आइडल आइकॉन बन चुके हैं कबड्डी खिलाड़ी फौजी अमरजीत गुहणा

हॉकी के मैदान में पिता ग्राऊंड मेन, वहीं खेल बेटी ने जीते 10 लाख

आमिर सोहेल को मंत्री विपुल गोयल व रहीश खान करेंगे सम्मानित

दूध बेचकर बनी नैशनल खिलाड़ी, संघर्षों की कहानी आशा सैनी की जुबानी

बबीता फौगाट ने चुना अपना जीवन साथी, ट्वीटर पर दी जानकारी

बबीता फौगाट की तबीयत बिगड़ी

कब्बडी की पुणे प्रारइड टीम के कप्तान अमरजीत फौजी ने किया शानदार खेल का प्रदर्शन, लगातार पांच मैचों में हासिल की विजयश्री

अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल खेल में सरस्वती स्कूल पबनावा के विद्यार्थी चेतन का हुआ चयन

तोशाम के गांव बुशान में बाबा बीरबल नाथ के मेले व विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन