Sunday, August 18, 2019
 
BREAKING NEWS
इनैलो को मिल रहा है छत्तीस बिरादरी के लोगों का भरपूर समर्थन : सपना बडशामीशहीद की पत्नी संग जोड़ा भाई-बहन का नाता 18 अगस्त को होने वाली परिवर्तन रैली में लाडवा हल्के से जांएगें हजारों कार्यकत्र्ता : मेवा ङ्क्षसह बाबैन में ऐतिहासिक होगा जन आर्शीवाद यात्रा का स्वागत : रीना देवीखिलाडिय़ों के लिए स्टेडियम व बेटियों के लिए कॉलेज बनवाना होगा प्राथमिकता : गर्गफंस गए भूपेंद्र हुड्डा,कांग्रेस छोड़ने के अलावा नहीं बचा कोई विकल्परॉकी मित्तल ने ग्योंग गांव में शिक्षा एवं खेल क्षेत्रों के विद्यार्थियों को सम्मानित कियाट्रक डाइवर व क्लीनर को बंधक बना ट्रक लेकर फरार, केस दर्जपंजाबी वर्ग की जनसँख्या के अनुसार राजनैतिक पार्टी दे टिकटें: अशोक मेहता। वीर सम्मान मंच कैथल के द्वारा अटारी बॉर्डर पर मनाया गया रक्षाबंधन उत्सव:-

Business

सरकार की गलत नीतियों के कारण राइस मिले नुकसान में चल रही है - बजरंग गर्ग

November 21, 2018 04:36 PM
अटल हिन्द ब्यूरो

सरकार की गलत नीतियों के कारण राइस मिले नुकसान में चल रही है - बजरंग गर्ग
हिसार - अखिल भारतीय व्यापार मंडल के राष्ट्रीय महासचिव व हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने व्यापारी व किसानों से बातचीत करने के उपरांत कहा कि सरकार ने सरकारी जीरी की खरीद बंद करके किसानों को नाजायज तंग कर रही ह, ै जो उचित नहीं है। जबकि केंद्र सरकार के आदेशानुसार जीरी की खरीद 15 दिसंबर तक होनी चाहिए। मगर हरियाणा सरकार ने 15 नवंबर सेे जीरी की खरीद बंद कर दी है। राष्ट्रीय महासचिव बजरंग गर्ग ने कहा कि एक तरफ मुख्यमंत्री व कृषि मंत्री कह रहे हैं कि किसान की फसल का एक-एक दाना खरीदा जाएगा। मगर किसान अपनी जीरी को बेचने के लिए मंडियों में धक्के खा रहे हैं। राष्ट्रीय महासचिव बजरंग गर्ग ने केंद्र व प्रदेश सरकार से मांग की है कि वह जीरी की खरीद 15 दिसंबर तक जारी रखें। ताकि जिस किसान की फसल लेट है वह किसान अपनी जीरी को सरकारी रेट पर बेच सके। श्री गर्ग ने कहा कि एफसीआई विभाग के सरकारी अधिकारी अपनी जेबों को गरम करने के लिए राइस मिलरों के चावल की डिलीवरी समय पर ना लेने के कारण राइस मिलरों को बड़ा भारी नुकसान उठाना पड़ा है। सरकार को एफसीआई विभाग के अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही करते हुए। राइस मिलों की चावल की डिलीवरी समय पर लेने में किसी प्रकार की दिक्कत ना करने के आदेश देने चाहिए। राष्ट्रीय महासचिव बजरंग गर्ग ने कहा कि सरकार की गलत नीतियों के कारण राइस मिले नुकसान में चल रही है। जबकि 100 किलो जीरी में लगभग 62 किलो चावल निकलता है। मगर केंद्र सरकार राइस मिलरांे से 67 किलो चावल ले रही है और 100 किलो जीरी पिनाई पर खर्चा लगभग 70 रूपये आता है मगर सरकार जीरी पिनाई पर 10 रूपये दे रही है। जिसके कारण राइस मिले नुकसान में चल रही है। श्री गर्ग ने कहा कि सरकार को 100 किलो जीरी पर 62 किलो चावल लेना चाहिए और 100 किलो जीरी पिनाई पर सरकार को राइस मिलरांे को 100 रूपये क्विंटल के हिसाब से देना चाहिए। ताकि बर्बाद हो रहा राइस उद्योग को बचाया जा सके।

Have something to say? Post your comment

More in Business

मुम्बई में व्यापार, रोजगार और इलाज के लिए नहीं होगी परेशानी-कमल नाथ

कैथल के आढ़ती मुख्यमंत्री को देंगे मांगपत्र ,स्थानीय भाजपाई नेता हुए सक्रिय बुलाई मीटिंग

ट्रेड टावर दुकानदारों के मसीहा बने मनीष सिंगला लक्ष्य हमारा मनोहर दोबारा को लेकर सिरसा विधानसभा का भ्रमण करेंगे मनीष सिंगला

72 घंटे में पैमेंट के दावे, लेकिन 40 दिन बाद भी आढ़तियों के 7 करोड़ रुपए बकाया

फॉम फैक्ट्ररी में लगी आग

विपुल गोयल को फोन पर दी जीएसटी फर्जीवाड़े की जानकारी,मामले में हरियाणा चैंबर ऑफ कॉमर्स आगे आया

कुंडली में जूते बनाने वाली फैक्ट्री में लगी भीषण आग

19 फर्जी कंपनियां बनाकर जीएसटी में फर्जीवाड़ा दो हजार करोड़ तक पहुंचा

प्रदेशों के उद्योग मत्रियों की दिल्ली में बैठक। , विपुल गोयल ने हरियाणा का प्रिनिधित्व किया

कैथल के आढ़ती लाइसेंस रिन्यू भी करवायेंगे और आगे के लिये अभी कोर्ट में भी जायेंगे-प्रधान