Wednesday, June 19, 2019
 
BREAKING NEWS
नेहरू युवा केंद्र से जुड़कर युवा नशों और अन्य बुराइयों से बच सकते हैं : अनामिकासेक्स रैकेट, गिड़गिड़ाने लगी पकड़ी गई लड़की, बोली- छोड़ दीजिये, 2 दिन बाद शादी हैजेपी नड्डा को कार्यकारी अध्यक्ष बनाए जाने से उनके अनुभवों से पार्टी प्रदेश मे भी तोडेगी रिकार्ड: सतीश राणाभारतीय सेना के जवान पर कातिलाना हमला हमले में जवान बूरी तरह घायल् अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को महाराजा सूरजमल जाट स्टेडियम में योग शिविर आयोजित किया जाएगा।मनोहर सरकार ने जनहित की योजनाओं और सुशासन की बदोलत जीता जनता का दिल : डॉ. गणेश दत्तश्री अमरनाथ सेवा मंडल की शाखा पूंडरी द्वारा 24वें भंडारे की सामग्री रवानापृथ्वी एक देश है और हम सभी इसके नागरिक हैंधड़ाधड़ बड़े-बड़े मामले सुलझाने वाले इंस्पेक्टर नवीन पाराशर की आईजी हनीफ कुरेशी ने थपथपाई पीठ शव नग्नावस्था में मिला,बेरहमी से सिर में ईंट माकर हत्या

Crime

करनाल में व्यापारी को हनी टै्प में फंसा कर एक करोड़ रूपये मांगने वाले गिरोह के सदस्य

December 07, 2018 06:34 PM
प्रवीण कौशिक
करनाल में  व्यापारी को हनी टै्प में फंसा कर एक करोड़ रूपये मांगने वाले गिरोह के सदस्य 
 करनाल, (अटल हिन्द ब्यूरो )
प्रवीण  कौशिक                     
 करनाल - 06.12.18 को प्रबंधक थाना सिविल लाईन करनाल निरीक्षक मोहन लाल को करनाल के दो व्यापारीयों ने षिकायत दी कि कुछ व्यक्ति एक महिला के साथ मिलकर उन्हें ब्लैकमेल कर रहे हैं। उन्हें धमकी दे रहे हैं कि यदि उसने एक करोड़ रूपये नही दिए तो वे उस महिला द्वारा उसके खिलाफ बलात्कार की धाराओं में मामला दर्जकरवा उसे पुलिस के हवाले कर देगें। जिससे घबराकर व्यापारीयों ने उन्हें पैसे देने के लिए हां कर दी और 20 लाख रूपये में मामला निपटाने की बात हो गई। व्यापारीयों ने बताया कि दिनांक 28.11.18 को वे लोग अपनी महिला साथी गीता वासी हिसार के साथ आए और व्यापारीयों से 20 लाख रूपये ले गए। इस पर भी महिला व उसके साथीयों की संतुष्टी नहीं हुई और उन्होंने फिर से व्यापारीयों से पैसे मांगने शुरू कर दिए व बार-बार उन पर दबाव बनाने लगे। जिस पर व्यापारीयों द्वारा निरीक्षक मोहन लाल को अपनी सारी कहानी बताई गई व पुलिस की सहायता मांगी। 
     प्रबंधक थाना सिविल लाईन निरीक्षक मोहन लाल द्वारा उन्हें भरोसा दिलाया गया कि अब उनका खेल ज्यादा दिन नही चलेगा और उन्हें बहुत जल्द सलाखों के पिछे पहुंचाया जाएगा। उन्होंने उप-निरीक्षक राजेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में एक टीम का गठन किया और दोनों व्यापारीयों के साथ मिलकर आरोपीयों को पकड़ने के लिए एक योजना बनाई, जिसके आधार पर महिला व उसके साथीयों को पैसे देने की बात को मंजुरी दे दी गई और उन्हें पैसे लेने के लिए करनाल बुलाया गया। एक बार फिर से व्यापारीयों से मोटी रकम लेने के चक्कर में वे लोग दौड़े चले आए। जहां पर दिनांक 06.12.18 को कल्पना चावला मैडिकल कालेज करनाल में व्यापारीयों से 13 लाख रूपये लेकर निकलते समय राजेन्द्र सिंह व उनकी टीम द्वारा आरोपी..... सत्यवान पुत्र रणपत वासी राजथल और मनोज पुत्र पृथ्वी सिंह वासी राजथल जिला हिसार को गिरफतार कर लिया गया। पुलिस टीम द्वारा आरोपीयों के कब्जे से पिड़ितों से लिए गए 13 लाख रूपये व एक दौनाली बंदूक और 12 गोलियां बरामद की गई। 
(MOREPIC1) 
    आज इस बारे में जानकारी देते हुए निरीक्षक मोहन लाल ने बताया कि आरोपी सत्यवान ने साल 2005 से साल 2010 तक करनाल के एक व्यापारी के पास ड्ाईवर की नौकरी की थी। जिस दौरान उसे व्यापारी के कारोबार व उसकी संपति के बारे में काफी कुछ जानकारी हो गई थी। साल 2010 में उसने अपनी गाड़ी खरीद ली व इस हिसार में टैक्सी के रूप में चलाने लगा, इसी दौरान उसकी मुलाकात हिसार की रहने वाली एक महिला गीता से हुई। गीता उसकी टैक्सी किराये पर लेकर कई बार ईधर-उधर जाती थी, इसी दौराने उसे गीता के बारे में पता चला कि वह अच्छे चरित्र की महिला नहीं है, तो उसने गीता को कहा कि क्यों न एक बड़ा मुर्गा फसा लें और गीता इसके लिए तैयार हो गई। इसके बाद उसने गीता को करनाल के व्यापारी का नंबर दे दिया और गीता ने फोन के माध्यम से व्यापारी को अपने प्रेम जाल में फांस लिया। व्यापारी ने गीता को मिलने के लिए दिल्ली के होटल में बुलाया, तो वह सत्यवान की टैक्सी में चली आई, ईधर से व्यापारी भी अपने एक अन्य साथी व्यापारी के साथ वहां पहुंच गया। जहां पर उन्होंने गीता की मर्जी के साथ उसके साथ संबंध बनाए और अगली सुबह करनाल वापिस चले आए। 
(MOREPIC2) 
    उन्होंने बताया कि उसके बाद से ही सत्यवान व्यापारीयों को लगातार फोन करने लगा और कहने लगा कि उनके बारे में गीता के घर वालों को पता चल गया है। अब उसके घर वाले उन्हें नही छोड़ेगें और उनके खिलाफ बलात्कार का मुकदमा दर्ज करवाएगें। जिससे व्यापारी घबरा गए और उसे मानने के लिए कहने लगे, जिसके लिए उन्होंने व्यापारीयों से एक करोड़ रूपये की मांग की। दिनांक 28.11.18 को आरोपीयों ने व्यापारीयों से 20 लाख रूपये ले भी लिए और अभी ओर पैसे ऐंठने की फिराक में थे, लेकिन पुलिस ने उनके मनसुबों पर पानी फेर दिया और दूसरी बार में व्यापारीयों से लिए गए 13 लाख रूपये के साथ उन्हें धर दबोचा।  
      पुलिस टीम द्वारा आरोपीयों के खिलाफ थाना सिविल लाईन में मुकदमा नं0-1014/06.12.18  धारा 384, 389, 506, 120-बी व धारा शस्त्र अधिनियम के तहत दर्ज किया गया। आज दोनों आरोपीयों को माननीय अदालत के सामने पेषकर दो दिन का पुलिस रिमांड हासिल किया गया है और आरोपीयों से उनकी महिला साथी गीता व उसके नाना के संबंध में पुछताछ की जाएगी और पहली बार में लिए गए 20 लाख रूपये बरामद किए जाएगें।   

Have something to say? Post your comment

More in Crime

शव नग्नावस्था में मिला,बेरहमी से सिर में ईंट माकर हत्या

नैन ट्रैवलस एजेंसी कैथल पर छापामारी क्रिकेट मैच पर सट्टा बुकिंग कर रहे 9 आरोपी काबु

पिस्तौल की नोक पर अपरहण करने के मामले में पुलिस द्वारा 3 आरोपी गिरफ्तार

व्यापारी के नाबालिग बेटे ने कार से नाना-नाती कुचले

पत्नी पर जानलेवा हमला करने वाले राजन अदलक्खा पर हत्या के प्रयास का मामला दर्ज

चोर गिरोह के 4 सदस्यों ने पुलिस रिमांड दौरान चोरी करना कबूला

नौकर की हत्या, ढाबा मालिक गिरफ्तार

दो रुपये के सिक्के से लूट ली एक्सप्रेस, जींद रेलवे लाइन लुटेरों का खौफनाक सच

तरावड़ी शहर में सटोरियों का बाजार, पुलिस बेखबर,पुलिस से लगाई सटोरियों पर शिंकजा कसने की गुहार

हरियाणा के किस पूर्व विधायक को मिली जान से मारने की धमकी