Thursday, June 27, 2019
 
BREAKING NEWS
सीएम साहब ! कैथल में रिटायर्ड अधिकारी और कर्मचारी दे रहे हैं भ्रष्टाचार को अंजाम : नरेंद्र सिंहतहसीलदार पर करोड़ों का प्लॉट 28 लाख में बेचने का आरोप, निगमायुक्त अनीता यादव ने एफआइआर दर्ज करने के लिए भेजा पत्र मामा थानेदार और भांजे की गुंडागर्दी, कोई विरोध करता है तो अपने गुट के 13-14 बदमाशों को बुलाकर पूरे परिवार को पिटवाता है कैलाश विजयवर्गीय के बदमाश विधायक बेटे को पुलिस ने किया गिरफ्तारबंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांगरोहतक में सीवरेज प्लांट की सफाई करने उतरे चार कर्मचारियों की मौतइनेलो के एकमात्र राज्यसभा सदस्य कश्यप ने भी थामा भाजपा का दामनएसपी और विधायक के बीच विवाद, थाना प्रभारी सस्पेंड, दो पुलिसकर्मी लाइन हाजिर, दो होमगार्ड बर्खास्तकांग्रेस को लग सकता है बड़ा झटका, भाजपा में शामिल हो सकते हैं पूर्व मंत्री एसी चौधरी ?आधार कार्ड जालसाजी मामंला -स्कैन कर रखे थे विधायक के हस्ताक्षर और लेटर हेड

Rajasthan

मुख्यमंत्री पद अब लगाने लगा राजस्थान के अमन को आग सचिन पायलट को सीएम बनाने के पक्ष में रोड जाम

December 14, 2018 05:34 PM
धनेश विधार्थी

मुख्यमंत्री पद अब लगाने लगा राजस्थान के अमन को आग
सचिन पायलट को सीएम बनाने के पक्ष में रोड जाम
राजस्थान रोडवेज की बस के शीशे तोड़े


धनेश विद्यार्थी, अलवर।


राजस्थान में कांग्रेस सरकार बनने से पहले मुख्यमंत्री पद को लेकर गुर्जर समुदाय के युवा, जोकि खुद सचिन पायलट के समर्थक बता रहे हैं, ठंड के इस मौसम में इनका खून जोश खा रहा है। हद तो तब हो गई जब गुस्साए युवाओं ने रोडवेज बस के शीशे तोड़ डाले और गांव घाटोली के पास युवाओं ने रोड जाम कर दिया।
उधर इस मामले पर राजस्थान के करौली जिले के एक युवक का कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और अशोक गहलोत की खैर नहीं और सरेआम दिन में आग लगाने के अलावा कई अन्य बातों वाला एक वीडियो राजस्थान में तेजी से वायरल हो रहा है। देर शाम आगरा-जयपुर रोड पर गुर्जर समाज के युवाओं का भारी गुस्सा दिखाई दिया। यहां वीरवार को दो जगहों पर युवाओं ने यातायात जाम कर दिया, जिससे यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। इस घटनाक्रम के पीछे, मुख्य वजह कांग्रेस हाईकमान की ओर से सचिन पायलट को मुख्यमंत्री घोषित नहीं करना, बताई जा रही है। बता दें कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने वीरवार को दिल्ली में उन राज्यों के मुख्यमंत्री पद के दावेदारों को बुलवाया था, क्योंकि पार्टी पर्यवेक्षकों से बातचीत के बाद कांग्रेस को मध्य प्रदेश व राजस्थान में मुख्यमंत्री और कांग्रेस विधायक दल के नेता के नाम पर अंतिम फैसला लेना था। मध्य प्रदेश में जहां कांग्रेस कमलनाथ को मुख्यमंत्री बनाने जा रही है जबकि पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट में से किसी एक को राजस्थान के अगले मुख्यमंत्री के तौर पर देखा रहा था। बुधवार को सारा दिन सीएम पद को लेकर नवनिर्वाचित विधायकों की राय जानने के लिए पार्टी के राजस्थान प्रभारी अविनाश पांडे और वेणु गोपाल ने बैठकें ली। वीरवार को मुख्यमंत्री पद के दोनों प्रबल दावेदारों अशोक गहलोत और सचिन पायलट को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली बुलाया था। अंतिम समाचार मिलने तक सचिन पायलट को मुख्यमंत्री नहीं बनाए जाने का गुर्जर समाज के युवाओं ने विरोध करना शुरू कर दिया है। ऐसे में राजस्थान के अगले मुख्यमंत्री और नई सरकार के लिए अभी से चुनौतियों का दौर शुरू हो गया है। अब देखना यह है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और नए मुख्यमंत्री इन चुनौतियों का किस प्रकार सामना कर पाते हैं।

Have something to say? Post your comment