Thursday, June 20, 2019
 
BREAKING NEWS
मिशन 2024 पर निकले रणदीप सुरजेवाला,किसान कांग्रेस के जरिए पूरे प्रदेश में समर्थकों को किया एडजैस्टहिमाचल में बस 500 फीट गहरी खाई में गिरी, 28 की मौत; 32 घायलफरीदाबाद की एक और बेटी तनीषा दत्ता ने किया देश का नाम रौशनयोग करता है मन की वृतियों को नियंत्रण में, होती है मानसिक, शारीरिक, अध्यात्मिक स्वास्थ्य की प्राप्ति : आरके सिंहभाजपा आईटी सेल के बनाए ग्रुपों में राजकुमार सैनी के खिलाफ अफवाह चलाने की चर्चाएं !करवाएंगे केस दर्ज : सैनीकैथल खाद्य एवं आपूर्ति विभाग को कैशलेस करने की योजना !कैथल की सरकार पर भ्रष्टाचार मामले में एफआईआर दर्ज होने के बाद भी कोई कार्रवाई न होना बना रहा हास्यास्पद स्थिति !नही चले अयुष्मान कार्ड, बेटे के ईलाज के लिए दर-दर भटक रहे परिजनमर रही थी गाये, न खाने के लिए प्रर्याप्त चारा न की जाती थी देखभाल डीसीआरयूएसटी में एम.एससी. कैमिस्ट्री बना हुआ है टॉप च्वाइस. कैमिस्ट्री में 261 व पीएच.डी में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में 85 ने किया आवेदन

Haryana

तरावड़ी में दस महीने से गायब ठेकेदार, उपभोक्ता परेशान, इंतजार में अधिकारी

January 11, 2019 09:13 PM
रोहित लामसर

तरावड़ी में दस महीने से गायब ठेकेदार, उपभोक्ता परेशान, इंतजार में अधिकारी
-रोजाना चक्कर काटने के बावजूद भी नही बदले जा रहे एल.ई.डी. ब्लब
-खरीदते समय लिया आधार कार्ड, नही दी रसीद, लेकिन अब रसीद की मांग कर रहे कर्मचारी
तरावड़ी, 11 जनवरी (रोहित लामसर)। सरकार द्वारा चलाई गई स्कीम के बाद उपभोक्ताओं द्वारा बिजली विभाग से खरीदे गए एल.ई.डी. बल्ब अब खराब होने के बाद कंपनी के ठेेकेदार बदल नही रहे हैं। करीब पांच महीने से बिजली विभाग से बल्ब बेचने वाला ठेकेदार गायब है। ऐसे में उपभोक्ताओं को भारी चूना लगा है। पांच महीने से ज्यादा समय होने के बावजूद भी बल्ब बेचने एवं बदलने वाला ठेकेदार बिजली विभाग कार्यालय में नही पहुंच रहा, जिससे उपभोक्ताओं को खासी परेशानी का समाना करना पड़ रहा है। बिजली विभाग में एल.ई.डी. बल्ब नही बदले जाने के कारण उपभोक्ताओं को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है और बिजली अधिकारी इस बारे में कुछ भी कहने को तैयार नही है। हैरान कर देने वाली बात यह है कि बिजली विभाग के किसी अधिकारी या कर्मचारी के पास बिजली विभाग में बिजली के एल.ई.डी. बल्ब बेचकर जाने वाले ठेकेदार का अता-पता नही है। जब भी उपभोक्ता उनके बारे में पूछते हैं तो उन्हें साफ तौर पर कुछ भी नही बताया जाता। पांच महीने से एल.ई.डी. बल्ब बेचने वाला ठेकेदार बिजली विभाग से गायब है और उपभोक्ता एल.ई.डी. बल्ब बदलवाने को लेकर चक्कर पर चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन उन्हें वहां पर कोई नही मिलता। इधर परेशानी का एक पहलू यह भी है कि जब स्कीम आने पर संबधित ठेकेदार द्वारा उपभोक्ताओं के आधार कार्ड लेकर धड़ल्ले से एल.ई.डी. बल्ब बेचे गए, लेकिन अब उपभोक्ताओं के एल.ई.डी. ब्लब खराब होने पर बदलने के नाम पर बिल मांगे जा रहे हैं, जबकि उपभोक्ताओं का कहना है कि एल.ई.डी. बल्ब खरीदते समय उन्हें कोई बिल नही दिया गया। उपभोक्ताओं ने मांग की है कि यह ठेकेदार पांच महीने से बिजली विभाग से गायब है। इसका अता-पता लेने के बाद उनके एल.ई.डी. बल्ब बदलवाए जाएं और ठेकेदार के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए।

बाक्स
पीछे से नही आ रहा स्टॉक : शर्मा
इस बारे में जब बिजली विभाग के एस.डी.ओ. मुनीष शर्मा से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि एल.ई.डी. बल्ब बेचने वाले ठेकेदार के पास पीछे से सप्लाई नही आ रही है। इसलिए वह बिजली विभाग कार्यालय में नही आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह जल्दी ही उन्हें बुलाकर पूछताछ करेंगे और जो भी होगा, उपभोक्ताओं को परेशानी नही होगी। उनके एल.ई.डी. बल्ब बदलवाए जाऐंगे।

Have something to say? Post your comment

More in Haryana

फरीदाबाद की एक और बेटी तनीषा दत्ता ने किया देश का नाम रौशन

योग करता है मन की वृतियों को नियंत्रण में, होती है मानसिक, शारीरिक, अध्यात्मिक स्वास्थ्य की प्राप्ति : आरके सिंह

भाजपा आईटी सेल के बनाए ग्रुपों में राजकुमार सैनी के खिलाफ अफवाह चलाने की चर्चाएं !करवाएंगे केस दर्ज : सैनी

कैथल खाद्य एवं आपूर्ति विभाग को कैशलेस करने की योजना !

कैथल की सरकार पर भ्रष्टाचार मामले में एफआईआर दर्ज होने के बाद भी कोई कार्रवाई न होना बना रहा हास्यास्पद स्थिति !

मर रही थी गाये, न खाने के लिए प्रर्याप्त चारा न की जाती थी देखभाल

डीसीआरयूएसटी में एम.एससी. कैमिस्ट्री बना हुआ है टॉप च्वाइस. कैमिस्ट्री में 261 व पीएच.डी में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में 85 ने किया आवेदन

हरियाणा में आई नौकरिया ,हरियाणा विधानसभा, उच्च न्यायालय और जिला न्यायालयों के लिए

मनोहर लाल खुद करते है सरल पोर्टल की निगरानी ,कोई अधिकारी सरल पोर्टल के प्रति लापरवाही करेगा तो उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही

धरोदी माईनर को भाखड़ा नहर से जोडऩे की मांग पर 11 गांवों का अनिश्चितकालीन धरना शुरू