Thursday, June 27, 2019
 
BREAKING NEWS
सीएम साहब ! कैथल में रिटायर्ड अधिकारी और कर्मचारी दे रहे हैं भ्रष्टाचार को अंजाम : नरेंद्र सिंहतहसीलदार पर करोड़ों का प्लॉट 28 लाख में बेचने का आरोप, निगमायुक्त अनीता यादव ने एफआइआर दर्ज करने के लिए भेजा पत्र मामा थानेदार और भांजे की गुंडागर्दी, कोई विरोध करता है तो अपने गुट के 13-14 बदमाशों को बुलाकर पूरे परिवार को पिटवाता है कैलाश विजयवर्गीय के बदमाश विधायक बेटे को पुलिस ने किया गिरफ्तारबंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांगरोहतक में सीवरेज प्लांट की सफाई करने उतरे चार कर्मचारियों की मौतइनेलो के एकमात्र राज्यसभा सदस्य कश्यप ने भी थामा भाजपा का दामनएसपी और विधायक के बीच विवाद, थाना प्रभारी सस्पेंड, दो पुलिसकर्मी लाइन हाजिर, दो होमगार्ड बर्खास्तकांग्रेस को लग सकता है बड़ा झटका, भाजपा में शामिल हो सकते हैं पूर्व मंत्री एसी चौधरी ?आधार कार्ड जालसाजी मामंला -स्कैन कर रखे थे विधायक के हस्ताक्षर और लेटर हेड

Haryana

स्वामी विवेकानंद ने दिए थे युवा के चरित्र निर्माण के लिए पांच सूत्र : कुलपति प्रो.अनायत

January 11, 2019 09:40 PM
रणबीर रोहिल्ला

स्वामी विवेकानंद ने दिए थे युवा के चरित्र निर्माण के लिए पांच सूत्र : कुलपति प्रो.अनायत
स्वामी विवकानंद थे भारतीय नवजागरण के अग्रदूत


रणबीर रोहिल्ला, सोनीपत।

दीनबंधु छोटूराम विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, मुरथल के कुलपति प्रो. राजेंद्र कुमार अनायत ने कहा कि स्वामी विवेकानंद जी ने युवा वर्ग को चरित्र निर्माण के 5 सूत्र दिए थे। जिनमें आत्मविश्वास, आत्मनिर्भरता, आत्मज्ञान, आत्मसंयम और आत्मत्याग शामिल हैं। युवा इन सूत्रों का पालन कर व्यक्तित्व तथा देश और समाज का पुनर्निर्माण कर सकता है।
कुलपति प्रो. अनायत विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि के तौर पर संबोधित कर रहे थे। प्रो. अनायत ने कहा कि स्वामी विवेकानंद महान चितंक, दार्शनिक, देशभक्त थे। वे युवाओं के के प्ररेणा स्रोत थे। स्वामी विवेकानंद भारतीय नवजागरण के अग्रदूत थे। स्वामी विवेकानंद ने अध्यात्म, वैश्विक मूल्यों, धर्म, चरित्र निर्माण शिक्षा एवं समाज को बहुत विस्तृत एवं गहरे आयामों से विश्लेषित किया है। स्वामी विवेकानंद के विचार भारत के ही नहीं, बल्कि विश्व के युवाओं के लिए उनके विचार प्रासंगिक एवं अनुकरणीय हैं। प्रो. अनायत ने कहा कि सुभाषचंद्र बोस ने स्वामी विवेकानंद के बारे में कहा था कि वे आधुनिक भारत के निर्माता हैं। गुरू रविंद्रनाथ ने कहा कथा कि यदि आप भारत को जानना चाहते हैं तो विवेकानंद को पढिए। युवाओं के प्ररेणा स्रोत स्वामी विवेकानंद ने युवाओं से आह्वान करते हुए कठोपनिषद का एक मंत्र कहा था -उत्तिष्ठत जाग्रत प्राप्य वरान्निबोधत। उठो, जागों और तब तक मत रूको, जब तक कि अपने लक्ष्य तक नहीं पहुंच जाओ। प्रो. अनायत ने कहा कि धर्म, विचार एवं आचरण है, जो मनुष्य के अंदर की पशुता को इंसानियत में और इंसानियत को देवत्व में बदलने की सामथ्र्य रखता है। उन्होंने सभी धर्मों का सार सत्य को बताया है एवं उसके आचरण की प्रेरणा दी है। विश्वविद्यालय के पूर्व रजिस्ट्रार प्रो. एस.के. गर्ग ने कहा कि स्वामी विवेकानंद युवाओं को देश की सबसे बहुमूल्य संपत्ति मानते थे। उन्होंने युवाओं को अनंत ऊर्जा का स्रोत बताया है। युवाओं की उन्नत ऊर्जा को सही दिशा प्रदान कर दी जाए तो राष्ट्र के विकास को नए आयाम मिल सकते हैं। इस अवसर पर रजिस्ट्रार प्रो. अनिल खुराना, प्रो. आर.के. सोनी, डा. दिनेश सिंह, प्रो. सुरेंद्र सिंह दहिया, प्रो. पवन राणा, डा. बिरेंद्र सिंह हुड्डा, डा. सुखदीप सिंह, डा. सुमन सांगवान, डा. पवन दहिया, डा. सुमन गुलिया, नेहा यादव, मेहर सिंह, कमल आदि उपस्थित थे।

Have something to say? Post your comment

More in Haryana

सीएम साहब ! कैथल में रिटायर्ड अधिकारी और कर्मचारी दे रहे हैं भ्रष्टाचार को अंजाम : नरेंद्र सिंह

मामा थानेदार और भांजे की गुंडागर्दी, कोई विरोध करता है तो अपने गुट के 13-14 बदमाशों को बुलाकर पूरे परिवार को पिटवाता है

रोहतक में सीवरेज प्लांट की सफाई करने उतरे चार कर्मचारियों की मौत

एसपी और विधायक के बीच विवाद, थाना प्रभारी सस्पेंड, दो पुलिसकर्मी लाइन हाजिर, दो होमगार्ड बर्खास्त

24 घंटे बीत जाने के बाद भी हत्यारोपियों की गिरफ्तारी ना होने से गुस्साए परिजनों ने लगाया जाम

लाजपत राय सिंगला को उपायुक्त प्रियंका सोनी ने सम्मानित किया

धार्मिक संस्थाओं से पुलिस प्रशासन की अपील ,नशे को खत्म करने में सहयोग करें

1500 रूपये लेकर MLA के फर्जी लैटर पैड पर आधार कार्ड बनाने वाले 6 गिरफ्तार

तरावड़ी प्रशासन नही गंभीर, समाजसेवियों के भरोसे गौ-रक्षा

जरूरत के हिसाब से पानी का करें प्रयोग : सूर्या सैनी