Saturday, August 24, 2019
 
BREAKING NEWS
अर्ली स्टेप प्री स्कूल में छोटे-छोटे बच्चों के साथ भाविप लाडवा ने मनाई जन्माष्टमीबाबैन में चोरों ने सैनेटरी की दुकान पर किया हाथ साफसंदीप गर्ग ने किया डायरिया ग्रस्त गांव का दौरासिवानी तहसील को हिसार जिले में शामिल करने की मांग को लेकर पाचवे दिन भी धरना जारी।"जूतम पजार" 'थप्पड़' और 'ठुमके' भाजपा के लिए खतरे की घंटी,कैथल और कुरुक्षेत्र जिलों का मिजाज दे गया चेतावनी घरौंडा में जन आशीर्वाद यात्रा का हुआ भव्य स्वागत, स्वागत के लिए उमड़े शहर व गांव के लोग, गद गद नज़र आये विधायक कल्याणभारत के धार्मिक उत्सवों से समुचा विश्व प्रभावित : डॉ. पवन सैनीकिसानों की आमदनी दोगुनी करने के दावे को हकीकत बनाना बेहद कठिन : दहियावातावरण को स्वच्छ रखने के लिये करें पौधारोपण : बड़शामीहिसार जिले के नेता राजनीति मे शिखर पर पहुंचे।

Business

पुरानी पुस्तकें-खरीदने व बेचने के लिए दिया बेहतरीन मंच : डा. ज्योति जुनेजा

January 21, 2019 05:08 PM
रणबीर रोहिल्ला
पुरानी पुस्तकें-खरीदने व बेचने के लिए दिया बेहतरीन मंच : डा. ज्योति जुनेजा 
डीसीआरयूएसटी के तीन छात्रों ने वैबसाईट बनाकर पुस्तकों की समस्या की दूर
रणबीर रोहिल्ला, सोनीपत। दीनबंधु छोटूराम विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय मुरथल (डीसीआरयूएसटी) के तीन छात्रों ने एक वैबसाईट बनाकर विद्यार्थियों के सामने आने वाली पुस्तकों की समस्या को दूर करने की दिशा में सफल कदम बढ़ाये हैं। अपनी वैबसार्ईट के विषय में इन छात्रों ने जीवीएम गल्र्ज कालेज की छात्राओं को जानकारी दी उन्होंने सहर्ष वैबसाईट को स्वीकार किया। इस मौके पर संस्था के प्रधान डा. ओपी परूथी व प्राचार्या डा. ज्योति जुनेजा ने कहा कि पुरानी पुस्तकों को खरीदने व बेचने के लिए यह बेहतरीन मंच है, जिसका छात्र-छात्राओं को पूरा लाभ उठाना चाहिए। प्राध्यापिका तारिका सेठी के निर्देशन में बीकॉम ऑनर्स तथा एमकॉम की छात्राओं के लिए कार्यशाला का आयोजन कर पुरानी पुस्तकों की खरीद व बेचने के लिए बनाई गई वैबसाईट (बुक्सबास्केट डॉट इन) की विस्तृत जानकारी दी गई। वैबसाईट निर्माता डीसीआरयूएसटी के तीनों छात्रों (बीएससी इलैक्ट्रिोनिक के पासआउट छात्र कौशल दवे तथा कैमिकल इंजीनियरिंग के छात्र अंकुर बंसल व सिद्धार्थ रोहिल्ला) ने जीवीएम की छात्राओं को वैबसाईट उद्देश्य व कार्यप्रणाली की पूर्ण जानकारी दी। कौशल दवे, अंकुर बंसल व सिद्धार्थ रोहिल्ला ने बताया कि अक्सर विद्यार्थियों को अच्छी पुस्तकें हासिल करने में परेशानियां उठानी पड़ती हैं। कई बार विद्यार्थियों को उनकी पसंदीदा पुस्तक नहीं मिल पाती। पाठ्यक्रम से जुड़ी किताबें लेने के लिए छात्रों को दूरदराज के धक्के खाने पड़ते हैं। फिर बहुत सी किताबों की कीमत आसमान को छूने वाली होती हैं। ऐसे में बहुत से विद्यार्थियों की चाहत होती है कि उन्हें पुरानी पुस्तकें मिल जाये। विद्यार्थियों की इस प्रकार की समस्याओं को दूर करने तथा पुस्तकों तक पहुंच का आसान बनाने के लिए ही वैबसाईट बनाई गई है। संबंधित वैबसाईट पर पुस्तक बेचने वाला तथा पुस्तक खरीदने वाला संपर्क साध सकता है। जिसे जिस कीमत पर अपनी पुरानी पुस्तक बेचनी हो वह पुस्तक के साथ कीमत अंकित कर सकता है। वहीं खरीदने वाला व्यक्ति बेचने वाले व्यक्ति से पुस्तक खरीद सकता है और मोलभाव भी कर सकता है। इस दौरान कालेज की छात्राओं ने वैबसाईट के विषय में बहुुत से प्रश्र भी किये, जिनके उन्हें संतोषजनक उत्तर मिले। इस मौके पर वैबसाईट निर्माता छात्रों का उत्साहवद्र्धन करते हुए प्राचार्या डा. ज्योति जुनेजा व प्राध्यापिका तारिका सेठी ने कहा कि निश्चित रूप से यह वैबसाईट विद्यार्थियों के लिए लाभकारी है। प्राथमिक कक्षाओं से लेकर स्नातक तथा स्नातकोत्तर कक्षाओं की पुस्तकें खरीदने-बेचने के लिए यह बढिय़ा प्लेटफार्म है

Have something to say? Post your comment

More in Business

मुम्बई में व्यापार, रोजगार और इलाज के लिए नहीं होगी परेशानी-कमल नाथ

कैथल के आढ़ती मुख्यमंत्री को देंगे मांगपत्र ,स्थानीय भाजपाई नेता हुए सक्रिय बुलाई मीटिंग

ट्रेड टावर दुकानदारों के मसीहा बने मनीष सिंगला लक्ष्य हमारा मनोहर दोबारा को लेकर सिरसा विधानसभा का भ्रमण करेंगे मनीष सिंगला

72 घंटे में पैमेंट के दावे, लेकिन 40 दिन बाद भी आढ़तियों के 7 करोड़ रुपए बकाया

फॉम फैक्ट्ररी में लगी आग

विपुल गोयल को फोन पर दी जीएसटी फर्जीवाड़े की जानकारी,मामले में हरियाणा चैंबर ऑफ कॉमर्स आगे आया

कुंडली में जूते बनाने वाली फैक्ट्री में लगी भीषण आग

19 फर्जी कंपनियां बनाकर जीएसटी में फर्जीवाड़ा दो हजार करोड़ तक पहुंचा

प्रदेशों के उद्योग मत्रियों की दिल्ली में बैठक। , विपुल गोयल ने हरियाणा का प्रिनिधित्व किया

कैथल के आढ़ती लाइसेंस रिन्यू भी करवायेंगे और आगे के लिये अभी कोर्ट में भी जायेंगे-प्रधान