Saturday, August 24, 2019
 
BREAKING NEWS
अर्ली स्टेप प्री स्कूल में छोटे-छोटे बच्चों के साथ भाविप लाडवा ने मनाई जन्माष्टमीबाबैन में चोरों ने सैनेटरी की दुकान पर किया हाथ साफसंदीप गर्ग ने किया डायरिया ग्रस्त गांव का दौरासिवानी तहसील को हिसार जिले में शामिल करने की मांग को लेकर पाचवे दिन भी धरना जारी।"जूतम पजार" 'थप्पड़' और 'ठुमके' भाजपा के लिए खतरे की घंटी,कैथल और कुरुक्षेत्र जिलों का मिजाज दे गया चेतावनी घरौंडा में जन आशीर्वाद यात्रा का हुआ भव्य स्वागत, स्वागत के लिए उमड़े शहर व गांव के लोग, गद गद नज़र आये विधायक कल्याणभारत के धार्मिक उत्सवों से समुचा विश्व प्रभावित : डॉ. पवन सैनीकिसानों की आमदनी दोगुनी करने के दावे को हकीकत बनाना बेहद कठिन : दहियावातावरण को स्वच्छ रखने के लिये करें पौधारोपण : बड़शामीहिसार जिले के नेता राजनीति मे शिखर पर पहुंचे।

National

ऋषि कुमार शुक्ला बने सीबीआई के नये डायरेक्टर , नागेश्वर राव की लेंगे जगह

February 02, 2019 08:59 PM
राजकुमार अग्रवाल

ऋषि कुमार शुक्ला बने सीबीआई के नये डायरेक्टर , नागेश्वर राव की लेंगे जगह

नई दिल्ली :- आईपीएस अधिकारी ऋषि कुमार शुक्ल को सीबीआई का नया डायरेक्टर नियुक्त किया गया है। वह कार्यकारी डायरेक्टर नागेश्वर राव की जगह लेंगे। पीएम नरेंद्र मोदी, नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और सीजेआई की अगुवाई वाली हाई पावर कमेटी ने शनिवार को यह फैसला लिया। आलोक वर्मा को पद से हटाए जाने के बाद से नए सीबीआई डायरेक्टर की तलाश हो रही थी। ऋषि कुमार शुक्ला मध्य प्रदेश कैडर के 1983 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। अभी तक वह मध्य प्रदेश पुलिस हाउसिंग बोर्ड में डायरेक्टर जनरल की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। बतौर सीबीआई डायरेक्टर ऋषि कुमार शुक्ला का कार्यकाल दो साल का होगा।
इससे पहले शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई डायरेक्टर की नियुक्ति को लेकर केंद्र सरकार को फटकार लगाई। कोर्ट ने जल्द से जल्द नए सीबीआई डायरेक्टर की नियुक्ति के आदेश दिए थे। शीर्ष अदालत ने पूछा था कि सीबीआई में कब तक अंतरिम निदेशक की स्थिति बनी रहेगी? कोर्ट के आदेश के बाद केंद्र सरकार और सिलेक्शन कमिटी ने तेजी दिखाई और ऋषि कुमार शुक्ला का नाम सीबीआई के नए चीफ के तौर पर फाइनल हुआ।
बता दें कि इससे पहले कथित भ्रष्टाचार के आरोप में सीबीआई डायरेक्टर आलोक कुमार वर्मा को सरकार ने उनके पद से हटा दिया था। उनका ट्रांसफर फायर सर्विस और होमगार्ड डिपार्टमेंट में बतौर डीजी कर दिया गया था। आलोक वर्मा पर उन्हीं के डिप्टी रहे राकेश अस्थाना ने कदाचार और भ्रष्टाचार के संगीन आरोप लगाए थे। वर्मा ने इस कदम को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती भी दी थी। लेकिन, बाद में उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। लेकिन, गृह मंत्रालय ने उनका इस्तीफा अभी तक मंजूर नहीं किया है। मंत्रालय ने आलोक वर्मा को कहा है कि वह एक दिन के ड्यूटी पर आए। बता दें कि आलोक वर्मा 39 साल की सेवा के बाद 31 जनवरी 2019 को रिटायर होने वाले थे।

Have something to say? Post your comment

More in National

अर्ली स्टेप प्री स्कूल में छोटे-छोटे बच्चों के साथ भाविप लाडवा ने मनाई जन्माष्टमी

बाबैन में चोरों ने सैनेटरी की दुकान पर किया हाथ साफ

संदीप गर्ग ने किया डायरिया ग्रस्त गांव का दौरा

किसानों की आमदनी दोगुनी करने के दावे को हकीकत बनाना बेहद कठिन : दहिया

भगवान श्री कृष्ण के देश में प्लास्टिक और कचरा खाने पर मजबूर गायें?

लाडवा हल्का जल्द बनेगा पानी बचाने के लिए नंबर वन : पवन सैनी

लाडवा से इनैलो का विधायक बनने पर होंगे महिलाओं के सपने पूरे : बड़शामी

विकास के दावों के विपरित कच्ची पड़ी गली से परेशान है निरंकारी कालोनी के लोग

गरजा सिंह बने नमो नमो मोर्चा के जिला अध्यक्ष

राजीव गांधी की बदौलत हुआ था पंचायतों का सशक्तिकरण : संदीप गर्ग