Saturday, August 24, 2019
 
BREAKING NEWS
अर्ली स्टेप प्री स्कूल में छोटे-छोटे बच्चों के साथ भाविप लाडवा ने मनाई जन्माष्टमीबाबैन में चोरों ने सैनेटरी की दुकान पर किया हाथ साफसंदीप गर्ग ने किया डायरिया ग्रस्त गांव का दौरासिवानी तहसील को हिसार जिले में शामिल करने की मांग को लेकर पाचवे दिन भी धरना जारी।"जूतम पजार" 'थप्पड़' और 'ठुमके' भाजपा के लिए खतरे की घंटी,कैथल और कुरुक्षेत्र जिलों का मिजाज दे गया चेतावनी घरौंडा में जन आशीर्वाद यात्रा का हुआ भव्य स्वागत, स्वागत के लिए उमड़े शहर व गांव के लोग, गद गद नज़र आये विधायक कल्याणभारत के धार्मिक उत्सवों से समुचा विश्व प्रभावित : डॉ. पवन सैनीकिसानों की आमदनी दोगुनी करने के दावे को हकीकत बनाना बेहद कठिन : दहियावातावरण को स्वच्छ रखने के लिये करें पौधारोपण : बड़शामीहिसार जिले के नेता राजनीति मे शिखर पर पहुंचे।

Punjab

अकाली दल और भाजपा में हुआ समझौता ,सुखबीर बादल में की अमित शाह में मुलाक़ात

February 03, 2019 05:39 PM
अटल हिन्द ब्यूरो
अकाली दल और भाजपा में हुआ समझौता , सुखबीर बादल में की अमित शाह में मुलाक़ात 
 
चंडीगढ़, (अटल हिन्द संवाददाता ) शिरोमणि अकाली दल और भारतीय जनता पार्टी के संबंधों में पैदा खटास समाप्‍त हो गई है। भाजपा ने कुछ मुद्दों पर शिअद के गुस्से के बाद इन्‍हें दूर करने की पहल की है और इसके बाद दोनों दलों के बीच आई दूरी भी फिलहाल खत्‍म हो गई है। बताया जाता है कि भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह और शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर बादल के बीच दिल्ली में हुई मुलाकात के बाद दाेनों दलों के बीच आया गतिरोध दूर हुआ है। अब शिअद की कोर कमेटी पूरे मामले पर विचार के लिए आज बैठक करेगी।अमित शाह व सुखबीर बादल के बीच हुई दो घंटे तक बैठक, नाराजगी वाले मुद्दों को दूर करने का फैसला| अति विश्‍वसनीय सूत्रों के अनुसार अमित शाह और सुखबीर बादल की बैठक शुक्रवार रात नई दिल्‍ली में हुई। बताया जाता है कि उनकी बैठक रात साढ़े सात बजे से लेकर साढ़े नौ बजे तक चली। आखिरकार वे इस नतीजे पर पहुंचे की शिरोमणि अकाली दल को जिन मुद्दों को लेकर भारतीय जनता पार्टी से नाराजगी है वे दूर कर लिए जाएंगे। फैसला किया गया कि दोनों पार्टियों के सीनियर नेताओं को एक साथ बैठा कर लंबित मुद्दों पर बात की जाएगी और इसे संसदीय चुनाव से पहले हल कर लिया जाएगा।
 
शिरोमणि अकाली दल तख्त श्री हजूर साहब के प्रबंधकीय बोर्ड में प्रधान पद को लेकर महाराष्ट्र सरकार द्वारा किए गए संशोधन से नाराज है। इस संशोधन के अनुसार प्रधान का चयन बोर्ड के सदस्य न करके महाराष्‍ट्र सरकार करेगी। याद रहे कि 2016 में फणडवीस सरकार ने 1956 के एक्ट में संशोधन करके प्रधान चुनने का अधिकार सरकार के पास ले लिया। इससे पहले 17 सदस्यीय बोर्ड ही अपने प्रधान का चयन करता था जिसमें विभिन्न राज्यों से एक एक प्रतिनिधि इसमें सदस्य है।
 
श्री हजूर साहिब प्रबंधकीय बोर्ड में संशोधन हो सकता है वापस
अब माना जा रहा है कि जल्द ही महाराष्ट्र सरकार द्वारा श्री हजूर साहब प्रबंधकीय बोर्ड में यह संशोधन को वापस ले लिया जाएगा। काबिले गौर है कि इस मामले में आरएसएस की संस्था राष्ट्रीय सिख संगत हस्तक्षेप कर रही थी। इससे शिरोमणि अकाली दल में खासी नाराजगी थी। दोनों पार्टियों के नेताओं ने इस मामले में एक दूसरे से बात भी करनी चाही। लेकिन, बताया जाता है कि भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान अमित शाह द्वारा अकाली नेताओं को समय नहीं दिए जाने के कारण उनमें नाराजगी और बढ़ गई। इस बात को लेकर शिअद के कुछ नेताओं ने राजग से संबंध तोड़ने तक का बयान दे दिया। इतना ही नहीं मोदी सरकार द्वारा पेश किए गए बजट पर भी शिअद ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। यही नहीं पार्टी ने 3 फरवरी को श्री आनंदपुर साहब में अपनी कोर कमेटी की मीटिंग भी बुला ली जिसमें संबंधों को बनाए रखने संबंधी फैसला किया जाना था।

Have something to say? Post your comment

More in Punjab

प्रेमिका के घर पहुंच प्रेमी ने लगाई आग, मंजर देख दहले सभी के दिल,

करतारपुर कॉरिडोर- प्रदर्शन के पांच घंटे के बाद किसानों और प्रशासन के बीच बनी सहमति,प्रदर्शन हुआ बंद

करतारपुर कॉरिडोर- मुआवजा राशि में से टीडीएस काटने पर किसानों ने किया चक्का जाम,जबरदस्त नारेबाजी

टॉयलेट में मिला सैनिटरी पैड, जांच के लिए दर्जन भर छात्राओं के उतरवाए कपड़े

नामांक‌ण पत्र दाखिल करने से पहले जाखड़ प्राचीन मंदिर और गुरूद्वारा कंध साहिब में हुये नतमस्तक

भारतीय सीमा पार करते हुये पाकिस्तान की तरफ घुसते युवक को काबू किया

चेतावनी- गली में कोई लीडर वोट मांगने न आये, नोटा का बटन दबाकर नेताओं का करेंगे विरोध

अकाली दल ने बठिंडा के डीपीआरओ तथा मानसा के एपीआरओ के खिलाफ भी शिकायत दी

महिलाओं से अवैद्घ संबंधों से तंग आकर पत्नी और बेटे ने मिलकर करवाया था कत्ल,पत्नी,बेटे समेत आठ लोग गिरफ्तार

पंजाब में 118 नेताओं के लोकसभा चुनाव लड़ने पर चुनाव आयोग ने लगाई रोक