Sunday, August 18, 2019
 
BREAKING NEWS
इनैलो को मिल रहा है छत्तीस बिरादरी के लोगों का भरपूर समर्थन : सपना बडशामीशहीद की पत्नी संग जोड़ा भाई-बहन का नाता 18 अगस्त को होने वाली परिवर्तन रैली में लाडवा हल्के से जांएगें हजारों कार्यकत्र्ता : मेवा ङ्क्षसह बाबैन में ऐतिहासिक होगा जन आर्शीवाद यात्रा का स्वागत : रीना देवीखिलाडिय़ों के लिए स्टेडियम व बेटियों के लिए कॉलेज बनवाना होगा प्राथमिकता : गर्गफंस गए भूपेंद्र हुड्डा,कांग्रेस छोड़ने के अलावा नहीं बचा कोई विकल्परॉकी मित्तल ने ग्योंग गांव में शिक्षा एवं खेल क्षेत्रों के विद्यार्थियों को सम्मानित कियाट्रक डाइवर व क्लीनर को बंधक बना ट्रक लेकर फरार, केस दर्जपंजाबी वर्ग की जनसँख्या के अनुसार राजनैतिक पार्टी दे टिकटें: अशोक मेहता। वीर सम्मान मंच कैथल के द्वारा अटारी बॉर्डर पर मनाया गया रक्षाबंधन उत्सव:-

Punjab

एवलांच की चपेट में मरने वाले डेरा बाबा नानक के दोनों युवकों का किया अतिंम संस्कार

February 11, 2019 08:02 PM
अटल हिन्द ब्यूरो

एवलांच की चपेट में मरने वाले डेरा बाबा नानक के दोनों युवकों का किया अतिंम संस्कार 

दोनों दोस्तों की मौत श्रीनगर के जिले कुलगाम में हुई थी

 

(रघुवंशी/विनोद सोनी)
बटाला/डेरा बाबा नानक । कुलगाम जिले में वीरवार को एवलांच की चपेट में आने से हुई डेरा बाबा नानक के दो दोस्तों की मौत के बाद सोमवार को उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया है। बता दें कि मृतक दोनों दोस्त श्री नगर में घूमने के लिए 3 फरवरी को डेरा बाबा नानक गए थे। जहां एवलांच गिरने से उनकी मौत हो गई। रविवार देर शाम को मृतकों के शव को डेरा बाबा नानक उनके परिजनों को सौंपा गया था। सोमवार को बलजीत सिंह का अंतिम संस्कार डेरा बाबा नानक के पास रावी दरिया के पास किया गया। बलजीत सिंह जोकि शादीशुदा नहीं था, इसलिए उसके परिजनों ने सेहरा बांधकर उसका संस्कार किया। बलजीत सिंह के पिता हरी सिंह ने चिखा को अग्नि दी। वहीं, पूरे परिवार में शोक की लहर देखने को मिली। वहीं विक्की का अंतिम संस्कार गांव उधमपुर के शमशानघाट में किया गया। बलजीत सिंह की माता जसपाल कौर की 2004 में ही मौत हो गई थी।
बता दें कि बलजीत सिंह पुत्र हरी सिंह (33) और विक्की पुत्र कुलविंदर सिंह (35) निवासी डेरा बाबा नानक जो दोनों दोस्त थे, श्री नगर घूमने के लिए 3 फरवरी को डेरा बाबा नानक से रवाना हुए थे। 7 फरवरी को श्री नगर से घूमकर वह वापस आ रहे थे। जब वह कुलगाम जिले की पुलिस चौकी जवाहर टनल के पास पहुंचे तो उन्हें पुलिस कर्मियों ने रोक लिया कि आगे रास्ता खराब है, वह न जाएं। उसी दिन रात के समय ही चौकी के उपर एवलांच हो गया, जिसमें दबने से 7 पुलिस कर्मियों और उक्त दोनों की मौत हो गई। हालांकि कईयों को रेस्कयू के जरीए बाहर भी निकाला गया था। मृतकों के शवों को कुलगाम जिले के काजीकुंड अस्पताल में रखा गया, जहां उनकी पड़ताल करने के बाद रविवार को उनके शवों को हेलीकॉप्टर के जरीए डेरा बाबा नानक पहुंचा गया और वारिसों के हवाले किया गया था।

Have something to say? Post your comment

More in Punjab

प्रेमिका के घर पहुंच प्रेमी ने लगाई आग, मंजर देख दहले सभी के दिल,

करतारपुर कॉरिडोर- प्रदर्शन के पांच घंटे के बाद किसानों और प्रशासन के बीच बनी सहमति,प्रदर्शन हुआ बंद

करतारपुर कॉरिडोर- मुआवजा राशि में से टीडीएस काटने पर किसानों ने किया चक्का जाम,जबरदस्त नारेबाजी

टॉयलेट में मिला सैनिटरी पैड, जांच के लिए दर्जन भर छात्राओं के उतरवाए कपड़े

नामांक‌ण पत्र दाखिल करने से पहले जाखड़ प्राचीन मंदिर और गुरूद्वारा कंध साहिब में हुये नतमस्तक

भारतीय सीमा पार करते हुये पाकिस्तान की तरफ घुसते युवक को काबू किया

चेतावनी- गली में कोई लीडर वोट मांगने न आये, नोटा का बटन दबाकर नेताओं का करेंगे विरोध

अकाली दल ने बठिंडा के डीपीआरओ तथा मानसा के एपीआरओ के खिलाफ भी शिकायत दी

महिलाओं से अवैद्घ संबंधों से तंग आकर पत्नी और बेटे ने मिलकर करवाया था कत्ल,पत्नी,बेटे समेत आठ लोग गिरफ्तार

पंजाब में 118 नेताओं के लोकसभा चुनाव लड़ने पर चुनाव आयोग ने लगाई रोक