Friday, May 24, 2019
BREAKING NEWS
बड़े बड़े राजनीतिक धुरंधर हुए धराशाही , राहुल और प्रियंका भी कांग्रेस का काँटा निकालने से नहीं बचा पाए 23 मई को जन्मे बच्चे का नाम रखा मोदीअशोक अरोड़ा ने अपने पद से दिया त्यागपत्रसिवानी मण्डी के किसानों ने फसलों के भुगतान की मांग की।पुतिन से लेकर ट्रंप तक, हर देश ने दी PM मोदी को बधाईभाजपा प्रत्याशी संजय भाटिया करीब 6 लाख 56 हजार 142 मतों से हुए विजयी* मतगणना शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न: जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त विनय प्रताप सिंहभाजपा के नवनिर्वाचित सांसद नायब सैनी ने कैथल में कार्यकर्ताओं के साथ मनाया जश्नजनता ने की भाजपा की नीतियों मे कि आस्था व्यक्त : सुर्या सैनीजनता ने प्रदेश सरकार व केन्द्र सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों पर लगाई अपनी मोहर : सुरेश कश्यपपरिवारवाद हारा,जनता जीती -मनोहर लाल

Haryana

प्राईमरी स्कूल में थी शिक्षको की कमी, अब स्कूल टीचर की पत्नी दे रही निशुल्क शिक्षा

March 13, 2019 01:45 PM
रविंद्र सैनी की रिपोर्ट

महिला शक्ति का सराहनीय फैसला---
प्राईमरी स्कूल में थी शिक्षको की कमी, अब स्कूल टीचर की पत्नी दे रही निशुल्क शिक्षा
बच्चों की नींव मजबूत हो इसके लिए उठाया कदम-प्रियंका
रादौर, 13 मार्च (रविन्द्र सैनी): प्राईमरी स्कूल, 6 कक्षाएं। टीचर केवल 2। जिसमें से एक अक्सर विभागीय कार्याे में व्यस्त। स्थिति गांव घेसपुर के प्राईमरी स्कूल की है। शिक्षको की कमी के कारण बच्चो की शिक्षा प्रभावित होने का सिलसिला चल पड़ा था। बच्चो की शिक्षा प्रभावित होती देख स्कूल में ही कार्यरत जेबीटी अध्यापक देवेन्द्र शर्मा की पत्नी प्रियंका शर्मा ने हाथ बढ़ाया और खुद ही बिना किसी मानदेय के निशुल्क बच्चों को शिक्षित करने का बीड़ा उठा लिया। अब पिछले तीन महीने से लगातार प्रियंका बच्चों को शिक्षित करने में स्कूल के स्टाफ का हाथ बटा रही है।
बॉक्स
स्कूल में थे 3 अध्यापक, करीब 4 माह पहले एक का हो गया था एक का तबादला
घेसपुर के प्राईमरी स्कूल में करीब 5० छात्र छात्राएं शिक्षा ग्रहण कर रहे है। पहले यहां 3 अध्यापको की डयूटी थी। लेकिन करीब 4 माह पहले एक अध्यापक का यहां से तबादला हो गया। जिसके बाद अब स्कूल में केवल 2 ही टीचर रह गए। उनमें से भी एक अक्सर विभागीय कार्यो में व्यस्त रहता था। जिससे स्कूल में शिक्षक की कमी महसूस होने लगी थी।
बॉक्स
इस प्रकार हुई शुरूआत
गांव घेसपुर के प्राईमरी स्कूल से करीब 4 माह पहले एक अध्यापक का तबादला हो जाने से यहां शिक्षको की कमी महसूस की जा रही थी। दो अध्यापक तो थे लेकिन सही मायने में एक ही उचित प्रकार से शिक्षण कार्य कर पा रहा था। ऐसे में अब केवल एक अध्यापक का बच्चों को प्रर्याप्त शिक्षा देना मुश्किल सा हो रहा था। एक दिन जब स्कूल में कार्यरत जे.बी.टी अध्यापक देवेन्द्र शर्मा ने अपनी पत्नी प्रियंका के साथ यह समस्या सांझा की तो प्रियंका ने स्कूल के बच्चों को शिक्षित करने का निर्णय लिया। उन्होंने बिना किसी मानदेय के स्कूल में पढ़ रहे बच्चों को पढ़ाना शुरू कर दिया। तीन महीने से लगातार वह स्कूल आ रही है और बच्चों को शिक्षित करने में हाथ बटा रही है।
बॉक्स
बी.एससी, बी.एड पास प्रियंका ने दिया यह तर्क
बच्चो को बिना किसी मानदेय के शिक्षा देने बारे जब प्रियंका शर्मा से बात की गई तो उन्होंने कहा कि
शुरूआती शिक्षा से ही बच्चो के भविष्य की नींव मजबूत होती है। अगर शुरूआती शिक्षा की नींव ही कच्ची रह जाएं तो भविष्य का महल कभी मजबूत नहीं रह सकता। उनके पति ने जब स्कूल में शिक्षको की कमी के बारे उन्हें बताया तो वह एकाएक तैयार हो गई। क्योंकि बच्चे देश का भविष्य है और इस भविष्य को संवारने में वह इस प्रकार की मदद कर सकते है। उन्होंने बी.एससी, बी.एड तक की शिक्षा ली है। ऐसे में उनकी शिक्षा बच्चों के काम आएं यह उनके लिए सौभाग्य की बात है।
बॉक्स
दो शिक्षको के सहारे स्कूल में बच्चो को नियमित अच्छी शिक्षा देने में दिक्कत आ रही थी। इसी घड़ी में प्रियंका उनके लिए सहारा बनी है। पिछले तीन महीने से वह लगातार बच्चों को पढ़ा रही है। बच्चे भी उनसे कुछ नया सीख रहे है। जिसका उन्हें व बच्चों को काफी लाभ मिल रहा है।
मीना देवी
स्कूल इंचार्ज

Have something to say? Post your comment

More in Haryana

सरस्वती तीर्थ पर शराब के नशे में पड़े लोगों से यात्रियों की आस्था को पहुंचती है ठेस अवैध तौर पर बने अड्डों पर सरेआम बिकती है शराब

इनैलो पदाधिकारियों ने अपने पदों से दिए इस्तीफे

बार एसोसिएशन पिहोवा में भाजपा प्रत्याशी की जीत पर बांटे लडडू

हल्का पिहोवा में श्री महर्षि कश्यप जयंती पर हवन व भण्डारे का आयोजन

अशोक अरोड़ा ने अपने पद से दिया त्यागपत्र

सिवानी मण्डी के किसानों ने फसलों के भुगतान की मांग की।

भाजपा प्रत्याशी संजय भाटिया करीब 6 लाख 56 हजार 142 मतों से हुए विजयी* मतगणना शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न: जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त विनय प्रताप सिंह

भाजपा के नवनिर्वाचित सांसद नायब सैनी ने कैथल में कार्यकर्ताओं के साथ मनाया जश्न

मां ने जींद जिले में तो अब बेटे ने हिसार में खिलाया कमल

चार्जशीट पर बोले कुछ पार्षद, पार्षद प्रतिनिधि व नेता करते हैं निजी कार्यों के लिए ब्लैकमेल ,इसलिए करते हैं ऐसी बेतुकी बातें : सिंह