Thursday, June 20, 2019
 
BREAKING NEWS
मिशन 2024 पर निकले रणदीप सुरजेवाला,किसान कांग्रेस के जरिए पूरे प्रदेश में समर्थकों को किया एडजैस्टहिमाचल में बस 500 फीट गहरी खाई में गिरी, 28 की मौत; 32 घायलफरीदाबाद की एक और बेटी तनीषा दत्ता ने किया देश का नाम रौशनयोग करता है मन की वृतियों को नियंत्रण में, होती है मानसिक, शारीरिक, अध्यात्मिक स्वास्थ्य की प्राप्ति : आरके सिंहभाजपा आईटी सेल के बनाए ग्रुपों में राजकुमार सैनी के खिलाफ अफवाह चलाने की चर्चाएं !करवाएंगे केस दर्ज : सैनीकैथल खाद्य एवं आपूर्ति विभाग को कैशलेस करने की योजना !कैथल की सरकार पर भ्रष्टाचार मामले में एफआईआर दर्ज होने के बाद भी कोई कार्रवाई न होना बना रहा हास्यास्पद स्थिति !नही चले अयुष्मान कार्ड, बेटे के ईलाज के लिए दर-दर भटक रहे परिजनमर रही थी गाये, न खाने के लिए प्रर्याप्त चारा न की जाती थी देखभाल डीसीआरयूएसटी में एम.एससी. कैमिस्ट्री बना हुआ है टॉप च्वाइस. कैमिस्ट्री में 261 व पीएच.डी में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में 85 ने किया आवेदन

Uttar Pradesh

राशन कार्ड पंजीकरण में धांधली, गरीबों तक नहीं पहुंच रहा राशन

March 15, 2019 09:05 PM
सुरजीत यादव अमेठी

राशन कार्ड पंजीकरण में धांधली, गरीबों तक नहीं पहुंच रहा राशन
राशन कार्ड सूची से आये दिन गायब हो रहें हैं गरीब पात्रों के नाम
तहसील मुख्यालय पर राशन कार्ड सूची में नाम सम्मिलित करने के लिए होती है धन उगाही- सूत्र
बिना आधार लगे राशन कार्ड किये जाते हैं डिलीट, शासन मानता है फर्जी- पूर्ति निरीक्षक

अमेठी। कोटेदार और आपूर्ति विभाग की गुणा गणित से गरीबों तक उनके हक का राशन नहीं पहुंच रहा है। उनकी कारगुजारियों से राशन कार्ड की सूची में अपात्रों को पास और पात्रों को फेल करने का भारी खेल चल रहा है। राशन कार्ड में हेरफेर की शिकायतें अफसरों के पास आए दिन पहुंच रही हैं, लेकिन कर्मचारी से लेकर अफसर तक पात्रता की जांच कराकर सूची में शामिल कराने का आश्वासन देकर जिम्मेदारी पूरी करते दिख रहे हैं। आपूर्ति विभाग के अधिकारी राशन कार्ड सूची में नाम शामिल करने के लिए शिकायत के बाद तहसील मुख्यालय पर पात्रो को बुलाते हैं जहॉ गरीब पात्र लोगों से राशन कार्ड सूची में नाम शामिल करने के लिए धन उगाही का कार्य किया जाता है। 

 

 

 

 

 

आपको बता दें कि शासन ने सरकारी राशन में धांधली रोकने के लिए ई-पॉश मशीन से राशन वितरण करने के साथ ही राशन कार्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन कराने का फरमान जारी किया था लोगों ने आवेदन किया जिसके बाद पात्रों का नाम सूची में शामिल किया गया, लेकिन जिले में शासन के इस इरादे पर कोटेदार और विभागीय अफसरों का गठजोड़ पानी फेर रहा है। कारण जिन पात्र लोगों का नाम राशन कार्ड सूची में दर्ज हुआ उनमें से तमाम नाम सूची ने धीरे-धीरे गायब हो रहे है। और पात्र गरीब सूची में नाम शामिल कराने के लिए ग्राम प्रधान से लेकर कोटेदार व आपूर्ति विभाग के चक्कर काट रहे है।

 

 

 

 

 

सूत्र बताते हैं कि तहसील मुसाफिरखाना मुख्यालय पर उपजिला अधिकारी कार्यालय से ठीक बगल राशन कार्ड सूची में नाम शामिल करने के लिए गरीब पात्रो से धन उगाही किया जाता है। राशन कार्ड के लिए आवेदन करने वाले अपात्र पास हो रहे हैं और पात्रों को फेल कर दिया जा रहा है। इससे जुड़ी शिकायतें हर रोज जिलापूर्ति कार्यालय और डीएम समेत एसडीएम के पास पहुंच रहीं हैं। मवैया रहमतगढ़ की निजामुल निशा ने बताया कि पूर्व में उनको राशन मिल रहा था और उनका व उनके परिवार के 6 सदस्यों का नाम अब पात्रता सूची से गायब कर दिया गया। निजामुल निशा कोई एक नाम नहीं है ऐसे दर्जनों लोगों ने बताया कि मेरा नाम पात्रता सूची में था जिसकी वजह से राशन मिल रहा था परन्तु बिना कारण बताये पात्र होते हुए भी मेरा नाम राशन कार्ड की पात्रता सूची से गायब कर दिया गया है। इतना की नहीं तमाम शिकायतकर्ताओं कहना है कि राशन कार्ड से पात्र सदस्यों का भी नाम गायब किया जा रहा है। शिकायतकर्ताओं ने बताया कि कई महीनों से पात्रता सूची में नाम बढ़वाने के लिए चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन आपूर्ति विभाग के अधिकारी जल्द सत्यापन कराकर सूची में नाम चढ़ाने की बात कहकर टकरा देते हैं। लेकिन जो सूची में नाम शामिल कराने के लिए आपूर्ति कार्यालय में सुविधा शुल्क देता है उसका नाम शामिल कर दिया जाता है।

 

क्या बोले पूर्ति निरीक्षक:-

इस सम्बन्ध में मुसाफिरखाना पूर्ति निरीक्षक जितेन्द्र कुमार से बात की गई तो उन्होने बताया कि जिन लाभार्थियों का राशन कार्ड में आधार कार्ड नहीं लगा है, उनसे आधार कार्ड मांगा जाता है उसके बाद भी यदि आधार कार्ड नहीं देते हैं तो उनका नाम राशन कार्ड सूची से काट दिया जाता है क्यों कि बिना आधार, शासन ऐसे राशन कार्ड को फर्जी मानता है। राशन कार्ड सूची में नाम सम्मिलित करने के लिए किसी तरह का शासन द्वारा शुल्क निर्धारित नहीं है। प्राईवेट ऑपरेटर है शासन द्वारा हमें कोई ऑपरेटर नहीं मिला है ऐसे में कुछ लोग स्वेच्छा पैसे देकर नाम सम्मिलित करवा रहे है।

Have something to say? Post your comment

More in Uttar Pradesh

अमेठीः जनहित की समास्याओं को लेकर किसान यूनियन ने लगाई चौपाल, कहा मजबूर होकर करना पड़ेगा आन्दोलन

सेक्स रैकेट, गिड़गिड़ाने लगी पकड़ी गई लड़की, बोली- छोड़ दीजिये, 2 दिन बाद शादी है

ननकऊ साहू बने ब्लॉक अध्यक्ष, रमेश तिवारी जिला उपाध्यक्ष

साहब : भूमाफिया जबरन कर रहे जमीन पर अवैध कब्जा

संत महंत ने उठाया राम मंदिर निर्माण का मुद्दा, कल बैठक में होंगे कई बड़े फैसले..!!

हादसे में बाल-बाल बचे कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य.

मुंह मे मिट्टी ठूंसकर ग्यारह वर्षीय बालक की हत्या

गुप्तांग पर ईंट बांधकर उसको पूरे गांव और खेतों मे घुमाया मंदबुद्धि बालक को

पूर्व सांसद घर में मृत मिले, जहर से मौत का अंदेशा*

स्मृति ईरानी ने कहा, हत्यारों को मौत की सजा दिलाकर ही दम लेंगे