Friday, May 24, 2019
BREAKING NEWS
बड़े बड़े राजनीतिक धुरंधर हुए धराशाही , राहुल और प्रियंका भी कांग्रेस का काँटा निकालने से नहीं बचा पाए बड़े बड़े राजनीतिक धुरंधर हुए धराशाही , राहुल और प्रियंका भी कांग्रेस का काँटा निकालने से नहीं बचा पाए 23 मई को जन्मे बच्चे का नाम रखा मोदीअशोक अरोड़ा ने अपने पद से दिया त्यागपत्रसिवानी मण्डी के किसानों ने फसलों के भुगतान की मांग की।पुतिन से लेकर ट्रंप तक, हर देश ने दी PM मोदी को बधाईभाजपा प्रत्याशी संजय भाटिया करीब 6 लाख 56 हजार 142 मतों से हुए विजयी* मतगणना शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न: जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त विनय प्रताप सिंहभाजपा के नवनिर्वाचित सांसद नायब सैनी ने कैथल में कार्यकर्ताओं के साथ मनाया जश्नजनता ने की भाजपा की नीतियों मे कि आस्था व्यक्त : सुर्या सैनीजनता ने प्रदेश सरकार व केन्द्र सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों पर लगाई अपनी मोहर : सुरेश कश्यप

Political

करनाल के पूर्व काग्रेंसी सांसद अरविन्द शर्मा के भाजपा मे शामिल होने से समर्थकों मे भारी खुशी

March 15, 2019 09:01 PM
प्रवीण कौशिक

करनाल से भाजपा के प्रत्याशी हो सकते हैं शर्मा ?
करनाल: प्रवीण कोशिक
आज डॉ अरविन्द शर्मा की उन अटकलों पर विराम लग गया कि अरविन्द शर्मा किस
पार्टी मे जायेंगे या आजाद के तौर पर करनाल से मैदान मे आ सकते हैं
क्योकि आज ठीक होली व चुनाव से पहले शर्मा ने भाजपा मे पदार्पण कर सभी
अटकलों पर फुल स्टाप लगा दिया है। ओर पूर्व काग्रेंसी सांसद शर्मा अब की
बार की होली भाजपा के साथ खेलेंगी। वहीं शर्मा के समर्थकों मे भारी खुशी
है। आपकों बता दें कि शर्मा पिछले कई महीनों से भाजपा के नेताओं के
सम्पर्क मे थे। कयास लगते रहे कि शायद शर्मा भाजपा मे जा सकते हैं। ओर आज
उन सभी कयासों पर पूर्ण विराम लग गया। उन्होने ख्ुाद एक ब्यान मे कहा  है
कि जीन्द उपचुनाव मे भी वे भाजपा के लिये काम कर चुके हैं। वहीं अरविन्द
शर्मा दो बार करनाल से सांसद रह चुके हैं। पिछले 15 सालों से वे करनाल
क्षेत्र मे जन जन तक पंहुच कर अपनी एक अलग पहचान बना चुके हैं।  लोकप्रिय
क्षेत्र के बारे मे उनका लोकप्रिय क्षेत्र करनाल ही है।
लोकसभा चुनाव 2019 से ठीक पहले हरियाणा से भाजपा के लिए बड़ी खबर आई है।
दरअसल, पूर्व सांसद अरविंद शर्मा ने कमल का फूल थाम लिया है। हरियाणा के
मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की मौजूदगी में अरविंद शर्मा ने बीजेपी
ज्वॉइन कर ली। अरविंद शर्मा कांग्रेस पार्टी की तरफ से 15वीं लोकसभा में
करनाल से सांसद रह चुके हैं।

 

 


  अरविंद शर्मा का राजनीतिक कैरियर-
डॉ अरविंद शर्मा के राजनीतिक कैरियर के तौर पर उन्होंने 1996 में 11वीं
लोकसभा के चुनाव में सोनीपत सीट से आजाद उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ा
था। इसमें उनकी जीत हुई थी। इसके बाद वे शिवसेना के प्रदेश अध्यक्ष रहे
और रोहतक लोकसभा से चुनाव लड़ा, लेकिन वहां से वे हार गए। इसके बाद वे
कांग्रेस में शामिल हो गए। इस पार्टी से उन्होंने करनाल लोकसभा से 2004
और 2009 में चुनाव लड़ा। दोनों बार जीत हासिल की, तीसरी बार 2014 के
लोकसभा चुनाव में भाजपा के अश्विनी चोपड़ा ने उनके विजयरथ को रोक दिया।
फिर उन्होंने कांग्रेस छोड़ दी और बसपा ज्वॉइन की। बसपा की ओर से अरविंद
शर्मा ने विधानसभा चुनाव 2014 लड़ा, लेकिन इसमें भी वे हार गए। उसके बाद
शर्मा ने बसपा भी छोड़ दी और इन दिनों वे किसी पार्टी के सदस्य नहीं थे।
लेकिन अब अचानक भाजपा ज्वॉइन करने से लोकसभा चुनाव 2019 का मुकाबला थोड़ा
और रोमांचक हो सकता है।
इस सम्बध मे लोगों से हुई बातचीत मे सामने आया कि भाजपा मे टिकटार्थियों
की लम्बी लाईन नजर आ रही थी शर्मा की मजबुती व इनकी जनहित छवि को देखते
हुये भाजपा अगर शर्मा पर करनाल से दाव खेलती ह ैतो शर्मा को उनकी छवि का
फायदा मिलने की सम्भावनाये जताई गई है। करनाल का चुनाव रोमांचक हो सकता
है।

Have something to say? Post your comment

More in Political

भाई किन्ने ही पूछ लियो, बणेगा तो यू मोदी यै : मनोहर लाल

नरेंद्र मोदी का हाथ मजबूत करने का काम प्रदेश की जनता करेगी : रामबिलास शर्मा

सोनीपत बनी सबसे हॉट सीट, राजनीति के दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर

श्रुति चौधरी के नामांकन पर उमड़ी भीड़ ने बदले राजनैतिक समीकरण

कृष्णपाल गुर्जर ने चुनावी सभा में मनमोहन गर्ग को दिया विधानसभा के लिये आशीर्वाद।

उचाना हल्का से अनुराग खटकड़ इनेलो के सबसे मजबूत उमीदवार

चुनावी समय में नेता पहुंचने लगे हैं पंडितों की शरण में जीत के लिए अपना रहे हैं ज्योतिष के टोटकें

चप्पल व झाडू मिलकर करेंगे विपक्षी पार्टियों का सफाया: दुष्यंत चौटाला

हिसार में भाजपा ने अपने पैरों पर मारी कुल्हाड़ी,बृजेंद्र सिंह को टिकट देकर हाथ आई जीत गंवाई

भाजपा की सोच दलित विरोधी: रणदीप सुरजेवाला