Thursday, June 20, 2019
 
BREAKING NEWS
मिशन 2024 पर निकले रणदीप सुरजेवाला,किसान कांग्रेस के जरिए पूरे प्रदेश में समर्थकों को किया एडजैस्टहिमाचल में बस 500 फीट गहरी खाई में गिरी, 28 की मौत; 32 घायलफरीदाबाद की एक और बेटी तनीषा दत्ता ने किया देश का नाम रौशनयोग करता है मन की वृतियों को नियंत्रण में, होती है मानसिक, शारीरिक, अध्यात्मिक स्वास्थ्य की प्राप्ति : आरके सिंहभाजपा आईटी सेल के बनाए ग्रुपों में राजकुमार सैनी के खिलाफ अफवाह चलाने की चर्चाएं !करवाएंगे केस दर्ज : सैनीकैथल खाद्य एवं आपूर्ति विभाग को कैशलेस करने की योजना !कैथल की सरकार पर भ्रष्टाचार मामले में एफआईआर दर्ज होने के बाद भी कोई कार्रवाई न होना बना रहा हास्यास्पद स्थिति !नही चले अयुष्मान कार्ड, बेटे के ईलाज के लिए दर-दर भटक रहे परिजनमर रही थी गाये, न खाने के लिए प्रर्याप्त चारा न की जाती थी देखभाल डीसीआरयूएसटी में एम.एससी. कैमिस्ट्री बना हुआ है टॉप च्वाइस. कैमिस्ट्री में 261 व पीएच.डी में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में 85 ने किया आवेदन

Haryana

कुताना--शवों को रखकर धरना-प्रदर्शन करते हुए रिफाइनरी अधिकारियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की

March 23, 2019 08:47 PM
प्रवीण कौशिक

कुताना/घरौंडा : 23 मार्च
कुताना चौंक पर टैंकर में वेल्ंिडग करते समय हुए विस्फोट में बाप-बेटे की मौत
के मामले में कुताना-ददलाना व अन्य गांवों सैकडों ग्रामीणों ने दोपहर के समय
रिफाइनरी गेट पर दोनों शवों को रखकर धरना-प्रदर्शन करते हुए रिफाइनरी
अधिकारियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। ग्रामीणों ने रिफाइनरी के संबधिंत
अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाही करते हुए पूरे मामले की निष्पक्षता से जांच
करने व परिवार को आर्थिक सहायता देने की बात मांग की। ग्रामीणों पर उग्र रूप
देखकर रिफाइनरी भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया। देर शाम तक ग्रामीण अपनी
मांगों को लेकर रिफानरी गेट पर डटे रहे। देर शाम को पुलिस के आला अधिकारी
द्वारा विभागीय अधिकारियों के खिलाफ व ठेकेदारों के प्रतिनिधिमडल द्वारा
आर्थिक सहातया की मांग पूरी करने का आश्वासन देने पर ग्रामीणों ने धरना
प्रदर्शन समाप्त कर दिया।
बता दे कि शुक्रवार को दोपहर बाद करीब डेढ़ बजे कुताना चौंक पर सुरजीत
इंजीनियरिंग की दुकान पर दुकान मालिक सुरजीत व उसका पुत्र सोनू इंडियन ऑयल
रिफाइनरी से आए एक ऑयल टेंकर की वैल्डिंग से टैंकर की रिपेयर कर रहे थे।
रिपेयर करते समय टैंकर में लगी आग से ब्लास्ट हो गया। ब्लास्ट के बाद टैंकर का
पिछला हिस्सा फटकर कई मीटर दूर जा गिरा। टैंकर से हुए रिसाव से मिस्त्री की
दुकान में आग लग गई। दुकानदारों ने तुरंत फायर ब्रिगेड को सूचना दी गई थी।
हादसे में दुकान मालिक कुताना निवासी सुरजीत व उसके पुत्र सोनू की मौके पर ही
मौत हो गई थी। जबकि रजापूर निवासी स्वर्ण सिंह व बालपबाना निवासी अजय घायल हो
गए थे। आगजनी व विस्फोट की इस घटना मेें दुकान की सभी मशीनें व बाहर खड़ी दो
बाइकें भी आग की भेंट चढ़ गई थी।
पुुलिस ने शनिवार को बाप व बेटे के शव का  पोस्टमार्टम कराकर वारिसों को सौप
दिया। परिजन सैकड़ो महिला-पुरूषों सहित दोनों शवों को लेकर रिफाइनरी  गेट पर
पहुंच गए और गेट पर शव रखकर रिफाइनरी अधिकारियों के खिलाफ जमकर  नारेबाजी शुरू
कर दी। रिफाइनरी गेट पर धरना प्रदर्शन होता देख पुलिस प्रशासन मुस्तैद हो गया।
सूचना मिलते ही डीएसपी पानीपत बिजेंद्र ङ्क्षसंह, एसएचओ मतलौडा मोहन लाल व भारी
संख्या में पुलिस बल ने रिफाइनरी गेट को सुरक्षा की दृष्ठि से घेर लिया।
ग्रामीण रिफाइनरी गेट के सामने दोनेा शवों को रखकर बैठ गए। पुलिस प्रशासन ने
प्रदर्शनकारियों को काफी समझाने की कोशिश की, लेकिन ग्रामीण संबधिंत अधिकारियों
के खिलाफ, मामले की निरूपक्षता से जांच व पीडि़त परिवार को आर्थिक सहायता देने
की मांग की। ग्रामीणों का कहना था कि टैंकर में जिस प्रकार से कैमिकल बाहर ले
 जाया गया था वह सारा रिफाइनरी अधिकारियों की मिलीभगत से संभव हो सकता
है, क्योंकि रिफाइनरी से कोई भी कच्चा व दूसरा प्रदार्थ बिना बारीकी की जांच
पड़ताल के बाहर नहीं निकाला जा सकता।
कमेटी के सामने रिफाइनरी अधिकारियों ने खड़े किए हाथ।
विस्फोट में पिता-पुत्र सुरजीत व सोनू की मौत की से गुस्साए  कुताना व आसपास
के सैकड़ों ग्रामीण ठीक 1 बजे रिफाइनरी गेट पर पहुंच गए थे और तीन बजे  तक
उन्होंने रिफइनरी अधिकारियों के खिलाफ जमकर वबाल काटा। तीन घंटे बीत जाने के
बाद जब कोई बड़ा अधिकारी प्रदर्शनकारियों से मिलने बाहर नही आया तो डीएसपी
बिजेंद्र सिंह ने मध्यस्ता करते हुए ग्रामीणों को रिफाइनरी अधिकारियों से अंदर
जाकर मिलने की बात कही। ग्रामीणों ने सात सदस्सीय कमेटी बनाई। जिनमें कुताना
के सरंपच बलवान, पूर्व सरपंच  जोगा सिंह, ददलाना पूर्व सरपंच नरेंद्र
राणा, सिठाना के सरंपच सतपाल, समाजेसवी यशपाल राणा व मृतकों का रिश्तेदार शामिल
हुआ। अंदर  जाकर रिफाइनरी अधिकारियों से मिला और अपना आक्रोश प्रकट किया व
मामले में लापरवाही बरत रहे रिफाइनरी के तीन अधिकारी पीके सिन्हा, मनोज कुमार व
नामदेव के खिलाफ कार्रवाही करते हुए परिवार को आर्थिक सहायता देने की बात कही।
करीब दो घंटे की बातचीत में जब कोई निष्कर्ष नही निकला तो सभी सदस्य बाहर आ गए।
रिफाइनरी अधिकारियों की मिलीभगत से होती है चोरी।
कमेटी के सदस्य सरपंच बलवान  व अन्य ने बताया कि तीनों अधिकारियों की मिलीभगत
से रिफाइनरी से इस प्रकार का विस्फोटक प्रदार्थ चोरी-छुपे बाहर भेजा जाता है।
अगर टैंकर में यह विस्फोटक प्रदार्थ नही होता तो शायद सुरजीत व सोनू की जान बच
सकती थी। रिफाइनरी अधिकारी मि0 गिगोई से दो घंटे तक बातचीत हुई। जिसमें
अधिकारी ने पूरे मामले से पल्ला झाडते हुए कहा कि हादसा रिफाइनरी के बाहर को
है। रिफाइनरी अधिकारियों की बात सुनकर कमेटी के सदस्य बाहर आ गए और ग्रामीणों
ने फिर अधिकारियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी शुरू कर दी।
ठेकेदारों के प्रतिनीधिमंडल ने दिया आर्थिक सहायता का आश्वासन।
रिफाइनरी अधिकारियों व आर्थिक सहायता की मांग को लेकर ग्रामीण गेट पर अड़े
रहे। पंाच घंटे तक प्रदर्शनकारी गेट से नही हिले। तब जाकर ठेकेदारो को
प्रतिनीधिमंडल ग्रामीणों से और उन्होंने मृतकों व घायलों के परिजनों को आर्थिक
सहायता का आश्वासन दिया।
वर्जन-
डीएसपी बिजेंद्र ङ्क्षसह ने बताया कि टैंकर विस्फोटक मामले में पिता-पुत्र की
मौत को लेकर ग्रामीण धरने पर बैठे है और उन्होंने रिफाइनरी के कुछ अधिकारियों
पर लापरवाही का आरोप लगाया है। शिकायत मिलते ही कार्रवाही कर दी जाएगी।
वर्जन-
कुताना चौक पर टैंकर में ब्लास्ट होने से दोनो लोगों की मौत हो गई थी व दो
व्यक्ति घायल है। जिसको लेकर ग्रामीण रिफाइनरी अधिकारियों से मिले थे। संबधिंत
ठेकेदार से चारों को छह-छह लाख की आर्थिक सहायता दिलाने की बात कही है।
जे.ए.एन कौरेरा-रिफाइनरी पीआरओ।

Have something to say? Post your comment

More in Haryana

फरीदाबाद की एक और बेटी तनीषा दत्ता ने किया देश का नाम रौशन

योग करता है मन की वृतियों को नियंत्रण में, होती है मानसिक, शारीरिक, अध्यात्मिक स्वास्थ्य की प्राप्ति : आरके सिंह

भाजपा आईटी सेल के बनाए ग्रुपों में राजकुमार सैनी के खिलाफ अफवाह चलाने की चर्चाएं !करवाएंगे केस दर्ज : सैनी

कैथल खाद्य एवं आपूर्ति विभाग को कैशलेस करने की योजना !

कैथल की सरकार पर भ्रष्टाचार मामले में एफआईआर दर्ज होने के बाद भी कोई कार्रवाई न होना बना रहा हास्यास्पद स्थिति !

मर रही थी गाये, न खाने के लिए प्रर्याप्त चारा न की जाती थी देखभाल

डीसीआरयूएसटी में एम.एससी. कैमिस्ट्री बना हुआ है टॉप च्वाइस. कैमिस्ट्री में 261 व पीएच.डी में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में 85 ने किया आवेदन

हरियाणा में आई नौकरिया ,हरियाणा विधानसभा, उच्च न्यायालय और जिला न्यायालयों के लिए

मनोहर लाल खुद करते है सरल पोर्टल की निगरानी ,कोई अधिकारी सरल पोर्टल के प्रति लापरवाही करेगा तो उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही

धरोदी माईनर को भाखड़ा नहर से जोडऩे की मांग पर 11 गांवों का अनिश्चितकालीन धरना शुरू