Thursday, May 23, 2019
BREAKING NEWS
भाजपा के नवनिर्वाचित सांसद नायब सैनी ने कैथल में कार्यकर्ताओं के साथ मनाया जश्नजनता ने की भाजपा की नीतियों मे कि आस्था व्यक्त : सुर्या सैनीजनता ने प्रदेश सरकार व केन्द्र सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों पर लगाई अपनी मोहर : सुरेश कश्यपपरिवारवाद हारा,जनता जीती -मनोहर लाल मां ने जींद जिले में तो अब बेटे ने हिसार में खिलाया कमलतंवर की प्रधानगी में हर चुनाव हारी कांग्रेस, हुड्डा की दावेदारी भी खतरे मेंचार्जशीट पर बोले कुछ पार्षद, पार्षद प्रतिनिधि व नेता करते हैं निजी कार्यों के लिए ब्लैकमेल ,इसलिए करते हैं ऐसी बेतुकी बातें : सिंहकैथल पुलिस चौकना ,महिला पुलिस व अर्धसैनिक बल के करीब 850 कर्मचारी व अधिकारी तैनात रहेगेकेंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह के गोद लिए मांडी गांव के राजकीय हाई स्कूल को जड़ा ग्रामीणों ने ताला 134ए के तहत गरीब बच्चों को पढ़ाने की एवज में स्कूलों को मिले 36 करोड़

Uttar Pradesh

बहकाना और भटकाना ही भाजपा का एजेण्डा - अखिलेश यादव

March 31, 2019 06:59 PM
सुरजीत यादव अमेठी

बहकाना और भटकाना ही भाजपा का एजेण्डा - अखिलेश यादव

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा है कि लोकसभा चुनावों में जनता को बहकाने और भटकाने का खेल भाजपा का एजेण्डा है। पांच साल केन्द्र में और दो साल राज्य में भाजपा की सरकारों ने प्रशासन और सत्ता का सिर्फ दुरुपयोग करना सीखा और जनहित में कोई कदम नहीं उठाया, अब जब मतदाताओं के सामने जाने का मौका आया है तो वे फरेब के साथ कामों का इंद्रजाल दिखाकर भ्रम फैलाना चाहते हैं।

श्री यादव ने कहा कि भाजपा की विकास में कभी कोई रूचि नहीं रही। गरीब, किसान, नौजवान के हितों की भी उसने कभी सुध नहीं ली। मंहगाई बढ़ती गई, किसान आत्महत्या करते रहे, व्यापारी लुटते रहे हैं, व्यापारियों की हत्याएं हो रही है और महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। भाजपा को कभी इनकी चिंता नहीं हुई। गरीब और गरीब होता गया। देश के कुल आधा दर्जन घरानों में देश की पूंजी समाहित हो गई। जनता की गाढ़ी कमाई बैंकों में जमा हुई जिसे लेकर बड़े उद्योगपति विदेश भाग गए।

भाजपा का वादा था कि सत्ता में आने के 14 दिनों के अंदर गन्ना किसानों का बकाया अदा कर दिया जाएगा। दो साल हो गए गन्ना किसान आज भी बकाये के लिए मिलों का चक्कर लगा रहा हैं। अब किसानों को धोखा देने के लिए गन्ना किसानों का मतदान से पहले कुछ बकाया अदा करने का दिलासा दिया जा रहा है। यह काम चुनावी आचार संहिता की धज्जियां उड़ाने का होगा। इसका चुनाव आयोग को संज्ञान लेना चाहिए क्योंकि यह सीधा-सीधा मतदाता किसान को प्रलोभन देना है।

प्रधानमंत्री जी के वादों का पूरा होना अब पूरी तरह नामुमकिन हो गया है। इसलिए वे दूसरों की आलोचना तो खूब कर रहे है परन्तु कहीं यह हिसाब नहीं देते कि सन् 2014 में उन्होंने जो वादे किए थे उनका क्या हुआ? इसकी जगह वे नए-नए मुद्दे उछाल रहे हैं। बिडम्बना है कि अब तक शून्य रिपोर्ट कार्ड वाले मुख्यमंत्री जी भी उन्हीं की भाषा बोल रहे है। ये सब एक झूठ सौ बार दुहराने से सच हो जाता है। भाजपा नेता चाहे जितनी कवायद करें, मतदाता उनकी रग-रग से वाकिफ हो चला है। उसे मालूम है कि पिछले वादों की तरह नए वादे भी भूल भुलैया साबित होंगे। इन चुनावों में लोकतंत्र और संविधान की मर्यादाओं की सुरक्षा का प्रश्न भी महत्व का है। देश की एकता में दरारे पैदा करनेवाली नफरत की राजनीति के दिन अब गिने चुने रह गए हैं। ईवीएम मशीनों पर बटन दबाकर उत्तर प्रदेश में जनता समाजवादी पार्टी गठबंधन के प्रत्याशियों को ही विजयी बनाएगी। भाजपा को उत्तर प्रदेश में अब एक भी सीट मिलने के लाले पड़ सकते है।

Have something to say? Post your comment

More in Uttar Pradesh

कई अधिकारियों के निलंबन का फरमान,हाईकोर्ट का यूपी में चल रहे सभी रेड लाइट एरिया बंद करने का आदेश

छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किया बरसण्डा गॉव में चुनावी जनसभा को सम्बोधित

हम महिलाओं को देंगे 6 हजार रूपये महीने, मोदी से डरती है मीडिया- राहुल गांधी

ललित कला अकादमी अलीगंज में कलाकारों का सम्मान, कला प्रदर्शनी का समापन

अजय क्रांतिकारी व रवि अग्रहरी पत्रकार की सहायता से घायल बेजुबान बैल को मिला नया जीवनदान

योगी आदित्यनाथ 72 घंटे तक मायावती 48 घंटे तक चुनाव प्रचार नही करेंगे

10 दिन के अंदर मिलेगा ड्राइविंग लाइसेंस, आज से बदल जाएगी व्यवस्था

झूठी खबर फैलाने वाले बीएसपी एजेंट पर मुकदमा दर्ज।

यूपी-उत्तराखंड : गाजियाबाद, बिजनौर और बागपत से ईवीएम खराब होने की खबरें, मतदान प्रभावित

गठबंधन में पश्चिमी उत्तर प्रदेश–‘लाठी, हाथी और 786