Tuesday, June 25, 2019
 
BREAKING NEWS
नगर परिषद कैथल के सफाई कर्मचारियों ने सर्वसम्मति से अंगूरी देवी को चुना प्रधान पत्रकार संघ के प्रदेशाध्यक्ष बने तरावड़ी के संजीव चौहानलाड़वा हल्के मे मल्टीपल खेल स्टेडिरूम बनवाना होगा प्राथमिकता : संदीप गर्गमुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व मे लाड़वा हल्के ने छुए विकास के नए आयाम : पवन सैनी भाजपा विधायक ने मंत्री के सामने लगाए एसपी मुर्दाबाद के नारेये मर्द बेचारा फिल्म की फरीदाबाद में हो रही शूटिंगअमेठी में पंचायत उपचुनाव को लेकर बजा बिगुल, डॉ योगेश कुमार बनाये गये बाजार शुक्ल चुनाव अधिकारीशाहाबाद- निजी अस्पताल में चल रहा था सेक्स रैकेट, कई पकडे गए नए-नए कानून योजना तुरंत बणा दिए तैयार तनै,हरियाणा में ठाठ ला दिए बीजेपी सरकार तनै-डीपीआरओ युवा चेहरों को मौका मिला तो बदल जाऐंगे राजनीति के मायने

Crime

कैथल पुलिस ने दो निर्दोष नागरीकों को नशा तस्करी मामले में फंसानें के प्रयास नाकामयाब किया

April 07, 2019 04:09 PM
राजकुमार अग्रवाल
कैथल पुलिस ने दो निर्दोष नागरीकों को नशा तस्करी मामले में फंसानें के प्रयास नाकामयाब  किया 
कैथल (राजकुमार अग्रवाल )नशा रोधक दस्ता तथा सीआईए-टू पुलिस द्वारा दो अलग-अलग मामलों में सुझबूझ व सतर्कता का परिचय देते हुए एक महिला सहित दो निर्दोष नागरीकों को नशा तस्करी मामले में फंसानें के प्रयास नाकामयाब कर दिया गया। पुलिस द्वारा जांच के दौरान 3 असल नशा तस्कर गिरफ्तार कर लिए गये, जिनमें एक महिला भी शामिल है। घटनास्थल व आसपास क्षेत्र में आमजन के मध्य पुलिस द्वारा पारदर्शी कार्य प्रणाली तहत दुघ का दुध पानी का पानी करने के देर शाम तक चर्चे चलते रहे। आरोपियों द्वारा निर्दोषों को फंसाने में प्रयुक्त किये गए नशे सहित पुलिस द्वारा कुल 7.005 ग्राम स्मैक तथा 579.770 ग्राम अफीम बरामद कर ली गई, तथा तीनों आरोपी रविवार को अदालत के आदेशानुसार न्यायिक हिरासत में भेज दिए गये।
 
 
 
 
 
 
 
 
 
    पुलिस अधीक्षक वसीम अकरम ने विस्तृत जानकारी देते हुए पहले मामले के बारे में बताया कि नशा रोधक दस्ता के सहायक उपनिरिक्षक बलराज के मोबाईल फोन पर 5 अप्रैल की शाम एक कथित पुलिस सहयोगी का स्वम् को करनाल सीआईए पुलिस का कर्मचारी बताते हुए फोन आया कि मैं आपको स्मैक पकड़वा सकता हूं। पुलिस ने उसको आश्वस्त किया कि वे उसकी सुचना अनुसार अभी तुरंत रेड करने को तैयार है, तो उसने अगली सुबह सुचना देने की कहते हुए फोन काट दिया। अगली दिन 6 अप्रैल की सुबह गुप्तचर के मोबाईल फोन पर संपर्क करने पर जब उसने बताया कि मामला करनाल रोड़ का है, तो नशा रोधक दस्ता तुंरत करनाल बाईपास पहुंचा, जहां उसने खुद को पुलिस कर्मचारी बताते हुए एएसआई बलराज को एकांत में लेजाकर सुचना दी कि, गोल्डन मैरिज पैलेस के पीछे एक व्यक्ति की परचुन की दुकान है, जिसके मायापुरी कालोनी स्थित किराया मकान की छत पर कुर्सी व वाशिंग मशीन के नजदीक रखे काले रंग के लोहा ट्रक अंदर कपडों में काले रंग की पन्नी में स्मैक है। पुलिस द्वारा मामले की जानकारी डीएसपी मुख्यालय कुलवंत सिंह को देकर कालोनी में दबिश दी गई। मौका पर पहुंचने उपरांत पुलिस को मकान मालिक दीपक तथा किराएदार दुकानदार का नाम दीपक निवासी डीग को साथ लेकर मकान की छत चैक की, तो वहां पर गुप्त सुत्र द्वारा दी गई जानकारी अनुसार कुर्सी, ट्रक आदी मिले, परंतु मकान की लोकेशन अनुसार पुलिस कोकिसी निर्दोष को फसांने का संदेह हुआ। तभी कथित पुलिस सहयोगी का एएसटी के पास फोन आ गया, जिसने पूछा की माल मिल गया क्या, तो एएसआई बलराज ने कहा कि आपने झूठी सुचना दी है, जिस कारण मेरा ईचार्ज नाराज हो गया, आप खुद आकर मिलें, जिस पर आसपास ही मौजूद उस व्यक्ति ने पहले तो साथ चलने से मना कर दिया, लेकिन पुलिस के कहने पर उसने ट्रक में रखी प्लास्टिक पन्नी खुद छत पर जाकर बरामद करवाई। डीएसपी कुलवंत सिंह के मौका पर पहुंचने उपरांत जांच के दौरान संदिग्ध संदीप निवासी बलाना जिला पानीपत द्वारा बरामद करवाई गई पन्नी से 7.005 ग्राम स्मैक हुई। गहन पूछताछ उपरांत आरोपी संदीप ने सच कबूलते हुए पुलिस को बताया कि उसने कुछ दिन पहले पानीपत में होमगार्ड की नौकरी की थी। दो अप्रैल की अर्धरात्री जब वह इस मकान के साथ लगते मकान में रहने वाली स्मैक का धंधा करने वाली अपनी विधवा रिश्तेदार से मिलने आया तो उसने शराब पी रखी थी। जोर-जोर से आवाज लगाते समय उसके मकान का पडौसी दीपक मौका पर आ गया, जिसने ना तो विमला को जगाने के लिए फोन करने हेतू अपना फोन दिया, अपितू अन्य के साथ मिलकर उसके साथ मारपीट भी की गई। बाद में वह देर रात अपनी रिश्तेदार महिला के घर गया, जहां पर दोनों ने उसको फंसाने की योजना तहत उसके मकान की छत पर ट्रक के अंदर स्मैक रखी थी। 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
    मौका पर पहुंचे सिविल लाईन पुलिस के एसआई भागीरथ द्वारा आरोपी को गिरफ्तार कर उसके कब्जा से एक मोबाईल फोन व 560 रुपए नकदी बरामद की गई तथा जांच के दौरान आरोपित महिला को भी गिरफ्तार कर लिया गया। इसी प्रकार के एक अन्य मामले की जानकारी देते हुए एसपी ने बताया कि सीआईए-टू पुलिस के सहायक उपनिरिक्षक उज्जवल सिंह की टीम द्वारा डीएसपी गुहला प्रमोद कुमार की मौजूदगी दौरान एक गुप्त सुचना मिलने पर कांगथली निवासी एक महिला के मकान की छत पर रखी लकडिय़ों के अंदर रखा हुआ एक गत्ते का डिब्बा बरामद किया गया, जिसके अंदर छोटी-छोटी 42 प्लास्टिक डिब्बियों के अंदर से खाली डिब्बियों का वजन काटकर एक लाख रुपए से ज्यादा मूल्य की कुल 553.770 ग्राम अफीम बरामद हुई। थाना सीवन पुलिस के सहायक उपनिरिक्षक सुभाष द्वारा जांच के दौरान किसी व्यक्तिगत रंजिश के चलते महिला की छत पर अफीम रखने वाले करीब 57 वर्षीय आरोपी मलकित उर्फ पोला पुत्र बच्चन सिंह निवासी सैर को दबिश देते हुए काबु कर लिया गया, जिसके कब्जा से इसी प्रकार की दो प्लास्टिक डिब्बियों के अंदर से 26 ग्राम अफीम बरामद हुई। पूछताछ दौरान देशी दवा-दारु का धंधा करने वाले आरोपी द्वारा महिला की छत पर अफीम रखना कबूल लिया गया।

Have something to say? Post your comment

More in Crime

शव नग्नावस्था में मिला,बेरहमी से सिर में ईंट माकर हत्या

नैन ट्रैवलस एजेंसी कैथल पर छापामारी क्रिकेट मैच पर सट्टा बुकिंग कर रहे 9 आरोपी काबु

पिस्तौल की नोक पर अपरहण करने के मामले में पुलिस द्वारा 3 आरोपी गिरफ्तार

व्यापारी के नाबालिग बेटे ने कार से नाना-नाती कुचले

पत्नी पर जानलेवा हमला करने वाले राजन अदलक्खा पर हत्या के प्रयास का मामला दर्ज

चोर गिरोह के 4 सदस्यों ने पुलिस रिमांड दौरान चोरी करना कबूला

नौकर की हत्या, ढाबा मालिक गिरफ्तार

दो रुपये के सिक्के से लूट ली एक्सप्रेस, जींद रेलवे लाइन लुटेरों का खौफनाक सच

तरावड़ी शहर में सटोरियों का बाजार, पुलिस बेखबर,पुलिस से लगाई सटोरियों पर शिंकजा कसने की गुहार

हरियाणा के किस पूर्व विधायक को मिली जान से मारने की धमकी