Sunday, July 21, 2019
 
BREAKING NEWS
घरौंडा विधान सभा में क्षेत्रवाद व जातिवाद कि की जा रही है राजनीति:चंचल राणा बढ़ती चोरी की वारदातों पर अंकुश लगाने के लिए ग्राम पंचायतों का सहयोग जरूरी : नायब सिंहखंड स्तरीय प्राथमिक स्कूली खेलकूद प्रतियोगिता संपन्न, कई खेलों में खिलाडिय़ों ने अजमाए हाथपौधारोपण से पर्यावरण प्रदूषण की समस्या जड़ से खत्म हो जाएगी-सज्जन सिंहभारत वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में पर्यावरण की सुरक्षा के लिए पौधारोपण कार्यक्रम का आयोजनभाजपा नेत्री सन्तोष दनौदा ने हल्के के गांव राजगढ ढोबी, लोहचब व बदोवाला का दौरा कियागांव पिलनी में कलयुगी मां ने नवजात बच्ची को गंदे नाले में फेंका स्वच्छता हर रोग को नष्ट करने में सहायक : सूर्या सैनीकार्यकर्ता ही होते है पार्टी की रीड़ की हडड़ी : गणेश दत्तबारिश से गिरा सुरजन सिंह का मकान, निचे दबने से बाल बाल बचा परिवार

Entertainment

महिला आयोग ने देह व्यापार के रैकेट का किया भंडाफोड़, चार नाबालिग लड़कियां मुक्त कराईं

April 10, 2019 04:29 PM
अटल हिन्द ब्यूरो
महिला आयोग ने देह व्यापार के रैकेट का किया भंडाफोड़, चार नाबालिग लड़कियां मुक्त कराईं
नई दिल्ली(अटल हिन्द ब्यूरो ) दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) ने मंगलवार देर रात पहाड़गंज थाना पुलिस के साथ एक संयुक्त ऑपरेशन चलाते हुए पहाड़गंज के एक होटल में चल रहे देह व्यापार के रैकेट का भंडाफोड़ करते हुए चार लड़कियों को मुक्त करवाया है। पुलिस ने केस दर्ज कर उक्त मामले में एक एजेंट को गिरफ्तार किया है। डीसीडब्ल्यू की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल और सदस्य किरण नेगी को एक एनजीओ ‘मिशन रेस्क्यू ऑपरेशन’ से सूचना मिली कि मध्य दिल्ली स्थित पहाड़गंज में एक एजेंट देह व्यापार के लिए लड़कियों की आपूर्ति कर रहा है।
 
एजेंट गिरफ्तार
दिल्ली महिला आयोग की एक टीम दिल्ली पुलिस के साथ बताये गए होटल पर पहुंची और उसके कमरों में घुस गयी। उन कमरों से चार नाबालिग लड़कियों को रेस्क्यू किया गया, जहां पर वे ग्राहकों के साथ थीं। रेस्क्यू की गयी लड़कियों को शेल्टर होम भेज दिया गया है। पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपित एजेंट साहिल को गिरफ्तार कर लिया है। उसके पास से एनजीओ मिशन रेस्क्यू ऑपरेशन द्वारा फर्जी ग्राहक बनकर भेजे गए लोगों द्वारा निशान लगाये गए नोट बरामद किये गए। 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
परिवार के पालन पोषण के लिए किया यह काम
रेस्क्यू की गयी लड़कियों में से दो लड़कियां नेपाल, एक असम और एक बिहार से है। डीसीडब्ल्यू द्वारा काउन्सलिंग के दौरान उन्होंने बताया कि वह बहुत गरीब परिवारों से हैं और उनके परिवार में कमाने वाला कोई और नहीं है। लड़कियों ने बताया कि वे दिल्ली में हुई अपनी कमाई का उपयोग गांव में अपने परिवार के पालन पोषण के लिए करती हैं। उनको एक ग्राहक से 500 रुपये मिलते हैं। उनमें से आधे एजेंट ले लेता है। एजेंट मसाज करने, क्लब में डांस करने और देह व्यापार के लिए ग्राहकों की व्यवस्था करता था। डीसीडब्ल्यू ने बाल कल्याण समिति से उनके लिए अच्छे पुनर्वास करने का अनुरोध किया है। 
 
 
 
 
 
 
 
 
डीसीडब्ल्यू की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल ने दिया ये बयान
डीसीडब्ल्यू की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल ने कहा, “देश में नाबालिग लड़कियों की, खासकर नेपाल से लगातार तस्करी हो रही है। राजधानी में अवैध देह व्यापार पर कोई रोक नहीं लग पा रही है। चिंता की बात यह है कि इसके लिए और अधिक संख्या में छोटी लड़कियों की तस्करी की जा रही है। हम खतरा मोल लेकर रेस्क्यू ऑपरेशन करते हैं लेकिन समस्या यह है कि जब तक पुलिस द्वारा इन अपराधों की ठीक तरह से जांच नहीं की जाती है, तब तक यह सुनिश्चित नहीं किया जा सकता कि अभी कितनी और लड़कियां इन तस्करों के चंगुल में हैं।

Have something to say? Post your comment

More in Entertainment

*फ़िल्म "जबरिया जोड़ी" से सिद्धार्थ मल्होत्रा और एली अवराम पर फिल्माया गाना 'जिला हिलेला' हुआ रिलीज़!*

पुरुष चार हजार व स्त्री लाख बार सम्भोग से गुजर सकती है

ये मर्द बेचारा फिल्म की फरीदाबाद में हो रही शूटिंग

शाहाबाद- निजी अस्पताल में चल रहा था सेक्स रैकेट, कई पकडे गए

68 साल के बुजुर्ग के साथ 19 साल की लड़की पकड़ी

म्यूजिक जगत में खास पहचान बनाने के लिए उसकी बारीकियों को जानना जरूरी : वर्मा

मौसी ने अपनी ही भांजी के साथ करवाया दुष्कर्म

छोड़ा खुला कैमरा, आकर देखा तो दोस्त के साथ पत्नी का दिखा अतरंग वीडियो

सोनू सिंह के सौजन्य हुआ होली मिलन समारोह, पहुंचे कई दलों के राजनीतिक दिग्गज

राजौंद -पुलिस कर्मी महिला से साथ मिले आपत्तिजनक अवस्था में , ग्रामीणों ने जमकर की धुनाई