Thursday, May 23, 2019
BREAKING NEWS
भाजपा के नवनिर्वाचित सांसद नायब सैनी ने कैथल में कार्यकर्ताओं के साथ मनाया जश्नजनता ने की भाजपा की नीतियों मे कि आस्था व्यक्त : सुर्या सैनीजनता ने प्रदेश सरकार व केन्द्र सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों पर लगाई अपनी मोहर : सुरेश कश्यपपरिवारवाद हारा,जनता जीती -मनोहर लाल मां ने जींद जिले में तो अब बेटे ने हिसार में खिलाया कमलतंवर की प्रधानगी में हर चुनाव हारी कांग्रेस, हुड्डा की दावेदारी भी खतरे मेंचार्जशीट पर बोले कुछ पार्षद, पार्षद प्रतिनिधि व नेता करते हैं निजी कार्यों के लिए ब्लैकमेल ,इसलिए करते हैं ऐसी बेतुकी बातें : सिंहकैथल पुलिस चौकना ,महिला पुलिस व अर्धसैनिक बल के करीब 850 कर्मचारी व अधिकारी तैनात रहेगेकेंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह के गोद लिए मांडी गांव के राजकीय हाई स्कूल को जड़ा ग्रामीणों ने ताला 134ए के तहत गरीब बच्चों को पढ़ाने की एवज में स्कूलों को मिले 36 करोड़

Fashion/Life Style

23 कन्याओं के विवाह का साक्षी बनेगा शहर नरवाना

April 20, 2019 08:05 PM
नरेन्द्र जेठी
23 कन्याओं के  विवाह का साक्षी बनेगा शहर नरवाना
नरवाना (अटल हिन्द /नरेन्द्र जेठी)  हुड्डा ग्राऊंड नरवाना में नारायण सेवा संस्थान उदयपुर की शाखा नरवाना द्वारा आयोजित बाल व्यास जया किशोरी की तीन दिवसीय कथा के तीसरे दिन नरसी का भात धूमधाम से भरा गया। तीसरे दिन कथा सुनने के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु पंडाल में पहुंचे। नानी बाई रो मायरो कथा से पूर्व जया किशोरी का ढोल की थाप पर जोरदार स्वागत किया गया। इससे पूर्व कथा का शुभारम्भ दीप प्रज्जवलन, मगलाचरण के साथ हुआ। नरसी भात कार्यक्रम का तीसरा दिन भाव और त्याग प्रसंग के सार के साथ शुरू किया गया। 
बाल व्यास जया किशोरी ने कथा का शुभारंभ करते हुए कहा कि नानी बाई का पत्र मिलने पर नरसी बहुत दुखी होता है कि गरीबी के कारण नातिन को भात कैसे पहनाऊंगा यही सोचकर नरसी वह पत्र भगवान कृष्ण की मंदिर में चरणों में रख देते हैं। नरसी पुत्री के यहां जाते हैं रास्ते में उनकी गाड़ी टूट जाती है जिसे कृष्ण भगवान बढ़ई का रूप बनाकर ठीक करते हैं। नरसी की बहन नरसी को खाली हाथ देखकर वापस जाने को कहती हैं और हताश होकर नदी में डूबने को जाती है। इस पर भगवान कृष्ण सांवल शाह बनकर नाना बाई को बचाते हैं और कहते हैं कि मैं भात की सारी सामग्री लाया हूं। नाना बाई वापस घर आती है। अच्छे ढंग से से भात भरा जाता है। नरसीभगत की हुंडी तारी, सांवल सा बन आए बिहारी। अर्थात भगवान श्रीकृष्ण ने सांवल शाह रूप धारण कर नरसी भगत का बोझ चिंता खत्म की। भगवान ने स्वयं अपने भक्त नरसी का मुनीम बन संतों की पूंजी को लौटाया। कथा के समापन पर किशोरी के भजनों पर शहरवासियों ने नाच कर आन्नद लिया। किशोरीजी ने जैसे ही किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए, जुबा पे राधा राधा नाम हो जाए। जब गिरते हुए मैंने तेरे नाम लिया है तो गिरने ना दिया तूने, मुझे थाम लिया है भजन गाया तो सभी भक्त उठकर झूमने लगे। इस दौरान कई आकर्षक झांकी भी सजाई गई। जो भक्तों के बीच आकर्षण का केंद्र रही। कथा के बाद सभी श्रृदालूओं को प्रसाद वितरण किया गया। कथा के समापन पर समाजसेवियों व दानी सज्जनों को विशेष तौर पर सम्मानित किया गया। नारायण सेवा संस्थान द्वारा कई दिव्यांगों को व्हील चेयर व ट्राई साईकिल भी दी गई। बेटी बचाओ समाज कल्याण मंच द्वारा कथावाचक जया किशोरी को उनके द्वारा समाज में अपनी कथाओं के माध्यम से बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान में दिए जा रहे अनमोल योगदान के लिए संस्था द्वारा जीन्द रत्न सम्मान से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर संस्था प्रदेश अध्यक्ष विजयपाल नैन व अचल मित्तल प्रमुख समाज सेवी ने जया किशोरी को सम्मान पत्र व सम्मान सूचक पगड़ी भेंट करके सम्मानित किया। इस मौके पर नारायण सेवा संस्थान के हरियाणा संयोजक धर्मपाल गर्ग , शाखा अध्यक्ष रमेश मितल , जयभगवान , संजय मितल, अभय मितल, संजय भारद्वाज, नरेश वत्स , रमेश वत्स , कर्मचंद मितल , मोनू सिंगला, निखिल मित्तल, भूपेश गोयल, अनिल वत्स, राजेन्द्र गर्ग, अचल मितल, अनीता गोयल, रमेश सिंगला, राहुल सिंगला, दिनेश गोयल सहित सहित गणमान्य मोजूद रहे। 
23 दूल्हनों को लगाई मेहंदी:-
रविवार को आयोजित सामूहिक विवाह की पूर्व सध्यां पर मेहंदी रस्म का आयोजन किया गया। जिसमें अग्रवाल महिला मंच की  सदस्यों द्वारा 23 दूल्हनों को  मेहंदी लगाई गई। 
पूरे रिति रिवाजों के अनुसार महिला संगीत का कार्यक्रम आयोजित किया गया। सदस्य अभय मितल ने बताया कि दिव्यांग व निर्धन कन्याओं का सामूहिक विवाह की तैयारियां पूर्ण है। 
आज 23 कन्याओं के  विवाह का साक्षी बनेगा शहर नरवाना :-
आज नरवाना शहर 23 कन्याओं के विवाह का साक्षी बनेगा। रविवार को हुड्डा ग्राऊंड में नारायण सेवा संस्थान नरवाना शाखा द्वारा 23 कन्याओं का सामूहिक विवाह का आयोजन किया जाएगा। हरियाणा संयोजक धर्मपाल गर्ग ने बताया कि लोगों में इस समारोह को लेकर काफी उत्साह है। उन्होंने बताया कि रविवार सुबह बैडबांजों के साथ घुड़चढी के द्वारा सभी दूल्हों को विवाह स्थल तक लाया जाएगा। उन्होने बताया कि विवाह समारोह में वरमाला रस्म के द्वारा फेरे करवाए जाएगें। गर्ग ने बताया कि एक जोड़ें का सिख रिति रिवाज से विवाह सम्पन्न करवाया जाएगा। 

Have something to say? Post your comment

More in Fashion/Life Style