Thursday, May 23, 2019
BREAKING NEWS
भाजपा के नवनिर्वाचित सांसद नायब सैनी ने कैथल में कार्यकर्ताओं के साथ मनाया जश्नजनता ने की भाजपा की नीतियों मे कि आस्था व्यक्त : सुर्या सैनीजनता ने प्रदेश सरकार व केन्द्र सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों पर लगाई अपनी मोहर : सुरेश कश्यपपरिवारवाद हारा,जनता जीती -मनोहर लाल मां ने जींद जिले में तो अब बेटे ने हिसार में खिलाया कमलतंवर की प्रधानगी में हर चुनाव हारी कांग्रेस, हुड्डा की दावेदारी भी खतरे मेंचार्जशीट पर बोले कुछ पार्षद, पार्षद प्रतिनिधि व नेता करते हैं निजी कार्यों के लिए ब्लैकमेल ,इसलिए करते हैं ऐसी बेतुकी बातें : सिंहकैथल पुलिस चौकना ,महिला पुलिस व अर्धसैनिक बल के करीब 850 कर्मचारी व अधिकारी तैनात रहेगेकेंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह के गोद लिए मांडी गांव के राजकीय हाई स्कूल को जड़ा ग्रामीणों ने ताला 134ए के तहत गरीब बच्चों को पढ़ाने की एवज में स्कूलों को मिले 36 करोड़

Haryana

फुरलक गांव में जोहड़ के घाट में धांधली

April 20, 2019 11:52 PM
प्रवीण कौशिक

BDPO के नोटिस में लाया गया मामला, कारवाही शून्य, ग्रामीणों में रोष।
घरौंडा:प्रवीण कौशिक
फुरलक गांव में जोहड़ के घाट में धांधली का मामला सामने आया है। ग्रामीणों ने पंचायत पर घाट के निर्माण में घटिया सामग्री लगाने का आरोप लगाया है। ग्रामीणों ने पूरे मामले की शिकायत खंड एवं पंचायत अधिकारी को की है। बावजूद इसके शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है। जिससे ग्रामीणों में प्रशासन के प्रति रोष बढ़ता जा रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि यदि प्रशासन ने पंचायत के खिलाफ कार्रवाई अमल में नहीं लाई तो वे आगामी रूपरेखा तैयार करेंगे।

फुरलक निवासी संदीप पान्नू, हरीश, जगमिंद्र, पवन शर्मा, बलवान पान्नू, राममेहर पान्नू व अन्य का कहना है कि गांव फुरलक में पशुओं के लिए एक ही मुख्य तालाब है। जिसमें पशुपालक अपने पशुओं को नहलाते है और पानी पिलाते है। ग्रामीणों का आरोप है कि ग्राम पंचायत ने तालाब में लगभग दो लाख रुपए की लागत से घाट का निर्माण करवाया है। लेकिन इस निर्माण में घटिया किस्म की सामग्री का इस्तेमाल किया गया है। पंचायत ने पुरानी ईंटों को ही घाट में लगा दिया। जिससे घाट में लगाई गई ईंटें उखडऩे लगी है। जो पशुओं को चोटिल कर सकती है। इसके अलावा पंचायत ने जोहड़ की खुदाई पर भी लाखों रुपए खर्च किया। पंचायत ने लगभग तीन लाख रुपए का खर्च पानी निकलवाने में किया है। पंचायत ने दो बार जोहड़ को खाली करवाया था। लेकिन पहली बार में भी काम शुरू नहीं हो सका। दूसरी बार जोहड खाली होने के बाद ही घाट का निर्माण किया गया लेकिन उसके निर्माण में भी लापरवाही बरती गई है। ग्रामीणों का कहना है कि पंचायत ने काफी मात्रा में मिट्टी व पत्थरों को तालाब के अंदर ही छोड़ दिया। जबकि कुछ मिट्टी जोहड़ के किनारों पर लगा दी। ग्रामीणों का कहना है कि जब पशु जोहड़ के अंदर उतरेगें तो उनके चोटिल होने का खतरा रहेगा। दूसरा जोहड़ के किनारों पर लगाई गई मिट्टी बारीश के पानी में वापिस जोहड़ में ही पहुंच जाएगी। जिससे स्थिति ज्यों की त्यों ही हो जाएगी। ग्रामीणों का कहना है कि उन्होंने इस पूरे मामले की शिकायत खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी को दी है लेकिन आज तक भी उस शिकायत पर प्रशासन ने कोई ध्यान नहीं दिया। जिससे ग्रामीणों में लगातार प्रशासन के प्रति रोष बढ़ता जा रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि यदि प्रशासन ने जल्द से जल्द इस मामले पर कार्रवाई नहीं की तो वे आगामी रूपरेखा तैयार करेंगे। 

जेई ने कहा पुरानी ईंटें लगा दो-
सरपंच प्रतिनिधि वेदप्रकाश ने बताया कि जोहड़ का काम ठीक से किया जा रहा है। राजनीतिक द्वेष भावना से आरोप प्रत्यारोप चलते रहते है यह कोई बड़ी बात नहीं है। और जेई साहब के मुताबिक निर्माण कार्य में पुरानी ईंटों का इस्तेमाल किया जा सकता है। जेई ने कहा था पुरानी ईंटें लगा दो, हमनें लगवा दी।
फोटो कैप्शन-फुरलक गांव के जोहड़ में लगाई गई ईंटों को दिखाते ग्रामीण

Have something to say? Post your comment

More in Haryana

भाजपा के नवनिर्वाचित सांसद नायब सैनी ने कैथल में कार्यकर्ताओं के साथ मनाया जश्न

मां ने जींद जिले में तो अब बेटे ने हिसार में खिलाया कमल

चार्जशीट पर बोले कुछ पार्षद, पार्षद प्रतिनिधि व नेता करते हैं निजी कार्यों के लिए ब्लैकमेल ,इसलिए करते हैं ऐसी बेतुकी बातें : सिंह

कैथल पुलिस चौकना ,महिला पुलिस व अर्धसैनिक बल के करीब 850 कर्मचारी व अधिकारी तैनात रहेगे

केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह के गोद लिए मांडी गांव के राजकीय हाई स्कूल को जड़ा ग्रामीणों ने ताला

45 पेटी ठेका शराब देशी बरामद

रादौर में अस्पताल के गेट पर ही हो गई महिला की डिलीवरी, बच्चे की मौत

कैथल के चारों विधानसभा क्षेत्रों में कड़ी सुरक्षा में सुबह 8 बजे शुरू हो जाएगा मतगणना का कार्य : प्रियंका

एग्जिट पोल से बिल्कुल अलग होंगे चुनाव के नतीजे : रमेश गुप्ता

गुढा माइनर में पानी छोड़ने के लिए ग्रामीणों ने एस.डी.ओ को सौंपा ज्ञापन