Monday, May 20, 2019
BREAKING NEWS
सूचनाओं को आम जन तक पहुंचाने में सकारात्मकता का संदेश दिया था नारद नेसूरज हुआ प्रचंड़, गर्मी दे रही दंड़, बाजार हुए सुनसानरामकंवर दत्त शर्मा के निधन पर जताया शोक10वीं के परिक्षा परिणाम में डी लाईट हाई स्कूल की छात्रा प्रिति प्रदेश की टॉप 10 लिस्ट मेंविद्या रानी दनौदा ने नरवाना विधानसभा क्षेत्र के मतदाताओं का आभार व्यक्त करने व आपसी भाईचारा बनाए रखने के लिए आभार व्यक्त कियाजॉब के लिए एक बेहतरीन सीवी तैयार करना भी अति आवश्यक-पवन भारद्वाजहरियाणा सरकार वापस ले सकती है अपना फैंसला हरियाणा में नहीं चलेंगी किलोमीटर स्कीम में निजी बसें हरियाणा-पंजाब में उजागर हुआ जीएसटी महाघोटाले का खेल विद्यार्थी, झूल रहे हैं मौत का फंदा !फीस प्रतिपूर्ति के दावे के लिए जिलों को आदेश, जल्द होगा भुगतान, 26756 विद्यार्थियों को स्कूल अलाट की शुरू होगी प्रक्रिया

Haryana

तरावड़ी नपा ने घोषित किया जहरीला जल, फिर भी पाली जा रही मछलियां

April 23, 2019 07:29 PM
रोहित लामसर

तरावड़ी नपा ने घोषित किया जहरीला जल, फिर भी पाली जा रही मछलियां
जोहड़ पर हुए अवैध कब्जों पर जल्द पीला पंजा चलाऐगी नगरपालिका
अक्सीजन की कमी से मर गई हजारों मछलियां, आसपास के क्षेत्र में बदबू का आलम
तरावड़ी, 23 अप्रैल (रोहित लामसर)। कस्बा तरावड़ी के ऐतिहासिक पृथ्वी राज चौहान के किले के सामने करीब आठ एकड़ में बना प्राचीन तालाब कई सालों से दुर्दशा का शिकार हो रहा है। इस तालाब में डे्रन का गंदा पानी जाता है। यही नही जोहड़ के साथ लगती जमीन कब्जाधारियों की चपेट में है। नगरपालिका प्रशासन की ओर से नोटिस के साथ मुनादी करवाकर इस तालाब के जल को जहरीला घोषित करके लोगों को इसमें पशू नहलाने एवं पानी पिलाने पर रोक लगाई हुई हैं, लेकिन इसके बावजूद भी कुछ पालतू पशु इसमें पानी पीते हैं और लोगों ने इसमें मछलियां भी पाली हुई हैं। जोहड़ के चारों ओर गंदगी के ढेर अटे होने के कारण जोहड़ का पानी दूषित और जहरीला हो चुका है। दूषित और जहरीले पानी के कारण आसपास के क्षेत्र में बदबू का आलम है। आसपास गुजरने वाले लोगों को मुंह पर रूमाल ढक कर निकलना पड़ता है। गदंगी के अंबार जोहड़ के किनारे पड़े होने के कारण आसपास के दुकानदार भी परेशान हैं। कई बार नगरपालिका प्रशासन से इस जोहड़ के हालात सुधारने के बारे में कहा गया, लेकिन जिला प्रशासन का कतई ध्यान नही हैं।

बाक्स
फिर मर गई हजारों मछलियां :- जोहड़ में हर साल हजारों मछलियां जहरीले और दूषित जल के कारण अपनी जान गंवा रही हैं। पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी हजारों मछलियां मर गई, जो सडक़ के किनारे पहुंच गई। मछलियां मरने के कारण काफी दूर-दूर तक बदबू का आलम पैदा हो गया। आसपास के लोगों को खासी दिक्कत झेलनी पड़ी। लोगों का कहना था कि इस जोहड़ का पानी करीब 10 सालों से बदला नही है, यह पानी सडऩे के साथ-साथ दूषित और जहरीला हो गया है। जिसके कारण मछलियां मर जाती हैं। उन्होने कहा मछलियों के मरने के कारण आसपास के क्षेत्र में बदबू का आलम पैदा हो गया। उन्होंने नपा प्रशासन से मांग की है कि जोहड़ की साफ-सफाई करने के साथ-साथ जहरीले पानी को बदला जाए।

वर्जन :- लोगों को मुनादी के माध्यम से जोहड़ में पशुओं को नहलाने एवं उन्हें पानी पीलाने के बारे में रोका गया है। कब्जों को लेकर प्रशासन की ओर से निशानदेही करवाई गई थी, कुछेक लोगों ने कब्जा किया हुआ है। जल्दी ही जोहड़ की साफ-सफाई करवाने के साथ-साथ अवैध कब्जों पर पीला पंजा चलाया जाऐगा।
-पवित्र गुलिया।
- नगरपालिका सचिव तरावड़ी।

Have something to say? Post your comment

More in Haryana

सूचनाओं को आम जन तक पहुंचाने में सकारात्मकता का संदेश दिया था नारद ने

सूरज हुआ प्रचंड़, गर्मी दे रही दंड़, बाजार हुए सुनसान

रामकंवर दत्त शर्मा के निधन पर जताया शोक

10वीं के परिक्षा परिणाम में डी लाईट हाई स्कूल की छात्रा प्रिति प्रदेश की टॉप 10 लिस्ट में

विद्या रानी दनौदा ने नरवाना विधानसभा क्षेत्र के मतदाताओं का आभार व्यक्त करने व आपसी भाईचारा बनाए रखने के लिए आभार व्यक्त किया

जॉब के लिए एक बेहतरीन सीवी तैयार करना भी अति आवश्यक-पवन भारद्वाज

हरियाणा-पंजाब में उजागर हुआ जीएसटी महाघोटाले का खेल

विद्यार्थी, झूल रहे हैं मौत का फंदा !

खतरनाक है देश की शिक्षा प्रणाली जिसके चलते छात्र -छात्राऐं मौत को गले लगाने को मजबूर हो रहे है

बरोट बन्दराणा की सुजाता, कोमल, अंजली व कवारतन की पलक ने मैरिट में पाया स्थान