Saturday, August 17, 2019
 
BREAKING NEWS
इनैलो को मिल रहा है छत्तीस बिरादरी के लोगों का भरपूर समर्थन : सपना बडशामीशहीद की पत्नी संग जोड़ा भाई-बहन का नाता 18 अगस्त को होने वाली परिवर्तन रैली में लाडवा हल्के से जांएगें हजारों कार्यकत्र्ता : मेवा ङ्क्षसह बाबैन में ऐतिहासिक होगा जन आर्शीवाद यात्रा का स्वागत : रीना देवीखिलाडिय़ों के लिए स्टेडियम व बेटियों के लिए कॉलेज बनवाना होगा प्राथमिकता : गर्गफंस गए भूपेंद्र हुड्डा,कांग्रेस छोड़ने के अलावा नहीं बचा कोई विकल्परॉकी मित्तल ने ग्योंग गांव में शिक्षा एवं खेल क्षेत्रों के विद्यार्थियों को सम्मानित कियाट्रक डाइवर व क्लीनर को बंधक बना ट्रक लेकर फरार, केस दर्जपंजाबी वर्ग की जनसँख्या के अनुसार राजनैतिक पार्टी दे टिकटें: अशोक मेहता। वीर सम्मान मंच कैथल के द्वारा अटारी बॉर्डर पर मनाया गया रक्षाबंधन उत्सव:-

Punjab

करतारपुर कॉरिडोर- मुआवजा राशि में से टीडीएस काटने पर किसानों ने किया चक्का जाम,जबरदस्त नारेबाजी

May 03, 2019 06:08 PM
अटल हिन्द ब्यूरो

करतारपुर कॉरिडोर-

मुआवजा राशि में से टीडीएस काटने पर किसानों ने किया चक्का जाम, जबरदस्त नारेबाजी

-भड़के किसानों ने एसडीएम की किसी दलील को नही सुना

-कहा - किसी भी कीमत पर बनती मुआवजा राशि में वह टीडीएस नही काटने देंगे

-कहा- सरक‌ार को नही मंजूर तो उनकी जमीन वापिस करें

 

(विनोद सोनी)


डेरा बाबा नानक । करतारपुर कॉरिडोर के लिये जिन किसानों ने अपनी जमीनों और फसलों को डेरा बाबा नानक के सिविल प्रशासन को सौंपा था, उन किसानों ने शुक्रवार को कॉरिडोर के रास्ते में चक्का जाम कर दिया। प्रशासन से नाराज करीब 80 किसान शुक्रवार को सुबह साढ़े दस बजे दर्शन स्थल को जाती सड़क के बीच बैठकर नारेबाजी करने लगे। किसानों के चक्का जाम करने की वजह से करीब 20 बड़े वाहनों का सड़क में जाम लग गया।किसानों का आरोप था कि प्रशासन ने उनको उनकी फसल और जमीन का मुआवजा रा‌शि देने का वादा किया था अब उस राशि में किसानों को टीडीएस काट कर कम राशि दी जा रही है। किसानों का आरोप यह भी है कि जब प्रशासन ने कॉरिडोर के लिये उनसे जमीन लेने की बात की थी तब टीडीएस काटने की कोई बात किसानों से नही की गई थी। जिसके चलते किसानों ने अपनी जमीनें सरकार को दी थी। वहीं किसानों ने प्रशासन को चेतावनी दी है कि वह किसी भी कीमत पर टीडीएस नही काटने देंगे अगर टीडीएस काटकर किसानों को मुआजवा राशि देनी है तो सरकार उनकी जमीनें वापिस कर दें। इस चेतावनी के साथ किसान और प्रशासन आमने सामने की स्थिति में हैं। वहीं प्रशासनिक अधिकारी टीडीएस काटे बिना मुआजवा राशि देना अपनी मजबूूर बतां दे रहें हैं। प्रदर्शन के दौरान डेरा बाबा नानक के एसडीएम गुरसिमरण सिंह ढिल्लों प्रदर्शन स्थल पर पहुंचे मगर आक्रोषित किसानों उनकी कोई दलील नही सुनी। खबर लिखे जाने तक किसानों का प्रदर्शन जारी था। इस संबंध में प्रदर्शनकारी ‌गुरचरण सिंह, जोगिंदर सिंह, हरपिंदर सिंह, गुरनाम सिंह, अजीत सिंह, रंजीत सिंह, बलविंदर सिंह, जैमल सिंह, तरलोक सिंह, शमशेर सिंह, परमिंदर सिंह आदि किसानों ने बताया कि शुक्रवार को वह एसडीएम डेरा बाबा नानक के दफ्तर जमीन के मुआवजा की राशि को लेकर गये थे मगर जब उन्हें पता चला कि प्रशासन उनसे तय की गई राशि में से टीडीएस काट कर पैसे देने जा रहा है तो वह आग बबुला हो उठे और उन्होंने चक्का जाम कर दिया। किसानों ने आरोप लगाया कि अधिकारियों ने उनसे वादा किया था कि उनको प्रति किसान 34 लाख रूपये देंगे और उस राशि में कोई कटौती नही करेंगे। अब एसडीएम डेरा बाबा नानक उस 34 लाख में से 3 लाख रूपये टीडीएस काट कर राशि देने की बात कह रहें हैं जो किसानों को मंजूर नही है। उन्होंने कहा कि उनकी जमीन पर कोई प्रशासन की मशीन नही चलेगी जब तक उनको पूरी राशि 34 लाख नही मिल जाते। किसानों में गुस्सा इस कधर था कि एक भड़के हुये किसान ने तो जहां तक कह दिया कि अब उनकी सहनशीलता का अंत हो गया अब यां तो वह मर जायेंगे यां फिर मार देंगे। किसानों ने प्रशासन पर किसानों से धक्केशाही करने के आरोप लगाये हैं।इस संबंध में डेरा बाबा नानक के एसडीएम गुरसिमरण सिंह ढिल्लों ने बताया कि वह कोई भी काम कानून के दायरे में ही रहकर कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि उन्होंने किसानों से कहा कि वह अपनी बनती राशि के चेक प्रात्त कर लें। एसडीएम ने बताया कि प्रदर्शनकारी किसान मांग कर रहें है कि टीडीएस जो इनकम टैक्स एक्ट के आधीन काटा जाता है, वी उनकी मुआवजे की राशि में न काटा जाये। इस संदर्भ में उन्होंने किसानों को इनकम टैक्स एक्ट की हिदायतों के बारे में जानकारी दी है और अपनी सरकारी अकांऊटैंट से भी बातचीत करवाई है। एसडीएम ने कहा कि टीडीएस काटने के लिये वह डियूटी बांऊड हैं। उन्होंने कहा कि कानून के मुताबिक वह टीडीएस काटे बिना वह मुआवजे के पैसे की पेमैंट नही कर सकते। उन्होंने कहा कि उन्होंने किसानों से अपील की है कि वह वह अपनी बनते पैसे प्रात्त करें।सरकार द्वारा किये वादों को पूरा न करने पर गुस्साये किसान भड़क उठे। राजनीति तंत्र पर भड़के किसानों ने जहां तक कह दिया कि पहले पंजाब सरकार ने वादे किये थे कि सभी किसानों के कर्ज माफ किये जायगें, मगर सरकार बनने के बाद कुछ भी नही हुआ। आज किसान का हाल बहुत बुरा है। इसके अलावा सरकार घर-घर रोजगार देने का वादा भी भूल बैठी है जिससे उनके बच्चे बेरोजगार घूम रहें हैं।

Have something to say? Post your comment

More in Punjab

प्रेमिका के घर पहुंच प्रेमी ने लगाई आग, मंजर देख दहले सभी के दिल,

करतारपुर कॉरिडोर- प्रदर्शन के पांच घंटे के बाद किसानों और प्रशासन के बीच बनी सहमति,प्रदर्शन हुआ बंद

टॉयलेट में मिला सैनिटरी पैड, जांच के लिए दर्जन भर छात्राओं के उतरवाए कपड़े

नामांक‌ण पत्र दाखिल करने से पहले जाखड़ प्राचीन मंदिर और गुरूद्वारा कंध साहिब में हुये नतमस्तक

भारतीय सीमा पार करते हुये पाकिस्तान की तरफ घुसते युवक को काबू किया

चेतावनी- गली में कोई लीडर वोट मांगने न आये, नोटा का बटन दबाकर नेताओं का करेंगे विरोध

अकाली दल ने बठिंडा के डीपीआरओ तथा मानसा के एपीआरओ के खिलाफ भी शिकायत दी

महिलाओं से अवैद्घ संबंधों से तंग आकर पत्नी और बेटे ने मिलकर करवाया था कत्ल,पत्नी,बेटे समेत आठ लोग गिरफ्तार

पंजाब में 118 नेताओं के लोकसभा चुनाव लड़ने पर चुनाव आयोग ने लगाई रोक

मामला कांग्रेसी सरपंच नवदीप सिंह की हत्या का मृतक सरपंच के अभिभावक अस्पताल में चार घंटे पोस्टमार्टम होने का इंतजार करते रहे