Saturday, August 17, 2019
 
BREAKING NEWS
इनैलो को मिल रहा है छत्तीस बिरादरी के लोगों का भरपूर समर्थन : सपना बडशामीशहीद की पत्नी संग जोड़ा भाई-बहन का नाता 18 अगस्त को होने वाली परिवर्तन रैली में लाडवा हल्के से जांएगें हजारों कार्यकत्र्ता : मेवा ङ्क्षसह बाबैन में ऐतिहासिक होगा जन आर्शीवाद यात्रा का स्वागत : रीना देवीखिलाडिय़ों के लिए स्टेडियम व बेटियों के लिए कॉलेज बनवाना होगा प्राथमिकता : गर्गफंस गए भूपेंद्र हुड्डा,कांग्रेस छोड़ने के अलावा नहीं बचा कोई विकल्परॉकी मित्तल ने ग्योंग गांव में शिक्षा एवं खेल क्षेत्रों के विद्यार्थियों को सम्मानित कियाट्रक डाइवर व क्लीनर को बंधक बना ट्रक लेकर फरार, केस दर्जपंजाबी वर्ग की जनसँख्या के अनुसार राजनैतिक पार्टी दे टिकटें: अशोक मेहता। वीर सम्मान मंच कैथल के द्वारा अटारी बॉर्डर पर मनाया गया रक्षाबंधन उत्सव:-

Haryana

भूपेंद्र हुड्डा की प्लानिंग का कर दिया बंटाधार

August 12, 2019 04:44 PM
राजकुमार अग्रवाल


 भूपेंद्र हुड्डा की प्लानिंग का कर दिया बंटाधार

-राजकुमार अग्रवाल-
कैथल (हरियाणा )। हरियाणा के लोग पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा की 18 अगस्त को रोहतक में होने वाली परिवर्तन महारैली का बेसब्री से इंतजार इसलिए कर रहे हैं कि भूपेंद्र हुड्डा उसमें बड़ा धमाका कर सकते हैं लेकिन 18 अगस्त से ठीक 1 सप्ताह पहले 11 अगस्त को जेजेपी मुखिया दुष्यंत चौटाला ने उनसे भी बड़ा सियासी धमाका करते हुए सबको चौंका दिया। 
जेजेपी ने बसपा के साथ गठबंधन करके परिवर्तन महारैली के 1 सप्ताह पहले ही सियासी "महापरिवर्तन" कर दिया। जेजेपी- बसपा के गठबंधन ने प्रदेश के सियासी माहौल में नंबर 2 से लेकर नंबर 5 तक के सियासी गणित में उलटफेर कर दिया ।
दुष्यंत चौटाला ने गुपचुप तरीके से गठबंधन की कार्रवाई को अंजाम देते हुए अपने और परायों सभी को हैरत में डाल दिया। जेजेपी और बीएसपी के गठबंधन से प्रदेश में महागठबंधन के साथ-साथ दूसरे चुनावी गठबंधन की संभावनाएं भी खत्म हो गई है। इस सियासी गठबंधन का सभी पार्टियों पर असर पड़ता हुआ नजर आएगा।

भाजपा की नए गठबंधन से होगी टक्कर

प्रदेश में दूसरी बार सत्ता हासिल करने के लिए मिशन 75 का टारगेट लेकर चल रही भारतीय जनता पार्टी को हुड्डा और बीएसपी के बड़े खतरे से छुटकारा मिल गया है और उसे अब जेजेपी- बीएसपी गठबंधन के साथ दो-दो हाथ करने पड़ेंगे‌। अगर दुष्यंत चौटाला जाट वोटरों और बीएसपी दलित वोटरों को गठबंधन के साथ लामबंद करने में सफल रहे तो यह नया गठबंधन भाजपा को चुनाव में बड़ी चुनौती देते हुए नजर आएगा।

जेजेपी- बीएसपी गठबंधन बना पहला विकल्प

गठबंधन के साथ ही जेजेपी और बीएसपी गठबंधन भाजपा का पहला विकल्प बनता हुआ नजर आ रहा है। इनेलो के सियासी खात्मे और कांग्रेस में चल रही मारामारी के बीच जेजेपी और बीएसपी गठबंधन ही भाजपा के सामने पहले विकल्प के रूप में उभर सकता है। दोनों दलों के नेताओं का वोटबैंक एकजुट हुआ तो प्रदेश की आधी सीटों पर उसका निर्णायक असर पड़ता हुआ दिखाई देगा।

हुड्डा के धमाके की हवा निकली

कांग्रेस में आर-पार की जंग लड़ रहे पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा के 18 अगस्त को संभावित धमाके की हवा जेजेपी- बसपा गठबंधन ने निकाल दी है। हुड्डा समर्थक पूरे प्रदेश में यह प्रचार कर रहे थे कि 18 अगस्त को नई पार्टी बनाते हुए भूपेंद्र हुड्डा बसपा के साथ मिलकर गठबंधन कायम करके भाजपा की सरकार को उखाड़ने का काम करेंगे।
बसपा के जेजेपी के साथ गठबंधन बनाने के चलते हुड्डा समर्थकों के दावे का दम निकल गया है और अब 18 अगस्त को सिर्फ भूपेंद्र हुड्डा के नई पार्टी बनाने या नहीं बनाने का सस्पेंस ही बाकी रह गया है।

इनेलो हो गई महत्वहीन

1 साल पहले बसपा के साथ गठबंधन में सत्ता की सबसे प्रबल दावेदार मानी जा रही इनेलो प्रदेश की सियासत में पूरी तरह महत्वहीन हो गई है। पार्टी के अधिकांश विधायकों के पाला बदलने के चलते इनेलो में भगदड़ मची हुई है जिसके कारण आगामी विधानसभा चुनाव में लोकसभा चुनाव की तर्ज पर इनेलो को वोट मिलते हुए नजर आ रहे हैं। इनेलो से निकली हुई पार्टी जेजेपी जहां प्रदेश की सत्ता की दावेदारी में शामिल हो गई है वहीं दूसरी तरफ इनेलो खात्मे की तरफ बढ़ गई है।

 बात यह है कि दुष्यंत चौटाला और बीएसपी ने गठबंधन करके जहां एक दूसरे को सियासी मजबूती देने का काम किया है वहीं दूसरे दलों के समीकरणों को बिगाड़ने का माहौल बना दिया है।
इस नए गठबंधन ने भूपेंद्र हुड्डा को सबसे अधिक नुकसान पहुंचाया है। भूपेंद्र हुड्डा की प्लानिंग में नई पार्टी बनाने के साथ बसपा के साथ मिलकर महागठबंधन करना सबसे ऊपर था। दुष्यंत चौटाला ने बीएसपी के साथ गठबंधन करके उनकी प्लानिंग को चकनाचूर कर दिया है बीएसपी से गठबंधन करके जहां जीजेपी सत्ता की दावेदारी में शामिल हो गई है वहीं भूपेंद्र हुड्डा के लिए अलग पार्टी बनाकर भाजपा को बराबर की टक्कर देना नामुमकिन कर दिया है।
जेजेपी -बीएसपी का गठबंधन भाजपा को राहत देने का काम करेगा क्योंकि अगर बसपा हुड्डा के साथ चली जाती तो दोनों का वोटबैंक भाजपा के लिए खतरे की घंटी बजा सकता था।

 

Have something to say? Post your comment

More in Haryana

शहीद की पत्नी संग जोड़ा भाई-बहन का नाता

रॉकी मित्तल ने ग्योंग गांव में शिक्षा एवं खेल क्षेत्रों के विद्यार्थियों को सम्मानित किया

पंजाबी वर्ग की जनसँख्या के अनुसार राजनैतिक पार्टी दे टिकटें: अशोक मेहता।

वीर सम्मान मंच कैथल के द्वारा अटारी बॉर्डर पर मनाया गया रक्षाबंधन उत्सव:-

मनोहर लाल ने स्वर्गीय स्नेहलता के निधन पर जताया शोक

अमित शाह ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल की जमकर तारीफ की, दिये 10 में से 10 नंबर

स्व. अटल बिहारी की प्रथम पुण्यतिथि पर दी श्रद्धांजली

लाडवा के अनेक स्कूलों में धूमधाम से मनाया गया 73वां स्वतंत्रता दिवस

लाडवा की श्री अग्रवाल सभा ने शहर के महाराजा अग्रसेन चौंक पर धूमधाम से मनाया 73वां स्वतंत्रता दिवस

एसडीएम घरौंडा गौरव कुमार ने किया ध्वजारोहण, परेड की ली सलामी