Wednesday, June 19, 2019
 
BREAKING NEWS
मनोहर सरकार ने जनहित की योजनाओं और सुशासन की बदोलत जीता जनता का दिल : डॉ. गणेश दत्तश्री अमरनाथ सेवा मंडल की शाखा पूंडरी द्वारा 24वें भंडारे की सामग्री रवानापृथ्वी एक देश है और हम सभी इसके नागरिक हैंधड़ाधड़ बड़े-बड़े मामले सुलझाने वाले इंस्पेक्टर नवीन पाराशर की आईजी हनीफ कुरेशी ने थपथपाई पीठ शव नग्नावस्था में मिला,बेरहमी से सिर में ईंट माकर हत्या किसानों की आय दोगुनी हो इसके लिए केन्द्र व राज्य सरकार दृढ़ संकल्प: विपुल गोयलआरटीए कार्यालय पर चला मुख्यमंत्री का डंडा कार्यालय में बुलाकर पीड़ित को दी बगैर हस्ताक्षर की रसीद बिना बताए बीडीपीओ बावल ने लिया अवकाश, 4 दिन का वेतन रूका भाजपा नए चेहरे पर विश्वास जताकर मैदान में उतारेगी युवा चेहरा : कौल कानूनी साक्षरता शिविरों का आयोजन किया

Literature

मानस तन देवों से भी श्र्रेष्ट है, इसे पाने के लिए देवता भी तरसते है: सुदीक्षा

April 25, 2017 06:32 PM
संजय गर्ग
मानस तन देवों से भी श्र्रेष्ट है, इसे पाने के लिए देवता भी तरसते है: सुदीक्षा 
माता रेणूका भवन का किया उद्घाटन 
6 दिवसीय राम कथा शुरु 
लाडवा, 25 अप्रैल (संजय गर्ग): जब तक कर्मों की पूंजी है, इसका सुख भोग लो। बाद में यहीं आना पड़ेगा। यह मृत्युलोक श्रे्रष्ट है। मानस तन देवों से भी श्र्रेष्ट है। इस चोले को पाने के लिए देवता भी तरसते हैं। स्वर्ग में सुख ही सुख है। जहां धरती पर किख कर्मों को भोगा जाता है। 
मंगलवार ब्राह्मणों वाली धर्मशाला में शुरु हुई 6 दिवसीय राम कथा के पहले दिन साध्वी श्री सुश्री सुदीक्षा जी महाराज अपने प्रवचनों में बोल रही थी। उन्होंने कहा कि धर्म जोड़ता है तोड़ता नहीं, इसी प्रकार हमारे गुरु महाराज ने समाज को जोडऩा सिखाया, तोडऩा नहीं। उन्होंने कहा कि रावण चारों वेदों के ज्ञाता थे। लेकिन उसने कभी किसी की बात नहीं मानी। लेकिन जो उसकी बात न मानने के कारण दुर्गति हुई वह सबकों मालूम है। उन्होंने कहा कि सत्संग में पांच चीजें मिलती है :- मति, कीर्ति, भलाई, भूती और गति। उन्होंने कहा कि संतों दृष्टि शुद्ध और अच्छी होती है, जो सबको देखकर खुश होती है। उन्होंने कहा कि सत्संग को जो तन और मन लगाकर सुनते है, उनका पूरा जीवन बदल जाता है। सत्संग में आने से विचार, बुद्धि, कर्म, आचरण बदलता है। धीरे-धीरे सत्संग से एक दिन पूरा जीवन बदल जाता है। इससे पूर्व श्री सुदीक्षा जी महाराज ने ब्राह्मण धर्मशाला में बने माता रेणूका भवन का उद्घाटन भी किया। इस अवसर पर नपा प्रधान साक्षी खुराना, ब्राह्मण सभा के प्रधान सोमप्रकाश शर्मा, डा. गणेश दत्त, प. जगदीश राम शर्मा, संत शर्मा, प्रदीप गर्ग, डा. योगेंद्र कश्यप, श्यामलाल अत्री, बृजेश शर्मा, सुरेश शर्मा, श्याम लाल अत्री, जितेंद्र अत्री, अश्वनी शर्मा, महेश कांत, ज्ञान सिंह ब्राहाण, तीलक राज, प्रदीप गर्ग, सुनील गर्ग, पवन बंसल, मुनीश सिंघल, देवराज, कलाधर शर्मा, नरेदं्र सैन, नीरज गर्ग, शशि गोयल, कौशल सिंगला सहित भारी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित थे। 

Have something to say? Post your comment

More in Literature

जवान लड़कियां संन्यास लेती हैं तो आप उन्हें मां क्यों कहते है?

मिश्रित फल देगा नव विक्रम सम्वत-2076, होंगे राजनैतिक परिवर्तन मिथुन, तुला और कुम्भ राशि और लग्न वालों को लाभ होगा

सिद्ध श्री बाबा बालक नाथ जी प्रचार समिति फरीदाबाद भजनो भरी शाम बाबा जी के नाम का आयोजन किया

सरस्वती अन्नपूर्णा भण्डारा सेवा समिति द्वारा सरस्वती मंदिर मे भंडारे का आयोजन किया

पिहोवा-पितरों की आत्मिक शांति के लिए सरस्वती तीर्थ पर पहुंचने लगे श्रद्धालु

6 अप्रैल से परिधावी नामक नवसंवत 2076 एवं चैत्र नवरात्रि आरंभ

होली आई रे .... होलिका दहन, 20 मार्च की रात्रि 9 बजे के बाद, रंग वाली होली 21 को।

गुरू मां सम्मेलन में मिलती है अनोखी अलौकिक शक्तियां : सुरेंद्र पंवार

खाटू श्याम में बाबा का मेला शुरू, श्याममय हुआ समूचा क्षेत्र, प्रतिदिन गुजरने लगे है श्याम प्रेमियों के जत्थे

शीश के दानी का सारे जग में डंका बाजे ने देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी एक अलग पहचान बनाई - लखबीर सिंह लख्खा