Wednesday, June 26, 2019
 
BREAKING NEWS
1500 रूपये लेकर MLA के फर्जी लैटर पैड पर आधार कार्ड बनाने वाले 6 गिरफ्तारतरावड़ी प्रशासन नही गंभीर, समाजसेवियों के भरोसे गौ-रक्षाजरूरत के हिसाब से पानी का करें प्रयोग : सूर्या सैनीजनता ने भाजपा को फिर से प्रदेश मे सत्ता सौंपने का बनाया मन : पवन सैनीलुप्त हुए "तरावड़ी गेट' और 'बाजारी गेट' कुछ हिस्सा बचने पर ऐतिहासिक करनाली गेट का होगा पुन: निर्माणइंडिया टीम में तेज गेंदबाजी कर परचम लहराऐगा तरावड़ी का नवदीप सैणीनशा मुक्ति दिवस पर 26 जून को सैमिनार, बुद्धिजिवी वर्ग तथा सामाजिक संस्थाए करेंगी प्रतिभागी प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना लागू ,गरीब व्यक्ति को भी आर्थिक लाभ मिलेगा -डीसी दीपेंद्र को हरियाणा कांग्रेस प्रधान बनवाने के लिए बड़ी ताकतें हुई लामबंद,कांग्रेस के आधा दर्जन बड़े नेता कर रहे सामूहिक प्रयासनगर परिषद कैथल के सफाई कर्मचारियों ने सर्वसम्मति से अंगूरी देवी को चुना प्रधान

Entertainment

बरकत" गाने के माध्यम से युवाओं ने दिखाई किसान की पीड़ा

July 12, 2017 06:16 PM
प्रदीप दलाल

बरकत" गाने के माध्यम से युवाओं ने दिखाई किसान की पीड़ा

बरकत गाने को यू ट्यूब पर बरकत गाने को लाखों लोगों ने देखा

युवाओं ने कहा हरियाणवी कल्चर को जिंदा करना है उनका उद्देश्य

 

कैथल(प्रदीप दलाल) पूरे विश्व के लिए अन्न पैदा वाले किसान के हाथ हमेशा खाली के खाली रह जाते हैं। धरतीपुत्र किसानों की पीड़ा से हमारे देश में हर कोई वाकिफ है, इसी पीड़ा को समझते हुए कुछ युवाओं ने इसे हरियाणवी गाने का रुप दिया है। जिसमें किसानो के जमीनी हालात को दिखाया गया है। उन्होंने इस गाने को बरकत नाम दिया है, क्योंकि किसान की जिंदगी में कभी बरकत नहीं होती। उसी बरकत के लिए वह ना जाने कितनी मेहनत करता है लेकिन उसके बाद भी सरकार की अनदेखी और प्रकृति की मार से हमेशा उसे जूझना पड़ता है और अंत में वह हारकर अपनी जिंदगी को ही खत्म कर लेता है। इसी असलियत को इन युवाओं ने एक गाने के माध्यम से प्रस्तुत किया है। बरकत गाने कि इस वीडियो को यूट्यूब पर लाखों लोग देख चुके हैं और शेयर कर चुके हैं। युवाओं ने गाने की धुन को हरियाणवी ट्रेडिशन राग में बनाया है और वीडियो को सिनेमेटिक लुक दिया है। सोशल मीडिया पर लोग युवाओं द्वारा बनाए गए गाने बरकत की खूब तारीफ कर रहे हैं। सभी युवाओं ने इस गाने के लिए खास मेहनत की थी जो युवाओं द्वारा बनाए गए वीडियो सॉन्ग में दिखाई भी देती है। इन युवाओं का यही कहना है कि वर्तमान समय में हरियाणवी गानों में अश्लीलता और फूहड़ता को परोसा जाता है लेकिन उन्होंने अपने गाने के माध्यम से कोशिश की है कि वह किसान की जमीनी हकीकत को दिखा सकें। इस गाने का निर्देशन आदित्य रोहिला ने किया है और गाने को अपनी आवाज दी है विक्रम मलिक और आदित्य रोहिला ने, गाने का यूजिक आदित्य और रविंद्र सिंह रवि ने दिया है। इसके बोल और डायरेक्शन मोहन बेताब ने की है। जबकि गाने की एडिटिंग एमपी सेगा, पंकज शाह और अमन गिल ने की है। डीओपी कहर रंधावा और भूपिंदर सिंह की है। गाने के प्रोड्यूसर दिनेश जांगड़ा और गुरमीत चौधरी हैं।

Have something to say? Post your comment

More in Entertainment

ये मर्द बेचारा फिल्म की फरीदाबाद में हो रही शूटिंग

शाहाबाद- निजी अस्पताल में चल रहा था सेक्स रैकेट, कई पकडे गए

68 साल के बुजुर्ग के साथ 19 साल की लड़की पकड़ी

म्यूजिक जगत में खास पहचान बनाने के लिए उसकी बारीकियों को जानना जरूरी : वर्मा

मौसी ने अपनी ही भांजी के साथ करवाया दुष्कर्म

छोड़ा खुला कैमरा, आकर देखा तो दोस्त के साथ पत्नी का दिखा अतरंग वीडियो

महिला आयोग ने देह व्यापार के रैकेट का किया भंडाफोड़, चार नाबालिग लड़कियां मुक्त कराईं

सोनू सिंह के सौजन्य हुआ होली मिलन समारोह, पहुंचे कई दलों के राजनीतिक दिग्गज

राजौंद -पुलिस कर्मी महिला से साथ मिले आपत्तिजनक अवस्था में , ग्रामीणों ने जमकर की धुनाई

बिना दहेज केवल 1 रुपया लेकर भाजपा नेत्री के बेटे ने कर ली शादी