Monday, May 20, 2019
BREAKING NEWS
सूचनाओं को आम जन तक पहुंचाने में सकारात्मकता का संदेश दिया था नारद नेसूरज हुआ प्रचंड़, गर्मी दे रही दंड़, बाजार हुए सुनसानरामकंवर दत्त शर्मा के निधन पर जताया शोक10वीं के परिक्षा परिणाम में डी लाईट हाई स्कूल की छात्रा प्रिति प्रदेश की टॉप 10 लिस्ट मेंविद्या रानी दनौदा ने नरवाना विधानसभा क्षेत्र के मतदाताओं का आभार व्यक्त करने व आपसी भाईचारा बनाए रखने के लिए आभार व्यक्त कियाजॉब के लिए एक बेहतरीन सीवी तैयार करना भी अति आवश्यक-पवन भारद्वाजहरियाणा सरकार वापस ले सकती है अपना फैंसला हरियाणा में नहीं चलेंगी किलोमीटर स्कीम में निजी बसें हरियाणा-पंजाब में उजागर हुआ जीएसटी महाघोटाले का खेल विद्यार्थी, झूल रहे हैं मौत का फंदा !फीस प्रतिपूर्ति के दावे के लिए जिलों को आदेश, जल्द होगा भुगतान, 26756 विद्यार्थियों को स्कूल अलाट की शुरू होगी प्रक्रिया

Madhya Pradesh

राजस्व विभाग में हो रहे भ्रष्टाचार को मुख्य सचिव रोक पाएंगे?

August 11, 2017 05:19 AM
निर्णय तिवारी
राजस्व विभाग में हो रहे भ्रष्टाचार को मुख्य सचिव रोक पाएंगे?
 
छतरपुर/ मप्र के  मुख्य सचिव बसंत प्रताप सिंह संभाग में राजस्व अधिकारियों की बैठक लेकर राजस्व प्रकरणों के मामलों की समीक्षा कर रहे हैं। परंतु वह राजस्व विभाग में हो रहे भ्रष्टाचार को क्या रोक पाएंगे। वर्षों से राजस्व अधिकारियों को जो भ्रष्टाचार की दांड लगी हुई है वह उस भ्रष्टाचार को मुख्य  सचिव की समीक्षा बैठक के बाद समाप्त हो पाएगी यह सवाल आम जनता प्रदेश के मुख्य सचिव से कर रही है। प्रदेश स्तर पर यह मामला विधायकों और प्रदेश के केबिनेट मंत्रियों ने स्वयं उठाया था कि राजस्व विभाग में छोटे छोटे कामों के लिए आम जनता को परेशान होना पड़ता है और तहसीलों में बिना पैसे के कोई भी काम नहीं होता है।यह सारा मामला प्रदेश के मुख्यमंत्री के संज्ञान में आने के बाद मु य सचिव ने थाना की राजस्व मामलों की संभागीयबार समीक्षा की जाना अति आवश्यक है उसी के तहत  मुख्य  सचिव ने सर्वप्रथम भोपाल संभाग की समीक्षा की और भोपाल संभाग के आने वाले सभी जिलों के कलेक्टर व कमिश्रर सहित समीक्षा बैठक की और निर्देश दिए कि राजस्व मामलों के लंबित प्रकरणों का निराकरण एक माह के अंदर हर हाल में हो जाना चाहिए। आज प्रदेश के मुख्य सचिव सागर संभाग में पांचों जिलों के कलेक्टरों की समीक्षा कर रहे हैं और उनके साथ प्रमुख सचिव स्तर के कई अधिकारी भी इस समीक्षा बैठक में शामिल होंगे। जिलेवार राजस्व विभाग केलंबित प्रकरणों की समीक्षा होगी। जिसमें पन्ना, टीकमगढ़, छतरपुर, दमोह एवं सागर जिले शामिल हैं। इस समीक्षा बैठक को देखते हुए सभी जिलों के कलेक्टरों ने राजस्व प्रकरणों की समीक्षा की है और काफी राजस्व प्रकरणों का निराकरण एक ह ते में किया है। परंतु राजस्व विभाग में फैले भ्रष्टाचार को प्रदेश के मुख्य सचिव क्या रोक पाएंगे यह सवाल आज भी कुरेद रहा है। राजस्व प्रकरणों में राजस्व अधिकारियों की मनमानी मु य सचिव किस हद तक रोकेंगे फिलहाल मु य सचिव के संभागीय दौरे से राजस्व अधिकारियों में हडकंप मचा हुआ है और इन दौरे से आम

Have something to say? Post your comment

More in Madhya Pradesh

आगनवाड़ी सहायिका को सरे आम रस्ते में रोक कर की छेड़छाड़, महिला एस पी से लगाई न्याय की गुहार

खरीदी केन्द्रों पर समिति प्रबंधकों और व्यापारियों की सांठगांठ से हो रहा है घोटाला, एफएक्यू क्वालिटी का गेहू की नहीं की जा रही खरीदी

प्राइवेट स्कूलो द्वारा बढ़ाई गई फीस को न दे अभिभावक- बिद्यार्थी सेना

लापरवाही से बाहन चलाने वाले 6माह की कठोर कैद

धर्म और जाति के नाम पर नहीं जमीनी मुद्दों को लेकर हो मतदान - युसूफ बैग

गांव गांव जाकर जनता की समस्याओ से हो रही रूबरू-कांग्रेस प्रत्यासी कविता राजे

देश में एक विधान एक प्रधान ही चलेगा का नारा देते हुए कांग्रेस पर साधा निशाना -अमित शाह

जमीनी विवाद को लेकर कलयुगी पुत्र ने की पिता की हत्या

भाजपा प्रत्याशी बीडी शर्मा खजुराहो लोकसभा से आज करेंगे नामांकन दर्ज

समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी वीर सिंह पटेल आज भरेंगे नामांकन