Friday, June 21, 2019
 
BREAKING NEWS
मिशन 2024 पर निकले रणदीप सुरजेवाला,किसान कांग्रेस के जरिए पूरे प्रदेश में समर्थकों को किया एडजैस्टहिमाचल में बस 500 फीट गहरी खाई में गिरी, 28 की मौत; 32 घायलफरीदाबाद की एक और बेटी तनीषा दत्ता ने किया देश का नाम रौशनयोग करता है मन की वृतियों को नियंत्रण में, होती है मानसिक, शारीरिक, अध्यात्मिक स्वास्थ्य की प्राप्ति : आरके सिंहभाजपा आईटी सेल के बनाए ग्रुपों में राजकुमार सैनी के खिलाफ अफवाह चलाने की चर्चाएं !करवाएंगे केस दर्ज : सैनीकैथल खाद्य एवं आपूर्ति विभाग को कैशलेस करने की योजना !कैथल की सरकार पर भ्रष्टाचार मामले में एफआईआर दर्ज होने के बाद भी कोई कार्रवाई न होना बना रहा हास्यास्पद स्थिति !नही चले अयुष्मान कार्ड, बेटे के ईलाज के लिए दर-दर भटक रहे परिजनमर रही थी गाये, न खाने के लिए प्रर्याप्त चारा न की जाती थी देखभाल डीसीआरयूएसटी में एम.एससी. कैमिस्ट्री बना हुआ है टॉप च्वाइस. कैमिस्ट्री में 261 व पीएच.डी में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में 85 ने किया आवेदन

Fashion/Life Style

मार्शल आर्ट्स में अभिनेता अजीत सिंह को मिला येलो बेल्ट

January 30, 2018 03:58 PM
अटल हिन्द ब्यूरो

मार्शल आर्ट्स में अभिनेता अजीत सिंह को मिला येलो बेल्ट

 

Report: Sanjana Singh;

 

अभिनेता अजीत सिंह पिछले कई महीनों से मार्शल आर्ट्स की ट्रेनिंग में व्यस्त हैं। यूँ तो लोग मार्शल आर्ट्स सेल्फ डिफेन्स के लिए सीखते हैं लेकिन ये उससे भी आगे है क्योंकि यह बॉडी को फिट रखने में मदद करती है। हालांकि इसके लिए बहुत मेहनत करना पड़ता है और बहुत ऊर्जा की ज़रुरत पड़ती है। अजित सिंह बिहार के औरंगाबाद जिले से ताल्लुक रखते हैं। इन्होने एक इंडो-इंग्लिश फ़िल्म से इंडस्ट्री में कदम रखा था और बाद में इन्होने भोजपुरी तथा कन्नड़ फ़िल्म में काम किया है। अजित पिछले कुछ महीनों से मार्शल आर्ट्स की ट्रेनिंग ले रहे हैं। कई महीने के कड़ी मेहनत और समर्पण के बाद बीते रविवार यानी 28 जनवरी को इन्हें 'येलो बेल्ट' दिया गया। जब अजीत सिंह से पूछा गया की मार्शल आर्ट्स की ट्रेनिंग लेने का मकसद क्या है तो उन्होंने बताया कि - मार्शल आर्ट्स एक ऐसा अभ्यास है जिससे शरीर में मजबूती, सहनशीलता और रफ्तार इत्यादि आती है जो अभिनय में काफी मददगार साबित होती है। वैसे मेरा टारगेट 'ब्लैक बेल्ट' है। हालांकि दिल्ली अभी दूर है लेकिन असंभव नहीं है और ब्लैक बेल्ट लेकर रहूंगा। उन्होंने यह भी बताया की फ़िल्म न के बराबर करते हुए भी साल 2017 व्यस्तता से भरा था। समय न होने की वजह से दो भोजपुरी फ़िल्में छोड़ना पड़ा था। उन्होंने जोर देते हुए कहा की, किसी भी कलाकार के लिए हाथ में आये फ़िल्म को छोड़ना काफी अफसोसजनक होता है लेकिन क्या किया जाये, सिचुएशन कुछ ऐसा था की मिला हुआ प्रोजेक्ट नहीं कर पाया और इस बात का मुझे काफी अफ़सोस है। इन्होने एक कन्नड़ फिल्म में काम किया था जो बनकर पूरी तरह से तैयार है और बहुत जल्द इसे सिनेमाघरों में रिलीज़ किया जाएगा।

Have something to say? Post your comment