Tuesday, June 25, 2019
 
BREAKING NEWS
लुप्त हुए "तरावड़ी गेट' और 'बाजारी गेट' कुछ हिस्सा बचने पर ऐतिहासिक करनाली गेट का होगा पुन: निर्माणइंडिया टीम में तेज गेंदबाजी कर परचम लहराऐगा तरावड़ी का नवदीप सैणीनशा मुक्ति दिवस पर 26 जून को सैमिनार, बुद्धिजिवी वर्ग तथा सामाजिक संस्थाए करेंगी प्रतिभागी प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना लागू ,गरीब व्यक्ति को भी आर्थिक लाभ मिलेगा -डीसी दीपेंद्र को हरियाणा कांग्रेस प्रधान बनवाने के लिए बड़ी ताकतें हुई लामबंद,कांग्रेस के आधा दर्जन बड़े नेता कर रहे सामूहिक प्रयासनगर परिषद कैथल के सफाई कर्मचारियों ने सर्वसम्मति से अंगूरी देवी को चुना प्रधान पत्रकार संघ के प्रदेशाध्यक्ष बने तरावड़ी के संजीव चौहानलाड़वा हल्के मे मल्टीपल खेल स्टेडिरूम बनवाना होगा प्राथमिकता : संदीप गर्गमुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व मे लाड़वा हल्के ने छुए विकास के नए आयाम : पवन सैनी भाजपा विधायक ने मंत्री के सामने लगाए एसपी मुर्दाबाद के नारे

Literature

ओंकार महायज्ञ में बैठने से नहीं आता कभी असाहय रोग व अकाल कष्ट : शक्तिदेव

March 23, 2018 05:15 PM
अटल हिन्द ब्यूरो

ओंकार महायज्ञ में बैठने से नहीं आता कभी असाहय रोग व अकाल कष्ट : शक्तिदेव

-----

सामूहिक ओंकार महायज्ञ में स्वामी जी ने डाली संपूर्ण आहुति

लाडवा, 23 मार्च

: लाडवा-इंद्री मार्ग पर स्थित प्राचीन हनुमान मंदिर में शुक्रवार को सामूहिक ओंकार महायज्ञ का आयोजन किया गया। ओंकार महायज्ञ का आयोजन जय ओंकार महायज्ञ समिति लाडवा द्वारा किया गया, जिसमें पूर्ण आहुति जय ओंकार अंतर्राष्ट्रीय सेवाश्रम संघ संस्थापक श्री श्री 1008 सद्गुरुदेव स्वामी श्री शक्ति देव जी महाराज, श्री श्री 1008 सद्गुरुदेव स्वामी संदीप ओंकार जी महाराज द्वारा महायज्ञ की परिक्रमा कर डाली। ओंकार महायज्ञ का शुभारंभ प्रचंड मां की स्वरूप कन्याओं व सत प्रकाश कंसल द्वारा ज्योति प्रज्ज्वलित कर किया गया। गणेश पूजन रणबीर ङ्क्षसह गुंदियानी व कलश पूजन सतीश गगैन द्वारा किया गया। राकेश गोयल व खेम चंद गोयल द्वारा भंडारे का शुभारंभ किया। कन्या पूजन सुरेंद्र गोयल व उसके परिवार द्वारा की गई। कार्यक्रम में कांग्रेस के पूर्व जिला प्रधान पवन गर्ग, सूबे ङ्क्षसह, हेम चंद गोयल मु य यजमान के रूप में शामिल हुए। इस अवसर पर श्रद्धालुओं को प्रवचन करते हुए स्वामी शक्तिदेव जी महाराज ने कहा कि निराकार परब्रह्म ओंकार भगवान की महा प्रार्थना है ओंकार महायज्ञ है। ओंकार महायज्ञ में बैठने से कभी असाहय रोग व अकाल कष्ट नहीं आता है और उनका वंश पृथ्वी पर निरंतर जारी रहता है। ओंकार महायज्ञ से स्थानीय देवी-देवताओं को भी बल प्राप्त होता है, ताकि क्षेत्र में सुख-समृद्धि बनी रहे। प्रत्येक मंगल कार्यों के लिए ओंकार महायज्ञ किया जाता है। स्वामी जी ने श्रद्धालुओं को प्रतिदिन अपने घरों में कन्या पूजन व गौ पूजन अवश्य करने की बात भी कहीं। आश्रम के संचालक पंडित शिव नारायण दीक्षित ने कहा कि ओंकार महायज्ञ आत्मा कल्याण हेतु प्रत्येक शहर व गांव में धर्म प्रेमियों के सहयोग से किए जा रहे है। सामूहिक ओंकार महायज्ञ में विधिवत मंत्रोचारण के साथ सभी ने अपने-अपने हवन यज्ञों पर निराकार परब्रह्म ओंकार भगवान का पूजन किया गया। महायज्ञ को सफल बनाने में सहयोगियों व अतिथियों को स्मृति चिन्ह देकर स मानित किया गया। महायज्ञ के समापन पर कन्या पूजन के बाद विशाल भंडारे का आयोजन किया गया, जिसमें भारी सं या में श्रद्धालुओं ने पहुंचकर हलवा-पूरी, छोले व कड़ी-चावल का प्रसाद ग्रहण किया। इस अवसर पर संघ संचालक पंडित शिवनारायण दीक्षित, पवन गर्ग लाडवा, सेवा समिति सदस्य मांगे राम शर्मा, राजेंद्र शर्मा, ऋषि पाल सैनी धानोखेड़ी, प्रिंस धानोखेड़ी, गौरव लाडवा, मंजीत, सोनू शर्मा, अधिवक्ता राजेश दहिया, सुमित कंसल, प्रदीप गोयल, राजेश, अमित गर्ग, रमेश गुप्ता, राजेंद्र गोयल, मदन गोपाल, टेक चंद सहित भारी सं या में श्रद्धालु उपस्थित थे।

Have something to say? Post your comment

More in Literature

जवान लड़कियां संन्यास लेती हैं तो आप उन्हें मां क्यों कहते है?

मिश्रित फल देगा नव विक्रम सम्वत-2076, होंगे राजनैतिक परिवर्तन मिथुन, तुला और कुम्भ राशि और लग्न वालों को लाभ होगा

सिद्ध श्री बाबा बालक नाथ जी प्रचार समिति फरीदाबाद भजनो भरी शाम बाबा जी के नाम का आयोजन किया

सरस्वती अन्नपूर्णा भण्डारा सेवा समिति द्वारा सरस्वती मंदिर मे भंडारे का आयोजन किया

पिहोवा-पितरों की आत्मिक शांति के लिए सरस्वती तीर्थ पर पहुंचने लगे श्रद्धालु

6 अप्रैल से परिधावी नामक नवसंवत 2076 एवं चैत्र नवरात्रि आरंभ

होली आई रे .... होलिका दहन, 20 मार्च की रात्रि 9 बजे के बाद, रंग वाली होली 21 को।

गुरू मां सम्मेलन में मिलती है अनोखी अलौकिक शक्तियां : सुरेंद्र पंवार

खाटू श्याम में बाबा का मेला शुरू, श्याममय हुआ समूचा क्षेत्र, प्रतिदिन गुजरने लगे है श्याम प्रेमियों के जत्थे

शीश के दानी का सारे जग में डंका बाजे ने देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी एक अलग पहचान बनाई - लखबीर सिंह लख्खा