Wednesday, June 19, 2019
 
BREAKING NEWS
जिले का लोकसंपर्क विभाग जुटा है सरकार की नीतियों को आम आदमी तक पहुँचाने में नेहरू युवा केंद्र से जुड़कर युवा नशों और अन्य बुराइयों से बच सकते हैं : अनामिकासेक्स रैकेट, गिड़गिड़ाने लगी पकड़ी गई लड़की, बोली- छोड़ दीजिये, 2 दिन बाद शादी हैजेपी नड्डा को कार्यकारी अध्यक्ष बनाए जाने से उनके अनुभवों से पार्टी प्रदेश मे भी तोडेगी रिकार्ड: सतीश राणाभारतीय सेना के जवान पर कातिलाना हमला हमले में जवान बूरी तरह घायल् अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को महाराजा सूरजमल जाट स्टेडियम में योग शिविर आयोजित किया जाएगा।मनोहर सरकार ने जनहित की योजनाओं और सुशासन की बदोलत जीता जनता का दिल : डॉ. गणेश दत्तश्री अमरनाथ सेवा मंडल की शाखा पूंडरी द्वारा 24वें भंडारे की सामग्री रवानापृथ्वी एक देश है और हम सभी इसके नागरिक हैंधड़ाधड़ बड़े-बड़े मामले सुलझाने वाले इंस्पेक्टर नवीन पाराशर की आईजी हनीफ कुरेशी ने थपथपाई पीठ

Sports

बसताड़ा स्टेडियम की खस्ता हाल को लेकर खिलाडीयों मे रोष, खुले मे करते है खिलाडी लघुशंका

March 31, 2018 05:34 PM
प्रवीण कौशिक

बसताड़ा स्टेडियम की खस्ता हाल को लेकर खिलाडीयों मे रोष,
खुले मे करते है खिलाडी लघुशंका
संबंधित प्रशासन से शिकायत की है लेकिन असर वही ढाक के तीन पात...।
घरौंडा : 31 माच, प्रवीण कौशिक
एक तरफ जहां प्रदेश सरकार युवा खिलाडिय़ों को बढ़ावा देने के लिए ग्रामीण स्तर पर स्टेडियम व व्यायामशालाएं खोलने का दम भर रही है वहीं सरकार मौजूदा स्टेडियमों की ओर कोई ध्यान ही नही दे रही है।
खंड घरौंडा के बसताड़ा स्टेडियम में खिलाडिय़ों के लिए बनाए गए शौचालयों के हालत इतने बदतर है कि इनमें शौच करना तो दूर, अंदर घुसना भी मुश्किल है। आलम यह है कि खिलाडिय़ों को लघुशंका के लिए खुले में जाना पड़ता है। जबकि केंद्र व प्रदेश सरकार खुले में शौच मुक्त पर करोड़ों रुपए खर्च कर चुकी है। दूसरी ओर खिलाड़ी स्टेडियम में बिजली, पानी व अन्य सुविधाओं से महरूम है। स्टेडियम के बिगड़े हालातों से खिलाडिय़ों में प्रशासन के प्रति गहरा रोष है। खिलाडिय़ों का कहना है कि सरकार ओलम्पिक में खिलाडिय़ों से गोल्ड मेडल की उ म्मीद तो करती है लेकिन स्टेडियम में सुविधाओं के नाम पर ठेंगा है। खिलाडिय़ों का कहना है कि स्टेडियम में सुविधाओं को दुरूस्त करने के लिए संबंधित प्रशासन से शिकायत की है लेकिन वहीं ढाक के तीन पात...। खिलाड़ी विशाल नलीखुर्द, शुभम स्टौंडी, हरीश कुमार, बिट्टू, प्रवीण कुमार, विशाल, राजकुमार व अन्य खिलाडिय़ों का कहना है कि बसताड़ा स्टेडियम में दर्जनों गांवों से सैंकड़ों की संख्या में खिलाड़ी अभ्यास के लिए आते है, लेकिन कई एकड़ में फैले इस स्टेडियम में पीने के पानी तक की व्यवस्था तक भी नही है। खिलाडिय़ों को बोतलों में पानी भरकर लाना पड़ता है। अब गर्मी के दिनों में तो परेशानी ओर भी ज्यादा बढ़ जाएगी। शौचालय में भी पानी नही- खिलाडिय़ों का कहना है कि स्टेडियम में अंदर शौचालय बनाए गए है। लेकिन इन शौचालयों में पानी की कोई व्यवस्था नही है। इतना ही नही शौचालयों में इतनी ज्यादा गंदगी है कि इसमें शौच करना तो दूर घुसना भी मुश्किल है। ऐसे में खिलाडिय़ों को खेलने से पहले या तो अपने घर पेट साफ करके स्टेडियम में आना पड़ता है या फिर खुले में शौच जाना पड़ता है। ऐसे सरकार का शौचालयों पर करोड़ों रुपए खर्च करने का क्या फायदा जब उनमें मूलभूत सुविधा ही उपलब्ध नही है। एक ही स्टेडियम पर ध्यान दे ले सरकार- खिलाडिय़ों का कहना है कि स्टेडियम में सुविधाओं का टोटा है। सरकार गांव-गांव में तो स्टेडियम और व्यायामशालाएं तो्र खोलने के लिए आधारशिलाएं रख रही है। लेकिन जो स्टेडियम में प्रशासन से वो ही सही तरीके से संभाला जा खिलाडिय़ों का कहना है कि सरकार यदि बसताड़ा स्टेडियम में ही सुविधाओं को दुरूस्त कर दें तो गांव-गांव में स्टेडियम और व्यायामशालाएं बनाने की शायद जरूरत ही नही पड़ेगी। क्योंकि सरकार जब एक ही स्टेडियम में सही ढंग से सुविधाएं खिलाडिय़ों को मुहैया नही करवा पा रही है तो इतनी व्यायामशालाओं में कहां से सुविधाएं दे पाएगी।
-अनिल कुमार, डीएसओ, करनाल।
- बसताड़ा स्टेडियम में जो भी समस्याएं है। उसको लेकर सोमवार को बसताड़ा स्टेडियम का दौरा
करूंगा और दिक्कतों को दूर करने का प्रयास किया जाएगा।

Have something to say? Post your comment

More in Sports

आमिर सोहेल को मंत्री विपुल गोयल व रहीश खान करेंगे सम्मानित

दूध बेचकर बनी नैशनल खिलाड़ी, संघर्षों की कहानी आशा सैनी की जुबानी

बबीता फौगाट ने चुना अपना जीवन साथी, ट्वीटर पर दी जानकारी

बबीता फौगाट की तबीयत बिगड़ी

कब्बडी की पुणे प्रारइड टीम के कप्तान अमरजीत फौजी ने किया शानदार खेल का प्रदर्शन, लगातार पांच मैचों में हासिल की विजयश्री

अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल खेल में सरस्वती स्कूल पबनावा के विद्यार्थी चेतन का हुआ चयन

तोशाम के गांव बुशान में बाबा बीरबल नाथ के मेले व विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन

किकबाक्सिंग चैम्पियनशिप में फरीदाबाद डै्रगन मार्शल आर्टस एकेडमी ने कब्जा जमाया

खेलों से समय के महत्व, अनुशासन तथा टीम भावना का विकास होता है- प्रियंका सोनी

पूंडरी-छेड़छाड़ से परेशान राष्ट्रीय फुटबॉल खिलाड़ी ने दे दी जान