Atal hind
Uncategorized

SIRSA-सेवानिवृत्त तहसीलदार, पूर्व कानूनगों व कानूनगों को माफी नहीं: जमालिया

सेवानिवृत्त तहसीलदार, पूर्व कानूनगों व कानूनगों को माफी नहीं: जमालिया
सिरसा()अग्रसैन कॉलोनी गली नंबर 10 निवासी महिला रुचि जमालिया के मकान के दस्तावेजों के साथ हुई गड़बड़ी मामले में जिला प्रशासन ने सुधार करते हुए दस्तावेजों को दुरुस्त कर दिया है, जिसके लिए पीडि़त जमालिया परिवार ने जिला प्रशासन व इस लड़ाई में मददगार मीडिया कर्मियों का आभार जताया है। इस सिलसिले में पीडि़त परिवार ने आज एक निजी रेस्तरां में पत्रकार वार्ता की और मामले में नामजद तीन आरोपियों सेवानिवृत्त तहसीलदार ओपी बिश्रोई, पूर्व कानूनगो मदनमोहन मेहता व पूर्व पटवारी जसवंत सिंह के खिलाफ आगामी रणनीति सांझा की। महिला रुचि जमालिया के पति राजीव जमालिया ने बताया कि जिला प्रशासन के उक्त अधिकारियों की एक गलती ने उन्हें किराए के मकान में लाकर रख दिया है। उनके बच्चों की पढ़ाई बाधित हुई है और एक वक्त ऐसा भी आया, जब खाने तक के लाले पड़ गए। बड़ी मुश्किल से उन्होंने यह लड़ाई लड़ी, जिसमें अभी इंसाफ होना बाकी है। जमालिया ने कहा कि उक्त आरोपियों की वजह से उनकी न केवल समाज में मानहानी हुई है,बल्कि आर्थिक व मानसिक प्रताडऩा भी हुई है। चूंकि अब इस मामले में जिला प्रशासन ने इंतकाल दुरुस्त कर दिया है, जिसके लिए वे तत्कालीन डीसी अशोक गर्ग व मौजूदा डीसी रमेश बिढ़ान, एसडीएम जयवीर यादव के आभारी है और इस लड़ाई में सांझेदारी के रूप में भूमिका अदा करने वाले मीडिया कर्मियों के भी वे सदैव ऋणी रहेंगे। उन्होंने बताया कि ओपी बिश्रोई, मदनमोहन मेहता व जसवंत सिंह के खिलाफ माननीय अदालत में मानहानि व मानसिक प्रताडऩा की अपील दायर करेंगे। मामले में न्याय के लिए सुप्रीम कोर्ट तक जाना पड़ेगा, तो भी जाएंगे, लेकिन आरोपियों को सलाखों के पीछे पहुंचाकर ही रहेंगे।वहीं इस मामले में जांच अधिकारी दरिया सिंह ने बताया कि अब मामला न्यायालय मेंं है। मैने जांच कर दी है। अब मामले में जो सुनवाई होगी, वह माननीय अदालत की होगी।

Leave a Comment