AtalHind
टॉप न्यूज़पंजाब

Zirakpur NEWS-जीरकपुर की यादविन्द्रा एन्क्लेव कॉलोनी में अवैध कब्जे को लेकर आए दिन हो रहा है विवाद

जीरकपुर नगर कौंसिल की टीम पर भी किया गया हमला
अटल हिन्द ब्यूरो /रोहित गुप्ता
जीरकपुर 20,जून
जीरकपुर के बिग बाजार के पास यादविन्द्रा एन्क्लेव में शामलात जमीन पर कब्जा रोकने गई नगर कौंसिल की टीम पर हमला करने का मामला सामने आया है। इस बीच जब कॉलोनीवासियों ने भी कब्जे का विरोध किया तो उन्होंने उस पर तेजधार हथियार से हमला कर उसका सिर फाड़ दिया, इलाज के लिए उसे ढकोली ले जाया गया। मामले की शिकायत पुलिस को दी गई है।
Advertisement
Advertisement
इससे पहले भी पिछले कई दिनों से इस कॉलोनी में कब्जे को लेकर रोजाना विवाद हो रहा है, जिसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा था ।मामले की जानकारी देते हुए यादविन्द्रा एन्क्लेव कॉलोनी निवासी गुरसेवक सिंह, प्रदीप धीमान, संदीप धीमान, ओम प्रकाश, तनवीर खान, कुलदीप सिंह, पंकज कुमार, प्रिंस कुमार, अजमेर कौर, बलदेव कौर, निर्मला देवी, प्रकाशो और सुखविंदर कौर समेत अन्य ने बताया कि कथित तौर पर जसवंत सिंह नाम का व्यक्ति कॉलोनी की सरकारी सड़क पर कब्जा करने की कोशिश कर रहा है,इसकी शिकायत उनके द्वारा नगर परिषद कार्यालय में दी गई,
Advertisement
जिस पर नगर परिषद ने जसवन्त सिंह का काम रुकवा दिया, लेकिन बीती रात जसवन्त सिंह ने दोबारा अपना निर्माण कार्य शुरू कर दिया, जिसका कॉलोनी वासियों ने विरोध किया। जसवन्त सिंह ने लोगों को गालियां दी गई।कॉलोनी वासियों ने बताया कि वीरवार को जसवन्त सिंह ने सरकारी रास्ते पर कब्जा करने की कोशिश की और जब मामले की जानकारी मिलने पर नगर परिषद की टीम जसवन्त सिंह का काम रुकवाने पहुंची तो जसवन्त सिंह ने नगर परिषद की टीम के साथ बहसबाजी शुरू कर दी इस बीच उनके साथ मारपीट भी की गई,
Advertisement
जिसके बाद नगर परिषद की टीम जसवन्त सिंह का काम रुकवाकर चली गई, लेकिन इसी बीच जसवन्त सिंह ने संदीप के सिर पर कुछ लाठियों से वार कर उसे घायल कर दिया, जिसे उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मामले की शिकायत संदीप ने पुलिस को दी है। कॉलोनी वासियों की मांग है कि जसवंत सिंह को सरकारी जमीन पर कब्जा करने से रोका जाए।
Advertisement
Advertisement
उन्होंने कहा कि अगर जसवंत सिंह कब्जे से नहीं हटे तो उन्हें अपना संघर्ष तेज करना होगा। इस संबंध में जसवन्त सिंह ने कहा कि उनकी ओर से सरकारी सड़क पर कब्जा नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उन्होंने अपनी जमीन के कागजात नगर परिषद के अधिकारियों को दिखाए हैं, लेकिन इसके बावजूद कॉलोनीवासियों की शिकायत पर नगर परिषद की टीम उनका काम रोक रही है।
Advertisement
Advertisement

Related posts

किसानों को ट्यूबवेल के लिए बिजली कनेक्शन में देरी के लिए सरकार को नोटिस

admin

आम आदमी कब से कर पाएगा राम मंदिर में दर्शन, क्या लगेगा कोई शुल्क?

editor

हाई कोर्ट के वकील प्रदीप रापडिया ने कोरोनिल खरीद में सूचना के अधिकार के तहत सरकार के निर्णय पर खड़े किए गंभीर सवाल!

admin

Leave a Comment

URL