Atal hind
राष्ट्रीय हेल्थ

जिस स्वास्थ्य सुविधा  आयुष्मान कार्ड को लेकर मोदी बीजेपी ने वाहवाही लूटी ,ये तो ढकोसला निकला 

जिस स्वास्थ्य सुविधा

आयुष्मान कार्ड को लेकर मोदी बीजेपी ने वाहवाही लूटी ,ये तो ढकोसला निकला

नेता बिरादरी को छोड़ सभी अपात्र हो जाएंगे आयुष्मान कार्ड धारक

30 अक्तूबर तक करवाएं कार्ड रद्द नहीं तो होगी कानूनी कार्रवाई

कैथल, 8 अक्तूबर( अटल हिन्द/राजकुमार अग्रवाल )

2011  और  2021 के मध्य भारत ही नहीं विदेशों में भी भारत की बीजेपी और उसके नेता जिस स्वास्थ्य सुविधा आयुष्मान कार्ड को लेकर मोदी बीजेपी ने वाहवाही लूटी ,ये तो ढकोसला निकला क्या इसी को स्वास्थ्य सुविधा देना कहते है तो सबसे पहले भारतीय नेताओं को मिलने वाली वीवीआईपी स्वास्थ्य सुविधा बंद करनी चाहिए

क्योंकि उनकी और उनके परिवार की आय आम आदमी की आमदनी से कई गुना है फिर भी वो वीवीआईपी स्वास्थ्य सुविधा ले रहे हैं दूसरी तरह हरियाणा सरकार आम आदमी के परिवार की वार्षिक आमदनी के बहाने इस स्वास्थ्य सुविधा आयुष्मान  वंचित करना चाहती है यानी नेता नेता है आम आदमी आम आदमी है।

जिला प्रशासन ने जारी प्रेस नोट में कहा है की अपात्र आयुष्मान कार्ड धारक 30 अक्तूबर तक करवाएं कार्ड रद्द नहीं तो होगी कानूनी कार्रवाई लेकिन कैथल प्रशासन भी कैथल प्रशासन है सिर्फ आम आदमी को कार्यवाही की धमकी तो दे रहा है लेकिन यह नहीं बता रहा की 2011 ओर 2021 के बीच ऐसा क्या हुआ की आम आदमी स्वास्थ्य सुविधा आयुष्मान  सुविधा का लाभ लेने में अपात्र हो गया अगर कोई अपात्र था या है तो उसका नाम स्कीम में कैसे आया।

क्या भारत सरकार जिस स्वास्थ्य स्कीम का ढिंढोरा दुनिया भर में पीट रही है मात्र दिखावा है या फिर राज्य सरकार और केंद्र सरकार के बीच इस स्वास्थ्य सुविधा को लेकर अदंर खाते कुछ और चल रहा है जिसे सार्वजनिक ना करके सिर्फ लोगों  गुमराह किया जा रहा है।

जैसा की  उपायुक्त प्रदीप दहिया ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना है, जिसके तहत हर साल 5 लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज हो रहा है। ऐसे में जरूरतमंद तक इस योजना का लाभ पहुंचे प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग इसके लिए तत्पर है।

आयुष्मान योजना का लाभ लेने के लिए कुछ ऐसे लोगों ने भी कार्ड बनवा रखें हैं जो इसके लिए पात्र नहीं हैं। प्रशासन द्वारा उन्हें 30 अक्टूबर तक का समय दिया जाता है कि वे अपना कार्ड रद्द करवा लें नहीं तो उचित कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। अपात्र कार्ड धारक आयुष्मान योजना के जिला आईटी प्रबंधक विजेंद्र (90344-58507)के पास कार्ड जमा करवाएं।

उपायुक्त ने कहा कि अटल सेवा केंद्रों पर संचालक आयुष्मान योजना के पात्र से 15 अक्टूबर तक कोई फीस नहीं लें। अगर फीस ली जाती है तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। योजना के तहत जिले में कुल 5 हजार 839 लोगों के कार्ड बनाए जा चुके है। आगामी 15 अक्टूबर तक आपके द्वार, आयुष्मान पखवाड़ा के तहत ज्यादा से ज्यादा लोगों के कार्ड बनाए जाए, ताकि प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना का लाभ अधिक से अधिक व्यक्ति को मिल सके।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

सरकार को ख़ुद को बेगुनाह साबित करना चाहिए-प्रेस संगठन

admin

नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री होने का नैतिक अधिकार खो चुके हैं

admin

निजी अंगों पर हुआ हमला- प्रदर्शन कर रहीं कार्यकर्ता

atalhind

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL