AtalHind
गुरुग्राम (Gurugram)टॉप न्यूज़हरियाणा

अटल हिन्द के विशेष संवाददाता फतह सिंह उजाला से राव इंद्रजीत सिंह की हुई करनाल करोड़ो रूपये भ्रष्टाचार पर खुली बातचीत

अटल हिन्द के विशेष संवाददाता फतह सिंह उजाला से राव इंद्रजीत सिंह की हुई करनाल करोड़ो रूपये भ्रष्टाचार पर खुली बातचीत

जीरो टोलरेंस और भ्रष्टाचार मुक्त शासन भाजपा की प्राथमिकता: इंद्रजीत

भ्रष्टाचारी मानसिकता के कर्मचारी अधिकारी अभी भी सक्रिय, इनकी जड़े गहरी

सरकार की कार्यप्रणाली की बदौलत ही भ्रष्टाचारियों की धरपकड़ भी जारी

देहात और शहरी चुनी गई सरकार के प्रमुख को दी जाये एसीआर पावर

पंजाब के राजनीतिक बदलाव को देख हरियाणा के लिए कहना जल्दबाजी

फतह सिंह उजाला
पटौदी । जीरो टॉलरेंस और भ्रष्टाचार मुक्त शासन-प्रशासन भाजपा पार्टी और सरकार की पहली प्राथमिकता है । पीएम मोदी के नेतृत्व में विभिन्न राज्यों में भाजपा नीत सरकार की भी यही प्राथमिकता है, कि लोगों को भ्रष्टाचार मुक्त शासन प्रशासन मिले साथ ही समय बद्ध सीमा में निर्धारित विकास कार्य पूरे किए जाएं। हाल ही में सीएम सिटी करनाल में करोड़ों रुपए के भ्रष्टाचार और इसमें संलिप्त अधिकारियों की गिरफ्तारी सहित गुरुग्राम जीएमडीए की बैठक में भी उठने वाले कथित भ्रष्टाचार के सवाल के जवाब में राव इंद्रजीत सिंह ने विशेष बातचीत के दौरान यह बात कही । राव इंदरजीत सिंह अपने राजनीतिक गढ़ पटौदी विधानसभा हलके के हेलीमंडी इलाके में अपने समर्थकों के यहां पहुंचे थे। इसी मौके पर उनसे विभिन्न मुद्दों पर खुलकर बात की गई ।

राव इंद्रजीत सिंह ने कहा हरियाणा में एचएसएससी सहित अन्य भर्ती घोटाले के मामले हो या फिर हाल ही में चर्चा में आया करनाल का मामला हो। भाजपा नेतृत्व वाली सरकार की कार्यप्रणाली के कारण ही इस प्रकार के भ्रष्टाचार में शामिल बड़े खिलाड़ी कर्मचारी और अधिकारी भी नापे जा रहे हैं । भ्रष्टाचार के मामले में किसी भी प्रकार का कोई भी समझौता भारतीय जनता पार्टी और भाजपा नेतृत्व में बनी सरकार को स्वीकार नहीं है । उन्होंने कहा भ्रष्टाचार मानसिकता के कर्मचारी और अधिकारी मौका लगते ही अपना खेल खेलते हैं, क्यो कि सरकारी सेवा में लंबे समय से कार्यरत कुछ लोगों को इसकी लत पड़ी हुई है। लेकिन भातपा नेतृत्व की सरकार की पैनी नजर से ज्यादा समय तक बच कर नहीं रहा जा सकता । यही कारण है कि भ्रष्टाचार करने वाले कर्मचारी और अधिकारियों की लगातार धर पकड़ भी जारी है।

जीएमडीए की बैठक में मेयर और पार्षदों सहित अधिकारियों के बीच तनातनी और कथित रूप से मनमाने तरीके से करोड़ों रुपए के भुगतान में भ्रष्टाचार के आरोपों के संदर्भ में राव इंद्रजीत सिंह ने कहा कि सविधान में किया गया अमेंडमेंट के बाद आर्टिकल 73 और 74 को राज्य सरकार ने लागू करें, यह मामला पूरी तरह से राज्य सरकारों पर छोड़ दिया गया है । इसके तहत देहात की चुनी हुई सरकार और शहरी क्षेत्र की सरकार के सर्वाेच्च पद पर पद आसीन जनप्रतिनिधि को एसीआर लिखने की पावर का प्रावधान है। यदि ऐसा होता है तो निश्चित ही अधिकारियों की कार्यप्रणाली में भी पहले के मुकाबले और अधिक बदलाव देखने के लिए मिलेगा साथ ही भ्रष्टाचार पर भी और अधिक सच्चाई से लगाम कसी जा सकेगी। उन्होने कहा आर्टिकल 73-74 को लागू करने के लिए उनके द्वारा लगातार मांग उठाई जा रही है, इसके साथ ही जीएमडीए का हैडक्वाटर व संबंधित अधिकारी गुरूग्राम में ही हो, अनावश्यक रूप से फाइलें चंडीगढ़ में नहीं अटकनी चाहिये। इससे विकास ककार्य बुरी तरह से प्रभावित होते हैं।

Rao Inderjit Singh had an open conversation with Atal Hind’s Special Correspondent Fatah Singh Ujala on corruption worth crores of rupees

हाल ही में पड़ोसी राज्य पंजाब में आम आदमी पार्टी को मिले प्रचंड बहुमत और वहां आप की सरकार बनने के बाद , क्या पड़ोसी राज्य हरियाणा में भी आने वाले समय में इसका राजनीतिक प्रभाव देखने के लिए मिलेगा ? इस सवाल के जवाब में राव इंद्रजीत सिंह ने कहां की सबसे पहले आम आदमी पार्टी को पंजाब में ही अपने आप को साबित करके दिखाना होगा । पंजाब का खजाना पूरी तरह से खाली है , पंजाब के लोगों को आप की नई सरकार से बहुत अधिक अपेक्षाएं भी हैं । हरियाणा में पंजाब के राजनीतिक बदलाव के असर के प्रभाव के विषय में अभी कुछ भी कहना बहुत जल्दबाजी होगी। पंजाब के अलावा उत्तर प्रदेश सहित अन्य चार राज्यों में लोगों ने भाजपा में ही अपना विश्वास जाहिर किया है इससे स्पष्ट हो जाता है कि आज भी पीएम मोदी और उनकी जन कल्याणकारी नीतियों को जनता का प्यार और समर्थन खुलकर मिल रहा है ।

अहीर रेजिमेंट को लेकर खेड़की दौला में चल रहे अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन और रेजिमेंट की मांग पर राव इंद्रजीत सिंह ने कहा कि अहीर रेजिमेंट के लिए मेरा पहले दिन से ही खुला समर्थन है और मांग भी है कि अहीर रेजिमेंट का गठन अहीरवाल की भावना को देखते हुए किया जाना चाहिए। 1962, 1965, 1972 से लेकर कारगिल युद्ध तक सबसे अधिक बलिदान अहीरवाल के जांबाज सैनिकों के द्वारा देश हित में दिया गया है । सर्वाधिक और सर्वाेच्च सेना के मेडल भी अहीर सैनिक योद्धाओं को ही प्राप्त हुए हैं । इसी मौके पर उन्होंने कहां की पीएम मोदी के नेतृत्व में आज भी दुनिया में भारत पहले के मुकाबले मजबूत राष्ट्र की छवि उभर कर सामने आई है । विपक्ष के पास आज के समय में भाजपा सरकार के खिलाफ बोलने के लिए कोई भी मुद्दा नहीं है और ना ही पीएम मोदी के मुकाबले का कोई नेता विपक्ष के पाली में दिखाई दे रहा है । देश की जनता को पीएम मोदी से बहुत उम्मीदें हैं और भरपूर प्यार से समर्थन भी प्राप्त हो रहा है।

Advertisement

Related posts

यूपी पुलिस के फेक एनकाउंटर मामलों को दबाया गया, एनएचआरसी ने भी नियमों का उल्लंघन किया: रिपोर्ट

atalhind

उपराज्यपाल अनिल बैजल  ने दिल्ली पुलिस आयुक्त को एनएसए के तहत हिरासत में लेने का अधिकार दिया

admin

हम ‘हार्ट टू हार्ट कनेक्ट‘ में विश्वास रखते हैं: सीएम खट्टर

admin

Leave a Comment

URL