AtalHind
मनोरंजन

देश में पहली बार कलाकारों को ब्लैक लिस्ट किया: विश्वदीपक त्रिखा

black
 देश में पहली बार कलाकारों को ब्लैक लिस्ट किया: विश्वदीपक त्रिखा

कलाकारों को ब्लैक लिस्ट किया जाने की की कार्रवाई की हो जांच

कला परिषद के निदेशक ने पटियाला और इलाहाबाद भेजी लिस्ट

Advertisement

जिसके कारण से अनेक कलाकारों को काम मिलना ही बंद हो गया

फतह सिंह उजालागुरुग्राम। मल्टी आर्ट कल्चरल सेंटर कुरुक्षेत्र के पूर्व उप-निदेशक विश्वदीपक त्रिखा ने हरियाणा के 24 कलाकारों के खिलाफ हरियाणा कला परिषद की कार्रवाई पर विरोध जाहिर किया है। उन्होंने कहा है कि ऐसे किसी कलाकार को ब्लैक लिस्ट करना न्याय संगत नहीं है। यह एक तरह से कलाकारों का मनोबल गिराना है। साथ ही उन्होंने कला परिषद की ओर से की गई इस कार्रवाई की जांच की भी मांग की है, क्योंकि विभाग के अधिकारियों द्वारा ऐसा कोई पत्र नहीं भेजने की बात कही जा रही है।

विश्वदीपक त्रिखा ने कहा कि हरियाणा कला परिषद के निदेशक की ओर से हरियाणा के 24 कलाकारों के नाम सहित एक सूची बनाकर पटियाला और इलाहाबाद कला अकादमी को भेजी गई। इस सूची में साफ लिखा गया कि सरकार के खिलाफ काम करने पर इन कलाकारों को ब्लैक लिस्ट किया गया है। इसलिए इन्हें कोई काम ना दिया जाए। इसके साथ ही ये सभी 24 कलाकार वहां से भी ब्लैक लिस्ट हो गए।

Advertisement

उन्होंने बताया कि ब्लैक लिस्ट करने के बारे में जब उन्हें पत्र मिला तो उसकी जानकारी मांगी गई। रोहतक जोन के एडिशनल डायरेक्टर और सीएम के ओएसडी गजेंद्र फौगाट व विभाग के प्रिंसिपल सेक्रट्री डी. सुरेश को पत्र लिखकर ब्लैक लिस्ट करने के बारे में जानकारी मांगी गई। दोनों अधिकारियों की ओर से जवाब मिला कि उन्होंने इस तरह का कोई पत्र जारी नहीं किया है। त्रिखा का कहना है कि ब्लैक लिस्ट किए गए कलाकारों के पत्र पर निदेशक संजय भसीन के हस्ताक्षर हैं। सरकार को उनसे जवाब लेना चाहिए कि आखिर कलाकारों ने क्या गुनाह किया है, जो उन्हें ब्लैक लिस्ट कर दिया गया। उनकी इस कार्यवाही से कलाकारों को काम मिलना बंद हो गया है। हरियाणा में पहले से दुर्भावना से काम हो रहा है। कलाकार अधिकारियों की राजनीति का शिकार हैं। अब रही सही कसर उन्हें ब्लैक लिस्ट करके निकाल दी गई है। अब उनके सामने काम का संकट खड़ा हो गया है। उन्होंने सीएम विंडो पर शिकायत देकर इस पत्र की जांच की मांग की है। साथ ही कहा है कि कलाकारों के साथ ऐसा व्यवहार करने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई भी हो। 

Share this story

Advertisement
Advertisement

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

न्यूडिस्ट क्लब (Nudist Club)यू.एस. में काफी लोकप्रिय है

atalhind

महिलाओं को चुनने की आज़ादी से वंचित करने का प्रयास है

admin

नरवाना में मुकेश नाइट कार्यक्रम का आयोजन

admin

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL