AtalHind
गुरुग्रामटॉप न्यूज़राजनीतिहरियाणा

दक्षिणी हरियाणा से खत्म होती जा रही जेजेपी ?डिप्टी सीएम दुष्यंत के विशेष सहायक महेश चौहान का पार्टी से इस्तीफा

दक्षिणी हरियाणा से खत्म होती जा रही जेजेपी ?डिप्टी सीएम दुष्यंत के विशेष सहायक महेश चौहान का पार्टी से इस्तीफा
10 दिन पहले विशेष सहायक पद व अब प्राथमिक सदस्यता से किनारा

पटौदी विधानसभा क्षेत्र में जननायक जनता पार्टी को सबसे बड़ा घाटा

अटल हिन्द ब्यूरो /फतह सिंह उजाला
बोहड़ाकला/पटौदी । इसे अरविन्द केजरीवाल पर हरियाणा की जनता का बढ़ता विश्वास कहें या दुष्यंत चौटाला की पार्टी कार्यकर्ताओं के प्रति दबंगता जिसके कारण दक्षिण हरियाणा एक महत्वपूर्ण हल्के पटौदी से जेजेपी लगभग खत्म होती जा रही है जिसके चलते हरियाणा में राजनीति मौसम तेजी से बदल रहा है , ऊपर से आदमपुर के उपचुनाव भी सिर पर आए हुए हैं । ऐसे में सभी पार्टियां अपना-अपना जनाधार मजबूत करने में पसीना बहा रही है । पसीना बहाने में पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से लेकर स्थानीय पदाधिकारी भी शामिल है । लेकिन जिस प्रकार से राजनीति में उठापटक का दौर चला है , वह थमने का नाम ही नहीं ले रहा । जब से हरियाणा में आम आदमी पार्टी के सुप्रीमो और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल का दौरा हुआ है, उसके बाद से हरियाणा का राजनीतिक पारा बदलते मौसम में और अधिक गर्म होता दिखाई दे रहा है ।

इसी कड़ी में बुधवार को जननायक जनता पार्टी जो कि हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी की सरकार में सहयोगी पार्टी है। इसी जननायक जनता पार्टी के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला के विशेष सचिव सहायक महेश चौहान के द्वारा जजपा की प्राथमिकता सदस्यता सहित सभी पदों से इस्तीफा दे दिया गया है । फोन पर संपर्क किया जाने पर महेश चौहान ने कहा, हां यह बात पूरी तरह से सही है कि डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला के विशेष सहायक पद से और इसके बाद पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से उन्होंने अपना इस्तीफा दे दिया है । सूत्रों के मुताबिक विशेष सहायक पद का इस्तीफा सौंपने के बाद ही स्वीकार कर लिया गया था, लेकिन बुधवार को उन्होंने सार्वजनिक तौर पर जननायक जनता पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से भी इस्तीफा देने की घोषणा कर दी । महेश चौहान ने बताया कि 1996 से ही वह चौधरी देवीलाल परिवार के साथ राजनीतिक रूप से पूरी तरह समर्पित होकर जुड़े हुए रहे हैं ।

1996 से 2000 तक पटौदी विधानसभा क्षेत्र का हल्का प्रधान की जिम्मेदारी उन्होंने निभाई , 2006 से 2008 तक युवा प्रदेश उपाध्यक्ष, 2010 तक प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष, 2012 तक युवा जिला अध्यक्ष गुरुग्राम, 2014 तक प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य , 2018 तक पटौदी हल्का अध्यक्ष,  2019 तक राष्ट्रीय महासचिव जन नायक सेवादल, 2020 तक जेजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य और इसके बाद 2020 से 2022 तक हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला के विशेष सहायक पद पर कार्यरत रहे हैं। इसके साथ ही वर्ष 2007 से 2021 तक जिला रेवाड़ी और महेंद्रगढ़ का प्रभारी का दायित्व भी उनके द्वारा निभाया जा चुका है ।

महेश चौहान के द्वारा बातचीत में बताया गया कि हाल ही में उनको जननायक जनता पार्टी के सदस्यता अभियान के लिए जिला रोहतक और महेंद्रगढ़ के चुनाव प्रभारी का जिम्मेदारी सौंपी गई थी । जब वह इन जिलों में पहुंचे तो पार्टी कार्यकर्ताओं ने अपनी अपनी अनदेखी और किसी भी प्रकार के कार्य नहीं होने का दुखड़ा रोकर सुनाया। इसके बाद भारी मन से वह वापस अपने गृह क्षेत्र पटौदी विधानसभा क्षेत्र में पहुंचे और लोगों से जब मुलाकात की तो वास्तविक हालात और भी अधिक विचलित करने वाले सामने निकल कर आए । महेश चौहान के मुताबिक इसके बाद उन्होंने जननायक जनता पार्टी के संस्थापक पूर्व सांसद डॉक्टर अजय सिंह चौटाला से फोन पर और व्यक्तिगत रूप से मिलकर पूरे क्षेत्र में जननायक जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं का दर्द सहित उनकी हो रही हर स्तर पर उपेक्षा के विषय में अवगत करवाया। इस मुलाकात के दौरान जो भी कार्यकर्ता मौजूद थे, सभी साथियों ने अपनी अपनी उपेक्षा का दर्द पार्टी सुप्रीमो के समक्ष ब्यान किया ।

महेश चौहान के मुताबिक जननायक जनता पार्टी अपने मूल सिद्धांतों से भटक गई है। डिप्टी सीएम और जननायक जनता पार्टी का शीर्ष नेतृत्व अब कुछ चाटुकारो से घिरा हुआ है , जो कि जमीनी हकीकत और फील्ड में काम करने वाले कार्यकर्ताओं की परेशानी से पूरी तरह अनभिज्ञ हैं या फिर अनदेखा करते आ रहे हैं। महेश के मुताबिक आज हालात यह बने हुए हैं कि जननायक जनता पार्टी में पुराने निष्ठावान और वफादार कार्यकर्ताओं की पूरी तरह से अनदेखी की जा रही है । उन्होंने दावा किया कि इस सभी मामलों सहित गंभीर विषय को लेकर डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला से तीन बार व्यक्तिगत मुलाकात के दौरान उनको विशेष रूप से दक्षिणी हरियाणा में जननायक जनता पार्टी की बदतर हो रही हालात के विषय में अवगत कराया गया। लेकिन किसी प्रकार का सुधार पार्टी संगठन और नेतृत्व के द्वारा नहीं किया गया। इन सभी हालात में हो रही घोर उपेक्षा और उपेक्षित माहौल में अपने तमाम समर्थकों और कार्यकर्ताओं की उपेक्षा से आहत होकर बुधवार को जननायक जनता पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से भी इस्तीफा दे दिया है।


इसी कड़ी में बुधवार को जननायक जनता पार्टी के पटौदी शहरी अध्यक्ष प्रीतम लाल गुप्ता सहित आधा दर्जन से अधिक जननायक जनता पार्टी के पूर्व पदाधिकारी और जिला कार्यकारिणी के सदस्यों के द्वारा समर्थकों सहित जननायक जनता पार्टी को अलविदा बोल दिया गया । जननायक जनता पार्टी के पटौदी शहरी अध्यक्ष प्रीतम लाल गुप्ता के आवास पर पत्रकारों से बात करते हुए पार्टी के ही जिला गुरुग्राम के पूर्व प्रधान महासचिव और पूर्व हलका अध्यक्ष फूल सिंह सैनी ने बताया कि बीते काफी दिनों से पार्टी के अंदर एक प्रकार से पुराने और निष्ठावान कार्यकर्ताओं की अनदेखी का सिलसिला बना हुआ है । उन्होंने कहा जननायक जनता पार्टी को दुखी मन से अलविदा कहने वाले हम सभी कार्यकर्ता पूर्व उप प्रधानमंत्री स्वर्गीय ताऊ देवीलाल के साथ काम करने वाले और उनकी नीतियों पर आज ही भरोसा रखने वाले निष्ठावान व्यक्ति हैं । लेकिन पार्टी में ही अब ऐसा नेतृत्व है , जिसके रहते हुए बैठक, मीटिंग या कार्यक्रम के विषय में कोई जानकारी नहीं मिलती है । कुछ दिन पहले ही डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला बिलासपुर में पहुंचे थे , लेकिन उनके आगमन को कथित रूप से व्यक्तिगत बताते हुए वर्तमान और पूर्व पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को जानकारी देना भी जरूरी नहीं समझा गया । यह कोई पहला मौका नहीं है, 4 दिन पहले भी जननायक जनता पार्टी की पटौदी क्षेत्र में ही बैठक आयोजित की गई । उसके विषय में भी जानकारी उपलब्ध नहीं करवाई गई । इन हालात को देखते हुए कार्यकर्ता अपने आप को ठगा हुआ महसूस अपमानित महसूस करने लगे ऐसे में यही फैसला किया गया कि जननायक जनता पार्टी से अपने आप को अलग कर लिया जाए।

जननायक जनता पार्टी के शहरी अध्यक्ष प्रीतम लाल गुप्ता के द्वारा बताया गया कि पार्टी से अपने आप को अलग करने और विभिन्न पदों से त्यागपत्र देने वालों में मुख्य रूप से जननायक जनता पार्टी के जिला कार्यकारिणी सदस्य डॉ ताज मोहम्मद, राज सिंह चौहान, राधेश्याम सैनी, जननायक जनता पार्टी के पूर्व हल्का अध्यक्ष किसान सेल राम अवतार सैनी, कर्मचारी संघ के पूर्व प्रधान हर भगवान सैनी, प्रेम शर्मा , जीत सिंह व इनके समर्थकों के द्वारा जननायक जनता पार्टी से अपने आप को पूरी तरह अलग कर लिया गया है ।

यहां पूछे गए सवाल के जवाब में इन सभी ने कहा कि अपने जितने भी समर्थक हैं, उन सभी से विचार विमर्श करने के बाद ही किसी भी प्रकार का राजनीतिक फैसला किया जाएगा । इन नेताओं के द्वारा साफ़-साफ़ शब्दों में बोला गया कि कार्यकर्ताओं की कोई सुनवाई नहीं हो रही , काम नहीं हो रहे । ऐसे में लोगों के बीच जाकर जवाब देना भी संभव नहीं हो पा रहा है । यही कारण था कि 4 दिन पहले भी बड़ी संख्या में एक साथ जननायक जनता पार्टी के ऐसे समर्पित पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं के द्वारा पार्टी छोड़ने की घोषणा की गई जोकि बीते काफी लंबे समय से पूर्व उप प्रधानमंत्री ताऊ देवीलाल के अनुयाई रहे हैं । इससे भी इंकार नहीं जननायक जनता पार्टी से जुड़े हुए और भी पदाधिकारी अथवा कार्यकर्ता भी अपने आप को पार्टी से अलग करने की घोषणा कर सकते हैं।

Advertisement

Related posts

ओपी धनखड़ ने मनोहर  खुश चुनाव के संघर्ष में मात खाने वाले नेताओं को बनाया  सिपहसालार

admin

भारत में नौजवान हताशा और बदहवासी में सड़क पर थे, प्रधानमंत्री पुष्प वर्षा का सुख ले रहे थे

atalhind

हरियाणा में  मृतक देशराज का 25 साल बाद मिला मृत्यु प्रमाण-पत्र,

admin

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL