AtalHind
राजनीतिहरियाणा

हरियाणा कांग्रेस प्रधान बड़ा या भूतपूर्व विधायक ,उदयभान  ने अपना मखौल उड़वाया 

उदय भान हरियाणा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष बनने के लायक नहीं
नेम प्लेट ने खोल दी उदय भान की सोच की पोल
उदय भान के लिए अध्यक्ष पद से ex-mla का ओहदा बड़ा
उदय भान सिर्फ हुड्डा की कठपुतली के तौर पर काम करेंगे
हरियाणा कांग्रेस प्रधान बड़ा या भूतपूर्व विधायक ,उदयभान  ने अपना मखौल उड़वाया

चंडीगढ़। कहते हैं कि  “पूत के पाँव पालने में ही नजर आ जाते हैं”। यह नजारा आज हरियाणा कांग्रेस के चंडीगढ़ मुख्यालय में देखने को मिला  आज जब कांग्रेस के चंडीगढ़ मुख्यालय में जाना हुआ तो वहां “हैरानीजनक” नजारा देखने को मिला।
सैलजा को हटाकर बनाए गए नए हरियाणा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष उदयभान के नाम की प्लेट लगी हुई देखी। इस नेम प्लेट को देखकर माथा “ठनक” गया और उदय भान की सोच पर “सवालिया” निशान खड़ा हो गया।
Advertisement
उदय भान की मंजूरी से लगाई गई इस नेम प्लेट से यह जाहिर हो गया कि वह हरियाणा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद के “काबिल” नहीं हैं।
उदय भान ने “अभूतपूर्व” काम करते हुए प्रेसिडेंट के नाम के साथ साथ ex-mla भी अपने नाम के आगे लिखवाया है।यानी उदय भान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से ज्यादा “बड़ा” पद Ex MLA का पद मानते हैं।
इसलिए उन्होंने प्रेसिडेंट लिखवाने के साथ-साथ ex-mla भी लिखाने का “बेजोड़” काम कर दिखाया है। चार बार के एमएलए रह चुके उदय भान की नेम प्लेट तो यह जाहिर करती है कि उन्हें जरा सा भी सियासी ज्ञान नहीं है।
Advertisement
एक जागरूक कार्यकर्ता को भी यह पता होता है कि अध्यक्ष का पद हरियाणा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष का पद EX MLA से 100 गुना बड़ा होता है लेकिन उदय भान को अध्यक्ष पद की बजाय ex-mla पद का बड़ा लगा और इसलिए उन्होंने अपने कमरे के बाहर प्रेसिडेंट से पहले नाम के साथ EX MLA लिखवा दिया।
कांग्रेस के इतिहास में इस तरह के नाम की प्लेट किसी भी अध्यक्ष के साथ नहीं देखी गई। उदय भान की नेम प्लेट नहीं साबित कर दिया है कि उनकी अगुवाई में हरियाणा कांग्रेस का कोई भला नहीं होगा।
इस नेम प्लेट से साबित हो गया कि भूपेंद्र हुड्डा ने कठपुतली के तौर पर इस्तेमाल करने के लिए उदयभान को प्रदेश अध्यक्ष बनवाया है।
Advertisement
उदयभान हुड्डा की हां में हां मिलाने का काम करेंगे।
उदय भान सिर्फ और सिर्फ भूपेंद्र हुड्डा की कठपुतली तौर पर काम करेंगे।यानी उदय भान का अपना कोई वजूद नहीं होगा और वह सिर्फ भूपेंद्र हुड्डा की डफली बजाते हुए नजर आएंगे।
बात यह है कि उदय भान को भूपेंद्र हुड्डा ने सिर्फ इसी खासियत के कारण विधायक बनाया है कि वह कभी उनके साथ तर्क नहीं करेंगे। कभी उनके साथ सवाल जवाब नहीं करेंगे।
वह कभी उनके फैसलों पर सवाल नहीं उठाएंगे और वह हमेशा उनकी जी हजूरी में मौजूद रहेंगे। उदय भान की नेम प्लेट ने बता दिया कि 4 बार के विधायक बनने के बावजूद उदय भान का अपना ने तो कोई वजूद है, न उनकी कोई समझ है और ना ही राजनीतिक रसूख। भूपेंद्र हुड्डा ने उदयभान को सिर्फ अपने फायदे के लिए प्रदेश अध्यक्ष बनाया है। उदय भान प्रदेश अध्यक्ष बनकर खुश रहेंगे और भूपेंद्र हुड्डा उनकी कलम और ओहदे का भरपूर इस्तेमाल करेंगे
Advertisement
Advertisement

Related posts

Haryana News-मनोहर लाल  खट्टर  की हिटलर शाही बीजेपी को भारी पड़ी,कांग्रेस और आप हुई मजबूत 

editor

भारत की राज्यसभा में बैठते है  अपराधी ,31 प्रतिशत सांसदों के ख़िलाफ़ दर्ज हैं आपराधिक मामले: रिपोर्ट

atalhind

गुरूग्राम एमएलए जरावता की पाठशाला में नगर निगम मानेसर, जीएमडीए., पीडब्ल्यूडी., जल, विद्युत, शिक्षा, रेवेन्यु अधिकारी तलब

atalhind

Leave a Comment

URL