AtalHind
राजनीति हरियाणा

हरियाणा कांग्रेस प्रधान बड़ा या भूतपूर्व विधायक ,उदयभान  ने अपना मखौल उड़वाया 

उदय भान हरियाणा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष बनने के लायक नहीं
नेम प्लेट ने खोल दी उदय भान की सोच की पोल
उदय भान के लिए अध्यक्ष पद से ex-mla का ओहदा बड़ा
उदय भान सिर्फ हुड्डा की कठपुतली के तौर पर काम करेंगे
हरियाणा कांग्रेस प्रधान बड़ा या भूतपूर्व विधायक ,उदयभान  ने अपना मखौल उड़वाया

चंडीगढ़। कहते हैं कि  “पूत के पाँव पालने में ही नजर आ जाते हैं”। यह नजारा आज हरियाणा कांग्रेस के चंडीगढ़ मुख्यालय में देखने को मिला  आज जब कांग्रेस के चंडीगढ़ मुख्यालय में जाना हुआ तो वहां “हैरानीजनक” नजारा देखने को मिला।
सैलजा को हटाकर बनाए गए नए हरियाणा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष उदयभान के नाम की प्लेट लगी हुई देखी। इस नेम प्लेट को देखकर माथा “ठनक” गया और उदय भान की सोच पर “सवालिया” निशान खड़ा हो गया।
उदय भान की मंजूरी से लगाई गई इस नेम प्लेट से यह जाहिर हो गया कि वह हरियाणा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद के “काबिल” नहीं हैं।
उदय भान ने “अभूतपूर्व” काम करते हुए प्रेसिडेंट के नाम के साथ साथ ex-mla भी अपने नाम के आगे लिखवाया है।यानी उदय भान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से ज्यादा “बड़ा” पद Ex MLA का पद मानते हैं।
इसलिए उन्होंने प्रेसिडेंट लिखवाने के साथ-साथ ex-mla भी लिखाने का “बेजोड़” काम कर दिखाया है। चार बार के एमएलए रह चुके उदय भान की नेम प्लेट तो यह जाहिर करती है कि उन्हें जरा सा भी सियासी ज्ञान नहीं है।
एक जागरूक कार्यकर्ता को भी यह पता होता है कि अध्यक्ष का पद हरियाणा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष का पद EX MLA से 100 गुना बड़ा होता है लेकिन उदय भान को अध्यक्ष पद की बजाय ex-mla पद का बड़ा लगा और इसलिए उन्होंने अपने कमरे के बाहर प्रेसिडेंट से पहले नाम के साथ EX MLA लिखवा दिया।
कांग्रेस के इतिहास में इस तरह के नाम की प्लेट किसी भी अध्यक्ष के साथ नहीं देखी गई। उदय भान की नेम प्लेट नहीं साबित कर दिया है कि उनकी अगुवाई में हरियाणा कांग्रेस का कोई भला नहीं होगा।
इस नेम प्लेट से साबित हो गया कि भूपेंद्र हुड्डा ने कठपुतली के तौर पर इस्तेमाल करने के लिए उदयभान को प्रदेश अध्यक्ष बनवाया है।
उदयभान हुड्डा की हां में हां मिलाने का काम करेंगे।
उदय भान सिर्फ और सिर्फ भूपेंद्र हुड्डा की कठपुतली तौर पर काम करेंगे।यानी उदय भान का अपना कोई वजूद नहीं होगा और वह सिर्फ भूपेंद्र हुड्डा की डफली बजाते हुए नजर आएंगे।
बात यह है कि उदय भान को भूपेंद्र हुड्डा ने सिर्फ इसी खासियत के कारण विधायक बनाया है कि वह कभी उनके साथ तर्क नहीं करेंगे। कभी उनके साथ सवाल जवाब नहीं करेंगे।
वह कभी उनके फैसलों पर सवाल नहीं उठाएंगे और वह हमेशा उनकी जी हजूरी में मौजूद रहेंगे। उदय भान की नेम प्लेट ने बता दिया कि 4 बार के विधायक बनने के बावजूद उदय भान का अपना ने तो कोई वजूद है, न उनकी कोई समझ है और ना ही राजनीतिक रसूख। भूपेंद्र हुड्डा ने उदयभान को सिर्फ अपने फायदे के लिए प्रदेश अध्यक्ष बनाया है। उदय भान प्रदेश अध्यक्ष बनकर खुश रहेंगे और भूपेंद्र हुड्डा उनकी कलम और ओहदे का भरपूर इस्तेमाल करेंगे
Advertisement

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

पत्रकार पर पुलिस हमले को लेकर प्रेस कौंसिल का हरियाणा सरकार को नोटिस

admin

2 गाडिय़ों की हुई भिड़ंत, एक ट्रक-ट्राला भी हुआ दुर्घटनाग्रस्त

admin

इसे कहते है जनता में फूट डालो और राज करो ,दुष्यंत को ठेंगा दिखा मनोहर खट्टर-हुड्डा के बीच “गजब” का याराना

admin

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL