AtalHind
कैथलटॉप न्यूज़हरियाणा

कैथल पुलिस की एडवाइजरी, सतर्क रहे, कोई एप्प ना करें इंस्टॉल, किसी को कोई पैसा ना करें ट्रांसफर

राम मंदिर के उद्घघाटन के नाम पर
कैथल पुलिस की एडवाइजरी, सतर्क रहे, कोई एप्प ना करें इंस्टॉल, किसी को कोई पैसा ना करें ट्रांसफर

SP Upasana

कैथल, 20 जनवरी (अटल हिन्द ब्यूरो )

साइबर अपराधी ठगी को अंजाम देने के लिए तरह तरह के तरीके अपना रहे है। 22 जनवरी को अयोध्या में राम मंदिर का उद्घाटन होने वाला है। ऐसे में साइबर अपराधी साइबर ठगी का अंजाम देने के लिए राम मंदिर का उद्घघाटन का नाम लेकर विभिन्न तरीकों से साइबर ठगी को अंजाम देने की ताक में है। पुलिस विभाग द्वारा एक एडवाइजरी जारी की गई है जिसमें उन्होंने लोगों से सावधान रहने की अपील की गई है।

1. वीआईपी पास के नाम पर मैसेज भेजकर-

एसपी उपासना ने जानकारी देते हुए बताया कि अयोध्या में बन रहे राम मंदिर के उद्घाटन के नाम पर साइबर अपराधियों द्वारा एक फर्जी मोबाइल एप्लीकेशन फाइल को आम जनता के व्हाट्सएप पर भेजी जा रही है और इस एप्लीकेशन फाइल के साथ एक मैसेज भी भेजा जा रहा है मैसेज यह है कि “राम मंदिर के उद्घाटन के लिए वि आई पी पास प्राप्त करें” (इंस्टाल राम जन्मभूमि अभियान टू गेट वीआईपी पास एक्सेस टू राम मंदिर इनुग्रेशन.एपीके) यह फाइल एक मोबाइल वायरस है जिसे आपके द्वारा इनस्टॉल करने पर आपके मोबाइल का सारा गोपनीय डाटा चोरी हो सकता है। सावधान रहे इस तरह का कोई मैसेज प्राप्त होने पर प्रतिक्रिया न करें। इस तरह की काई एप्लीकेशन अपने फोन या लैपटॉप में इंस्टॉल ना करें। साइबर अपराधी आपकी निजी जानकारी चुराकर इसके माध्यम से आपके साथ वित्तीय धोखाधड़ी कर सकते है।

2. फ्री रिचार्ज करने के नाम पर मैसेज भेजकर-

एसपी ने बताया कि साइबर ठग आपके मोबाइल फोन या सोशल मीडिया खातों पर राम मंदिर के उद्धघाटन के नाम पर सरकार की स्कीम बताकर आपके पास फ्री में मोबाइल फोन रिचार्ज करने का मैसेज भेज सकते हैं, जिसमें साइबर अपराधी आपके पास एक लिंक भेजेंगे और उस लिंक पर क्लिक करके फ्री में रिचार्ज करने का लालच देंगे। आपके द्वारा उस लिंक पर क्लिक करते ही आपके मोबाइल फोन पर साइबर अपराधियों का नियंत्रण हो सकता है और साइबर अपराधी आपकी सारी जमा पूंजी को कुछ ही क्षणों में आपके खाते से उड़ा सकते हैं। इसलिए इस प्रकार के मैसेजों पर विश्वास ना करें और साइबर सुरक्षित रहें।

3. प्रसाद फ्री होम डिलीवरी करने के नाम पर-

एसपी ने अन्य जानकारी देते हुए बताया कि आजकल कई वेबसाइट राम मंदिर या अन्य किसी धार्मिक संस्थान का प्रसाद फ्री होम डिलीवरी करने का दावा कर रही हैं। इंटरनेट का प्रयोग करते समय आपको किसी वेबसाइट पर प्रसाद फ्री होम डिलीवरी करने का मैसेज दिखाई दे सकता है। उसके एक लिंक भी दिखाई दिया हो सकता है। प्रसाद की फ्री होम डिलीवरी का लालच व दिए गए लिंक पर क्लिक करना आपको मुसीबत में भी डाल सकता है और आपके साथ फ्रॉड हो सकता है। इसलिए इंटरनेट पर प्रसाद की फ्री होम डिलीवरी का मैसेज देखकर उसको अनदेखा कर दें। क्योंकि कोई भी धार्मिक संस्थान प्रसाद की फ्री होम डिलीवरी करने का दावा नही करती हैं। उपरोक्त मैसेजों के अलावा भी आपको विभिन्न प्रकार से लालच दिए जा सकते हैं। हमें किसी भी प्रकार के लालच के मैसेज व विज्ञापन आदि से सतर्क रहना है और अपने आपको को साइबर सुरक्षित रखना है। अगर फिर भी आपके साथ कोई साइबर ठगी या साइबर अपराध हो जाता है तो तुरंत अपनी शिकायत साइबर हेल्पलाइन 1930 या साइबर पोर्टल पर दर्ज करवाएं। साइबर पुलिस द्वारा साइबर अपराधियों के बैंक खातों को फ्रीज करके ठगी से प्राप्त की गई राशि वापस आपके बैंक खाते में वापस मिल सकती है।

Advertisement

Related posts

हरियाणा बीजेपी विधायक का सच बोलना की जींद के अधिकारियों से उग्रवादी अच्छे -महंगा तो नहीं पड़ जाएगा

admin

मोहाली … मचा हड़कंप….. 60 छात्राओं के नहाते हुए वीडियो वायरल,

atalhind

कैथल खाद्य आपूर्ति विभाग ने  खुद खराब राशन डिपो में अन्नपूर्णा योजना के तहत भेजा ,  सीएम फ्लाइंग ने डिपो पर मारा छापा अधिकारियों पर कार्यवाही की बजाए  डिपो को किया सील

admin

Leave a Comment

URL