AtalHind
कैथलटॉप न्यूज़लाइफस्टाइलहरियाणा

कैथल डीसी प्रदीप दहिया को अम्बेडकर रत्न अवार्ड से नवाजा 

कैथल डीसी प्रदीप दहिया को अम्बेडकर रत्न अवार्ड से नवाजा

कैथल, 14 अप्रैल (  अटल हिन्द/राजकुमार अग्रवाल  )
भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर की 131वीं जयंती पर आल इंडिया अम्बेडकर महासभा व एससी-बीसी एकता मंच द्वारा भाई उदय सिंह किला परिसर में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में उपायुक्त प्रदीप दहिया, राष्ट्रीय इंडिया अम्बेडकर महासभा के कार्यकारी अध्यक्ष राकेश बहादुर, एससी-बीसी एकता मंच  के चेयरमैन महेंद्र धानिया, अम्बेडकर महासभा की हरियाणा की अध्यक्षा रीना वाल्मीकि आदि ने डॉ. भीम राव अम्बेडकर के चित्र के समक्ष पुष्प अर्पित करके कार्यक्रम का शुभारंभ किया।
साथ ही सभी ने केक काटकर बाबा साहेब का जन्म दिन मनाया।
 बता दें कि इससे पहले सभा द्वारा गत दिवस पूरे शहर में बाबा साहेब के जीवन चरित्र पर आधारित शोभायात्रा का आयोजन भी किया गया था और प्रत्येक वर्ग के लोगों ने जगह-जगह पर शोभायात्रा का स्वागत किया था।
इस समारोह में भी समाज के हर वर्ग ने शिरकत करके बाबा साहेब को नमन किया जो कि उनकी सोच, समाजवाद को दर्शाता है। इस मौके पर डॉ. भीमराव अम्बेडकर पुस्तकालय कलायत द्वारा महान विभूतियों के जीवन दर्शन पर आधारित रोल प्ले की प्रस्तुति दी गई, जिसे सभा में बैठे प्रत्येक व्यक्तियों ने सराहा। कार्यक्रम में सभा द्वारा उपायुक्त प्रदीप दहिया को अम्बेडकर रत्न अवार्ड से नवाजा गया।
उपायुक्त प्रदीप दहिया ने कहा कि भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर ने समाज को नई दिशा दी है। उन्होंने शिक्षित होने का जो नारा दिया, उसी से समाज का उत्थान हो रहा है। शिक्षा के माध्यम से जीवन का ऊंचे से ऊंचा मुकाम भी हासिल किया जा सकता है।

प्रत्येक वर्ग के हितों की रक्षा के लिए उन्होंने दुनिया का सर्वश्रेष्ठ संविधान लिखा। समाज को एक नया रास्ता दिखाते हुए उन्होंने कहा था कि पढ़ाई करो और गरीबी से बाहर आओ। इस कार्यक्रम में प्रत्येक वर्ग के लोग आए हैं। विशेषकर भारी संख्या में महिलाएं आई हैं। इसी महिला वर्ग के लिए बाबा साहेब ने समानता की लड़ाई लड़ी थी और वोट का अधिकार भी दिलवाया। वर्तमान पीढ़ी को अपने परिवार से नैतिकता सीखनी होगी। नैतिकता होगी तो घर में धन-धान्य भी पूरा होगा।
उपायुक्त ने आह्वान किया कि प्रत्येक समाज के लोगों को अपने बच्चों को नैतिकता परक शिक्षा देनी होगी। क्योंकि नैतिकता परक शिक्षा से बच्चों का सर्वांगीण विकास होगा और उन्हें अच्छे बुरे की पहचान होगी। पढ़ाई करने वाला व्यक्ति एक दिन अपने लक्ष्य को जरूर प्राप्त करता है। उन्होंने कहा कि सम्पन्न लोगों को दूसरे जरूरतमंद व्यक्ति की मदद करनी चाहिए। उनकी मदद से किसी का जीवन बेहतर बन सकता है।
आज सभी को जिम्मेदार नागरिक बनकर कार्य करना चाहिए। अधिकारों के साथ-साथ अपने कर्तव्य बौद्ध का भी पालन करना चाहिए। हर धर्म, जाति से ऊपर देश है। इसलिए सभी को देशहित के लिए कार्य करना चाहिए।
भारतीय संविधान के मुख्य शिल्पकार है भारत रत्न डॉ. भीम राव अम्बेडकर :- राकेश बहादुर
राष्ट्रीय इंडिया अम्बेडकर महासभा के कार्यकारी अध्यक्ष राकेश बहादुर ने कहा भारतीय संविधान के मुख्य शिल्पकार भारत रत्न डॉ. भीम राव अम्बेडकर हैं।
उन्होंने सदैव सामाजिक समानता के लिए प्रयास किए और इस दिशा में संघर्षशील रहे। सामाजिक कुरीतियों को दूर करने व समरसता का भाव पैदा करने के लिए विशेष प्रयास किए। उन्होंने दृढ़ संकल्प से चुनौतियों को पार किया और भारत को सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक, संवैधानिक क्षेत्रों में महत्वपूर्ण योगदान दिया, जिसे कभी भुलाया नही जा सकता।
बाबा साहेब ने समता, समानता, बंधुता एवं मानवता पर आधारित संविधान तैयार किया, जोकि समस्त नागरिकों को राष्ट्रीय एकता, अखंडता में बांधता है। उन्होंने नारी शिक्षा पर विशेष बल दिया, जिससे सभी को समान अधिकार मिल रहे हैं।
बाबा साहेब ने किया समाज के लिए अपना जीवन न्योछावर : रीना वाल्मीकि
अम्बेडकर महासभा की हरियाणा की अध्यक्षा रीना वाल्मीकि ने कहा कि बाबा साहेब ने समाज की भलाई के लिए अपना जीवन न्यौछावर किया। उन्होंने देश को पवित्र संविधान दिया और सभी को समानता, स्वतंत्रता का अधिकार दिया। सामाजिक कुरीतियों को समाप्त करके सामाजिक भेदभाव को समाप्त किया। पिछड़े व अति पिछड़ों के लिए जीवन भर कार्य किया। गरीबों की आवाज सदैव डॉ. भीम राव अंबेडकर ने बुलंद की।
सभी को चलना चाहिए बाबा साहेब के दिखाए मार्ग पर : महेंद्र धानिया
एससी-बीसी एकता मंच  के चेयरमैन महेंद्र धानिया ने कहा कि बाबा साहेब डॉ. भीम राव अम्बेडकर ने सदैव गरीब व समाज के उत्थान के लिए कार्य किया। हम सभी को उनके दिखाए गए मार्ग पर चलना चाहिए और सभ्य समाज की स्थापना में अपना सहयोग देना चाहिए। उन्होंने सामाजिक कुरीतियों को दूर करने के लिए सदैव कार्य किया और प्रत्येक वर्ग के लिए ऐसा संविधान बनाया, जिसमें सभी को बराबर के अधिकार मिल रहे हैं।
ये रहे मौजूद
कार्यक्रम में राष्ट्रीय आल इंडिया अंबेडकर महासभा के कार्यकारी अध्यक्ष  राकेश बहादुर, एसी/बीसी एकता मंच के चेयरमैन महेंद्र धानियां, आल इंडिया अंबेडकर महासभा हरियाणा की प्रदेश अध्यक्षा रीना वाल्मीकि, डीएसपी विवेक चौधरी, धर्मपाल रत्ती, सोनू मचल, रणबीर धानिया, प्रेम जांगड़ा कोयल, सत्यवान सरोहा, डा.श्याम लाल, राजेश सिंहमार, रमेश सोहता, सत्यवीर वाल्मीकि, राजपाल सिंह, जगदीश मैहरा, दलबीर राठी, धर्मवीर प्रजापति, कमलकांत वर्मा, जिले सिंह जांगड़ा व कर्म सिंह, युवा समाजसेवी राजू कौशिक, नगर पार्षद रणबीर धानियां, रमेश गिल और रमेश सजूमा, राकेश बिडलान, कन्नू राम, सुरेश लोधर, जिले सिंह, राजपाल, अमर नाथ, जगदीश नेहरा, बलविंद्र, डॉ. रूपा वर्मा, चांदी रामा रंगा, प्रवीण लता, सुमन तंवर, राजेश बहादुर, रवि कल्याण, विक्की टांक आदि मौजूद रहे।
Advertisement
Advertisement

Related posts

ट्वीट ब्लॉक करने के सरकारी आदेशों की संख्या 2014 के आठ से बढ़कर 2022 में 3,400 हुई: आरटीआई

atalhind

मनोहर  सरकार से खफा हुए नगर परिषद नगर पालिकाओं  के चेयरमैन

atalhind

भारत के 10 खास ईसाई शख्सियतों पर करता देश नाज

atalhind

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL