AtalHind
अम्बालाचण्डीगढ़ टॉप न्यूज़राजनीतिहरियाणा

Shambhu Border-HARYANA के शंभू बॉर्डर पर बिगड़े हालात, किसानों का पुलिस के साथ टकराव, मची भगदड़

हरियाणा के शंभू बॉर्डर पर बिगड़े हालात, किसानों का पुलिस के साथ टकराव, मची भगदड़

 

हरियाणा के शंभू बॉर्डर पर बिगड़े हालात, किसानों का पुलिस के साथ टकराव, मची भगदड़
Kisan Andolan Latest News:चंडीगढ़(अटल हिन्द टीम) किसान आंदोलन (Kisan Andolan) के चलते हरियाणा के शंभू बॉर्डर (Shambu Border) पर हंगामा हुआ है. हरियाणा पुलिस की तरफ से टियर गैस के गोले छोड़े गए. इस दौरान मौके पर अफरातफरी मच गई है. दोपहर 12 बजे के करीब किसान (Farmers) बॉर्डर से आगे बढ़ने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन अब लगातार पुलिस आंसू गैस (Tear Gas) के गोले पुलिस ने छोड़े हैं. अब यहां पर जंग जैसे हालात हो गए हैं और हालात बेकाबू होने लगे हैं. दिल्ली कूच करने की राह पर बढ़ रहे किसानों का पुलिस के साथ टकराव हुआ है। अचानक उन्होंने बैरिकेड उखाड़ने शुरू कर दिए।
Situation deteriorated at Shambhu border of HARYANA, farmers clashed with police, stampede broke out दरअसल, किसान एक बार फिर दिल्ली में आंदोलन करने के इरादे से घरों से निकले हैं। क्योंकि भाजपा की मोदी सरकार का कार्यकाल खत्म हो रहा है और MSP समेत किसानों की कई मांगें अब तक पूरी नहीं हुई हैं, इसलिए किसान भड़के हुए हैं।
जानकारी के अनुसार, शंभू बॉर्डर पहुंचे नौजवानों ने बैरिकैड्स को मौके से उठाया तो पुलिस ने जवाबी कार्रवाई की है. पुलिस ड्रोन के जरिये बॉर्डर से दूसरी तरफ नजर बनाए हुए थी. वहीं, करीब साढ़े 12 के करीब ड्रोन से भी टियर गैस के गोले छोड़े गए हैं. हरियाणा पुलिस ने शंभू बॉर्डर पर किसानों के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है. हरियाणा पुलिस ने घोषणा की और कहा कि ‘जब तक किसान नेता नहीं आ जाते हैं किसी को बढ़ने नहीं दिया जाएगा. अगर किसी को एसपी या डीसी से बात करनी हो, तो इस
9729990500’ नंबर पर सपंर्क किया जा सकता है.
—किसान किए डिटेन
Farmers Protest 2.0 इससे पहले, अंबाला के शंभू बॉर्डर पर किसान पहुंचे थे. यहां पर सीमा से पहले ट्रैक्टर ट्रालियों का काफिला रुक गया था. साथ ही पुलिस ने कई किसानों को डिटेन किया था. फिलहाल, शंभू बॉर्डर पर काफी गहमागहमी है. यहां पर लगातार किसानों की संख्या भी बढ़ रही है.
—मुंह पर बांधे रुमाल
मौके पर पहुंचे नौजवान और अन्य लोग मुंह पर रुमाल बांधे हुए हैं और आंसू गैस के असर से बचने के लिए यह इंतजाम प्रदर्शनकारियों की तरफ से किए गए हैं. साथ ही मौके पर पानी के टैंकर भी रखे गए हैं, ताकि आंसू गैस का असर कम किया जा सके. पुलिस ने करीब 15-20 मिनट तक टियर गैस के गोले छोड़े हैं और इस कारण किसान मौके से करीब 100 मीटर पीछे चले गए हैं. हालांकि, आगे जाने की कोशिशें हो रही हैं. लेकिन जैसे ही कोई भी आगे बॉर्डर की तरफ बढ़ता है तो पुलिस गोले छोड़ती है. किसान जैसे ही टियर गैस के गोले आसपास गिरते हैं तो उस पर मिट्टी भी डाल रहे हैं, ताकि उसका असर कम किया जा सके.
Kisan Andolan : किसानों-पुलिस में हुई भिड़ंत, 20 मिनट में दो बार हुआ एक्‍शन
अंबाला : देर रात तक चली किसानों व सरकार की मीटिंग बेनतीजा रहने के बाद अंबाला पुलिस ने शंभू बॉर्डर पर सख़्ती के बीच दोपहर 12 बजे के आसपास आंदोलनकारी किसान और पुलिस के बीच भिड़ंत हो गई. आंदोलनकारी किसान शंभू बॉर्डर पर हरियाणा में घुसने का प्रयास करते नजर आए और बैरिकेडिंग तोड़ने लगे. नतीजतन पुलिस और दोनों का आमना सामना हो गया और दोनों में संघर्ष की स्थिति पैदा हो गई. अभी शंभू बॉर्डर पर हालात गंभीर बने हुए हैं. कई किसानों को हिरासत में भी लिया गया है. पुलिस शुरुआत में किसानों को 200 मीटर तक वापस धकेलने में कामयाब रही, लेकिन इसके बाद भी किसान आगे बढ़ रहे हैं.हालात ये हैं कि यहां 20 म‍िनट में दो बार बड़ा हंगामा हुआ है. पहला एक्‍शन 11.58, जबकि दूसरा एक्‍शन 12.18 पर हुआ. पुलिस ने ड्रोन के जरिये आंसू गैस के गोले तक दागे.
सरकार का अड़ियल रवैया अच्छा साबित नहीं हो रहा
Punjab Farmers Protest: ‘दिल्ली चलो’ मार्च के बारे में पूछे जाने पर किसान नेता और भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत ने कहा ‘अलग-अलग राज्यों की अलग-अलग मांगें हैं. लेकिन क्या किसान हमेशा धरने पर ही बैठे रहेंगे, क्या वो हमेशा दिल्ली की ओर कूच करेंगे? सरकार को इस पर गौर करना चाहिए. यह अड़ियल रवैया किसी के लिए अच्छा नहीं साबित हो रहा है.’
Advertisement

Related posts

कैथल प्रशासन द्वारा निर्धारित  खाद्य पदार्थों के दामों में कुछ नहीं सब गोल-माल है

admin

ED ने केजरीवाल के निजी सचिव, AAP से जुड़े लोगों के परिसरों पर मारे छापे

editor

हमें पत्रकारों की परवाह, दुरुपयोग के हर आरोप की जांच कर रहे हैं: एनएसओ ग्रुप के प्रमुख

admin

Leave a Comment

URL