AtalHind
चण्डीगढ़ टॉप न्यूज़पंजाबराजनीति

kisan andolan-किसान शुभकरण को हरियाणा पुलिस ने मारा -मृतक के परिवार का आरोप

किसान शुभकरण को हरियाणा पुलिस ने मारा -मृतक के परिवार का आरोप

पंजाब के बठिंडा जिले के बल्लो गांव में शुभकरण सिंह के घर पर जुटे लोग. (फोटो: स्पेशल अरेंजमेंट)

चंडीगढ़(अटल हिन्द ब्यूरो ) किसान आंदोलन के दौरान पंजाब के बठिंडा जिले के बल्लो गांव में 22 वर्षीय किसान शुभकरण सिंह की मौत से मातम छा गया है. पंजाब और हरियाणा के खनौरी सीमा पर यह घटना तब हुई जब कुछ प्रदर्शनकारी किसान बैरिकेड्स की ओर बढ़ने की कोशिश कर रहे थे.कथित पुलिस कार्रवाई में 21 फरवरी को पंजाब के पटियाला जिले के पातड़ां कस्बे के पास खनौरी सीमा पर शुभकरण की मौत हो गई थी.

मृतक किसान शुभकरण

पटियाला के सरकारी राजिंदरा अस्पताल के डॉक्टरों की प्रारंभिक जांच में यह भी संदेह सामने आया कि उनकी मौत गोली लगने से हुई.हालांकि हरियाणा पुलिस उनकी मौत पर चुप है, लेकिन पटियाला रेंज के उप महानिरीक्षक (डीआईजी) एचएस भुल्लर ने संवाददाताओं से कहा कि संदेह है कि शुभकरण की मौत उन चोटों से हुई है, जब सुरक्षा बलों ने किसानों पर रबर की गोलियां चलाई थीं.

मृतक किसान शुभकरण सिंह के घर के बाहर जमा शुभचिंतकों की भीड़. (फोटो: स्पेशल अरेंजमेंट)

डीआईजी ने कहा, ‘उन्होंने ऐसा किया, क्योंकि किसानों ने हरियाणा पुलिस के बैरिकेड को तोड़ने की कोशिश की थी.’शुभकरण का परिवार टूट गया है और उनकी मौत के लिए पूरी तरह से हरियाणा सरकार को दोषी ठहराया है.

शुभकरण के चाचा बूटा सिंह ने मीडिया को बताया कि प्रदर्शनकारी किसानों के खिलाफ हरियाणा पुलिस की अत्यधिक कार्रवाई के कारण ही उसकी मौत हुई.हरियाणा पुलिस की कार्रवाई ने उनके परिवार को बर्बाद कर दिया है.

Advertisement

Related posts

495 इमिग्रेशन कंसल्टैंट सस्पैंड , वीजा, वर्क परमिट सहित ट्रैवल कारोबार करने वाली कई नामी हस्तियों के नाम भी शामिल हैं

atalhind

लाल गुलाब से भी अधिक सुर्ख है पुलवामा की सड़क 14 को वैलेंटाइन डे नहीं बल्कि शहीदी दिवस ही मनाया जाए

editor

क्यों पीएम केयर्स फंड ‘प्राइवेट’ नहीं, बल्कि ‘सरकारी’ है और आरटीआई के दायरे में है

admin

Leave a Comment

URL