AtalHind
कैथलहरियाणा

कैथल डीसी बोले सभी की जवाबदेही तय–ना गलत काम करेंगे ना होने देंगे

कैथल डीसी बोले सभी की जवाबदेही तय–ना गलत काम करेंगे ना होने देंगे

कैथल, 17 मार्च (राजकुमार अग्रवाल ) उपायुक्त प्रदीप दहिया ने कहा कि प्रशासनिक व्यवस्था में सभी अधिकारियों व कर्मचारियों की जवाबदेही तय है। किसी भी अधिकारी एवं कर्मचारी को भ्रष्टाचार जैसा गलत कार्य नहीं करने दिया जाएगा और न ही किसी के साथ गलत होने दिया जाएगा। जिला एवं उपमंडल स्तर पर बनाई गई विजिलेंस कमेटियां भ्रष्टाचार एवं रिश्वतखोरी, सरकारी फंड के दुरुपयोग एवं गबन, कर्मचारियों/अधिकारियों के आचरण संबधी जांच एवं निरीक्षण प्रभावी तरीके से करें तथा कार्रवाई की रिपोर्ट समय पर उपायुक्त कार्यालय में भिजवाना सुनिश्चित करें ताकि समय रहते संबंधित अथॉरिटी को रिपोर्ट भेजी जा सके।
उपायुक्त प्रदीप दहिया लघु सचिवालय के सभागार में जिला विजिलेंस कमेटी के एक दिवसीय सेमिनार में बतौर मुख्यातिथि बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि विजिलेंस कमेटियां दूध आदि खाद्य पदार्थों की भी चैकिंग करें तथा चेकिंग की कार्रवाई को फॉर्मेलिटी न कर जहां भी कमियां मिलें वहां तुरंत कार्रवाई करें और उसकी रिपोर्ट दें। उन्होंने कहा कि विजिलेंस  को सभी कार्यालयों का औचक निरीक्षण एवं जांच करने का अधिकार दिया गया है। उन्होंने कहा कि विजिलेंस कमेटी को जो भी शिकायत भ्रष्टाचार एवं रिश्वतखोरी से सम्बन्धित मिले तो उस पर गंभीरता एवं तत्परता के साथ कार्रवाई की जाए।

Kaithal DC said that everyone’s accountability will be fixed – neither will they do wrong things nor will they allow

Advertisement

उपायुक्त ने कहा कि भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने तथा सरकारी कार्यालयों में अधिकारियों/कर्मचारियों की उपस्थिति समय पर सुनिश्चित करने तथा उनके कार्य एवं आचरण आदि को लेकर जिला एवं सब डिवीजन स्तर पर विजिलेंस कमेटी बनाई गई है। विजिलेंस समिति के सदस्य पूरी गंभीरता एवं प्राथमिकता के आधार पर अपनी ड्यूटी का निर्वहन करें। रिश्वतखोरी और भ्रष्टाचार व सरकारी विभागों के फंड का गबन करने की शिकायत पर जांच तथा किसी भी विभाग का लोकल ऑडिट भी यह कमेटी करवा सकती है। सरकारी विभागों के अलावा प्राइवेट स्कूल तथा फैक्ट्रियों, प्राइवेट बसों आदि की भी यह कमेटी चेकिंग कर सकती है। उन्होंने कहा कि एक सब डिवीजन की विजिलेंस कमेटी से जिला में दूसरे सब डिवीजन में भी जांच एवं निरीक्षण करवाया जा सकता है।
इस मौके पर एसडीएम मनीष कुमार लोहान व नवीन कुमार, सीटीएम गुलजार अहमद, जीएम रोडवेज अजय गर्ग,  डीडीपीओ कंवर दमन, डीआईओ दीपक खुराना, डीएसडब्ल्यूओ कुलदीप शर्मा, कार्यकारी अभियंता प्रशांत, डीडब्ल्युओ विनोद चावला, सचिव रामजी लाल, सतीश मच्छाल सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहे।

बॉक्स : जिला स्तरीय विजिलेंस कमेटी 15 दिनों में एक बार करेगी औचक निरीक्षण
उपायुक्त प्रदीप दहिया ने कि जिला स्तरीय विजिलेंस कमेटी 15 दिनों में एक बार तथा उपमंडल स्तरीय विजिलेंस कमेटी द्वारा सप्ताह में एक बार औचक निरीक्षण किया जाएगा। अप्रैल माह से ही विजिलेंस कमेटियां अपना कार्य शुरू कर देंगी। विभिन्न विकास कार्यो के सिविल वर्क तथा विभागीय कार्यो, कालाबाजारी, जमाखोरी, खाद्य सुरक्षा मानकों की उल्लंघना के अंतर्गत खाद्य पदार्थों की चेकिंग  एवं सैम्पलिंग से सम्बंधित कार्य भी करेगी और अपनी रिर्पोट हर मास भिजवाना सुनिश्चित करेंगी।

बॉक्स : यह होंगे जिला विजिलेंस कमेटी के सदस्य
डीसी प्रदीप दहिया ने कहा कि जिला स्तरीय विजिलेंस कमेटी के चेयरपर्सन अतिरिक्त उपायुक्त होंगे। इनके साथ लोक निर्माण विभाग के कार्यकारी अभियंता, डीजी विजिलेंस द्वारा प्रतिनियुक्त डीएसपी, संबंधित विभाग के अधिकारी तथा उपायुक्त कार्यालय के लेखाकार शामिल होंगे।

Advertisement

बॉक्स : यह होंगे उपमंडल विजिलेंस कमेटी के सदस्य
डीसी प्रदीप दहिया ने कहा कि उपमंडल विजिलेंस कमेटी में संबंधित एसडीएम चेयरपर्सन, लोक निर्माण विभाग के उपमंडल अभियंता, संबंधित विभाग के अधिकारी तथा उपायुक्त कार्यालय के प्रतिनियुक्त लेखाकार शामिल होंगे। विजिलेंस कमेटियां सरकार की हिदायतों की अनुसार गठित की गई है। यह कमेटियां पूरी पारदर्शिता से जनता की भलाई के कार्य करेंगी।

Advertisement

Related posts

कैथल की निगरानी तो कैमरो कर लेंगे ,कैथल पुलिस की निगरानी कौन करेगा साहब

atalhind

दिव्यांग बच्चों के लिए आयोजित शिविर में हुई धांधली की निष्पक्ष जांच हो – विकलांगता आयुक्त

admin

एच.पी.एस.सी. भर्ती रिश्वत मामला: प्रवर्तन निदेशालय को शिकायत भेजते हुए भ्रस्टाचार से अर्जित कि गई संपत्ति जांच की मांग । ​​​​​​​

admin

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL