AtalHind
कैथल (Kaithal)क्राइम (crime)टॉप न्यूज़

हरियाणा में सिपाही परीक्षा पेपर लीक मामले में अभी तक 16 आरोपी किये कैथल पोलिस ने गिरफ्तार 

हरियाणा में सिपाही परीक्षा पेपर लीक मामले में अभी तक 16 आरोपी किये कैथल पोलिस ने गिरफ्तार ,3 दिन के पुलिस रिमांड पर चल रहे थे 6 आरोपी,आठों आरोपियों से वारदात में प्रयुक्त 8 मोबाईल फोन बरामद,

3 आरोपी चल रहे है 9 दिन के पुलिस रिमांड पर तथा 1 आरोपी है 10 दिन के पुलिस रिमांड पर, अब तक गिरफ्तार किए जा चुके है कुल 16 आरोपी:- कैथल (अटल हिन्द/राजकुमार अग्रवाल )पुलिस अधीक्षक लोकेंद्र सिंह ने बताया कि हरियाणा पुलिस सिपाही परीक्षा लीक करने के मामले में कैथल पुलिस द्वारा 2 अन्य आरोपियों को गिरफतार किया गया है। एसपी ने बताया कि उक्त मामले में कैथल पुलिस द्वारा अब तक कुल 16 आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके है। एसपी ने बताया कि सीआईए-2 प्रभारी इंस्पेक्टर सोमबीर सिंह की टीम द्वारा करीब 21 वर्षीय आरोपी अंकित तथा करीब 24 वर्षीय आरोपी विकास दोनो निवासी धमतान साहिब जिला जींद को गिरफ्तार कर लिया गया। दोनों आरोपियों को आरोपी नरेंद्र द्वारा आंसर की उपलब्ध करवाई गई थी। जिनके कब्जे से पुलिस द्वारा आंसर की मंगवाने के लिए वारदात में प्रयुक्त किए गए 2 मोबाईल फोन बरामद कर लिए गए।

 

 


एसपी ने बताया कि कैथल सीआईए-1 प्रभारी इंस्पेक्टर अमित कुमार की अगुवाई में पुलिस द्वारा एक गुप्त सूचना मिलने उपरांत 7 अगस्त को माता गेट कैथल के नजदीक से स्विफ्ट गाडी में बैठे संदीप व गौतम दोनो निवासी खापड जिला जींद तथा नवीन निवासी प्यौदा को एन्सवर की सहित काबू किया गया था। जांच के दौरान युवक के कब्जे से हरियाणा पुलिस सिपाही लिखित परीक्षा की आन्सवर की बरामद हुई थी। पुलिस द्वारा आरोपियों के खिलाफ थाना शहर में मामला दर्ज करके आगामी जांच दौरान उनके गिरोह से जुड़े गांव थुआ निवासी आरोपी रमेश तथा गांव किच्छाना निवासी राजेश को काबू करके गिरफ्तार कर लिया गया था। आरोपी रमेश कैथल में एक कोचिंग सेंटर चलाता है। आरोपियों से पूछताछ उपरांत उनके गिरोह से जुडे आरोपी नरेंद्र निवासी हिसार तथा आरोपी राजकुमार निवासी खांडा खेडी हिसार को गिरफ्तार करके आरोपी रमेश, संदीप तथा नरेंद्र का गिरोह से जुड़े अन्य सदस्यों की गिरफ्तारी सहित व्यापक पूछताछ के लिये 9 दिन का पुलिस रिमांड तथा आरोपी राजकुमार का 10 दिन के लिए पुलिस रिमांड हासिल किया गया है। आरोपी नरेंद्र द्वारा रमेश को 6 अगस्त की रात ही एन्सवर की उपलब्ध करवाई गई थी।

आरोपी नरेंद्र द्वारा 1 करोड रुपए में डील करके आंसर की राजकुमार से प्राप्त की गई थी। जो रमेश व उसके अन्य साथियों द्वारा 12 से 18 लाख रुपए में आगे जिनको की उपलब्ध करवाई गई उनके साथ बात तय की हुई थी। एसपी ने बताया कि सीआईए-2 प्रभारी इंस्पेक्टर सोमबीर सिंह की टीम द्वारा रमेश से आंसर की प्राप्त करने वाले आरोपी अशोक उर्फ शौकी निवासी उचाना कलां जिला जींद, राजेश कुमार निवासी उचाना खुर्द जिला जींद, संदीप निवासी तारखा जिला जींद, राजबीर निवासी दरौली खेडा जिला जींद, दीपक सिंह व अनिल कुमार दोनो निवासी गांव थुआ जिला जींद तथा सुरेंद्र कुमार उर्फ बिट्टु निवासी गांव सेगा को भी गिरफ्तार किया गया था। जो 4 आरोपियों का स्वयं का पेपर था जबकि एक आरोपी ने अपने साली के लडके, दुसरे ने काका के लडके व साले के लिए तथा तीसरे आरोपी द्वारा अपने पुत्र के लिए एन्सवर की प्राप्त की थी।

 

आरोपी संदीप निवासी तारखा को न्यायालय के आदेशानुसार न्यायिक हिरासत में भेजा जा चुका है जबकि शेष 6 आरोपियों का वारदात में प्रयुक्त मोबाईल फोन की बरामदगी के लिए 3 दिन का पुलिस रिमांड हासिल किया गया था। सीआईए-2 पुलिस द्वारा आरोपियों की निशानदेही पर आंसर की मंगवाने के लिए वारदात में प्रयुक्त किए गये 6 मोबाइल फोन भी बरामद कर लिए गए। आठों आरोपी आज वीरवार को अदालत में पेश कर दिए गए, जहां से उन्हे न्यायालय के आदेशानुसार न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। जबकि पुलिस रिमांड पर चल रहे आरोपी रमेश, संदीप, नरेंद्र तथा राजकुमार से पुछताछ करते हुए पुलिस द्वारा गिरोह से जुडे अन्य सदस्यों की गिरफ्तारी के लिए निरंतर छापेमारी की जा रही है।

Advertisement

Related posts

सीखने-सिखाने की भारतीय ज्ञान परंपरा को नहीं भूलना : डॉ. चौहान

atalhind

 विदेशी महिला से गैंगरेप से ज़्यादा महिला आयोग अध्यक्ष की ‘देश की बदनामी’ की चिंता पर आक्रोश

editor

यानी रूल 158 तो पहले भी था  किताबें, वर्दियां कहीं से भी खरीदो ,शायद जिला प्रशासन भूल गया था या फिर ,,,,हिस्सेदारी चल रही थी ,

atalhind

Leave a Comment

URL