AtalHind
अंतराष्ट्रीयक्राइम (crime)टॉप न्यूज़

लड़कों के झुण्ड ने बिना लड़की को छुए किया ऑनलाइन गैंगरेप ,दुनिया में पहला मामला दर्ज हुआ

लड़कों के झुण्ड ने बिना लड़की को छुए किया ऑनलाइन गैंगरेप ,दुनिया में पहला मामला दर्ज हुआ

Metaverse: टूट पड़ा लड़कों का झुंड, मिलकर किया बिना छुए ‘ऑनलाइन गैंगरेप’, दर्ज हुआ ऑनलाइन अवतार में रेप का पहला केस

Metaverse Rape case in UK British

UK minor Girl Virtually Gangrape In Metaverse Game says police: लंदन. ब्रिटेन में एक बेहद अजीबोगरीब मामला सामने आया है, जहां मेटावर्स गेम खेल रही 16 साल की एक लड़की के वर्चुअल अवतार को ऑनलाइन गैंगरेप का शिकार बनाया गया. मीडिया रिपोर्ट में बताया गया है कि इस घटना के बाद से वह लड़की गहरे सदमे में हैं. पुलिस ने इस संबंध में केस दर्ज करके जांच शुरू कर दी है. यूनाइटेड किंगडम यानी यूके में मेटावर्स में रेप का पहला मामला दर्ज हुआ है। ऑनलाइन मेटावर्स में 16 साल की लड़की के साथ गैंगरेप के इस मामले की पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने केस भी दर्ज कर लिया है। आरोप लगाने वाली नाबालिग लड़की का कहना है कि कुछ लोगों ने रिएलिटी गेम में उससे ऑनलाइन अवतार में गैंगरेप किया। बताया जा रहा है कि इस वजह से नाबालिग लड़की सदमें में और डरी हुई है।

पीड़िता ने बताया है कि असली दुनिया में यौन शोषण के दौरान असली दुनिया में जैसी तकलीफ होती है वैसी ही उसे इस दौरान हुई। एक ऑनलाइन रूप में कई लोगों की मौजूदगी में उसे शिकार बनाया गया। बताया जा रहा है कि मेटावर्स पर वर्चुअल दुनिया में रेप का यह अपनी तरह का पहला मामला है। किशोरी को दुष्कर्म पीड़िता की तरह ही मानसिक प्रताड़ना झेलनी पड़ी।

लड़की को लगा गहरा सदमा’
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस अधिकारियों ने कहा कि पीड़ित लड़की को शारीरिक रूप से तो कोई नुकसान नहीं हुआ है, लेकिन उसे वैसी ही मनोवैज्ञानिक और भावनात्मक चोट पहुंची, जैसा सदमा वास्तविक दुनिया में किसी गैंगरेप पीड़िता को लगता है. ऐसे में पुलिस इस मामले को बेहद गंभीरता से लेते हुए जांच कर रही है.’

मेटा का ऑनलाइन गेम खेल रही थी लड़की
रिपोर्ट में बताया गया है कि वह लड़की ‘होराइजन वर्ल्ड्स’ नामक गेम खेल रही थी. यह मेटा का एक प्रोडक्ट है, जिसे पहले फेसबुक के नाम से जाना जाता था. रिपोर्टों से संकेत मिलता है कि इस प्लैटफॉर्म पर आभासी यौन दुर्व्यवहार की कई शिकायतें सामने आई हैं, लेकिन यूके में आज तक कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की गई है.

पुलिस के सामने खड़ी हुई नई चुनौती

A group of boys did online gang rape without touching the girl, first case registered in the world. वहीं इसे पहला वर्चुअल यौन अपराध बताया जा रहा है। अधिकारियों का कहना है कि इससे कानून के सामने भी नई चुनौती खड़ी हो गई है, क्योंकि इस तरह के अपराध के लिए कानून में कोई प्रावधान नहीं है। बता दें कि वर्चुअल दुनिया मेटावर्स में असल दुनिया की तरह ही काम हो रहे हैं। इस दुनिया में लोग नहीं होते बल्कि लोगों के अवतार होते हैं। मेटावर्स में साइन इन करने वाले लोग वर्चुअल दुनिया में चले जाते हैं। वे वर्चुअल अवतार में ही लोगों से मिलते हैं।

भावनात्मक और मनोवैज्ञानिक प्रभाव

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक 16 साल की यह लड़की एक इमर्सिव गेम में वर्चुअल रियलिटी (वीआर) हेडसेट का इस्तेमाल कर रही थी। इसी दौरान उसपर हमला किया गया। रिपोर्ट में ब्रिटिश अधिकारियों के हवाले से बताया गया है कि पीड़िता को इससे शारीरिक नुकसान तो नहीं हुआ, लेकिन इस घटना से उसपर पड़े भावनात्मक और मनोवैज्ञानिक प्रभाव को गंभीरता से लिया गया है।

लांकि, ब्रिटेन के गृह मंत्री जेम्स क्लेवरली ने वर्चुअल गैम में गैंगरेप की इस घटना की जांच का बचाव करते हुए लड़की को दिए गए मनोवैज्ञानिक आघात के महत्व पर जोर दिया है और इस तरह के आभासी कृत्यों की गंभीरता को कम करके आंकने के खिलाफ चेतावनी दी है. उन्होंने एक टीवी कार्यक्रम में कहा, ‘हम यहां एक बच्ची के बारे में बात कर रहे हैं… एक बच्ची जो यौन आघात से गुज़री है. इसका एक बहुत ही महत्वपूर्ण मनोवैज्ञानिक प्रभाव पड़ा है, और हमें इसे खारिज करने को लेकर बहुत सावधान रहना चाहिए.’

Advertisement

Related posts

राम मंदिर: प्राण प्रतिष्ठा में महिलाएं कहां हैं? दुर्गा वाहिनी ने कहा- पुरुष एकाधिकार ने उन्हें दरकिनार किया

editor

धोखेबाजी से चंडीगढ़ मेयर बने मनोज सोनकर ने दिया इस्तीफा

editor

कश्मीर में घबराहट और आतंक का माहौल  , भाजपा से कश्मीर नहीं संभल रहा: केजरीवाल

atalhind

Leave a Comment

URL