AtalHind
चण्डीगढ़ टॉप न्यूज़हरियाणा

Haryana-लॉरेंस बिश्नोई और बंबीहा गैंग में बड़े गैंगवार की आशंका, पुलिस हुई अलर्ट

Haryana-लॉरेंस बिश्नोई और बंबीहा गैंग में बड़े गैंगवार की आशंका, पुलिस हुई अलर्ट

चंडीगढ़. हरियाणा में लॉरेंस बिश्नोई गैंग के शूटर की बेरहमी से हत्या मामले में अब दो गैंग्स में टकराव बढ़ सकता है. गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई और बंबीहा गैंग के बीच बड़े टकराव के संकेत मिले हैं. हरियाणा में लॉरेंस गैंग के खासमखास शूटर की हत्या के बाद बड़े गैंगवार की आशंका जताई गई है और इनपुट मिलने के बाद हरियाणा और दिल्ली पुलिस समेत कई राज्यों की पुलिस अलर्ट हुई है
सूत्रों के मुताबिक, लॉरेंस बिश्नोई गैंग के 2 खास खास नजदीकियों की हत्या के बाद लॉरेंस बिश्नोई गैंग चुप बैठने वाला नहीं है, इसलिए कभी भी इन गैंग्स के बीच टकराव की स्थिति बनने में देर नहीं लगेगी. गैंगस्टरों के बीच गैंगवार छिड़ने की आशंका से कई राज्यों की पुलिस भी अलर्ट है. लॉरेंस के साथ गोल्डी गैंग, काला जठेड़ी गैंग, हाशिम बाबा, कपिल सांगवान और रोहित गोदारा जैसे गैंगस्टर्स की टीम है, जो अब मौके का इंतजार कर रही है, इसलिए राज्यों की पुलिस गैंगस्टरों से लेकर लोकल बदमाशों पर भी नजर रख रही है.

सूत्रों के मुताबिक, इस समय बंबीहा गैंग (Bambiha gang)को संभालने वाला लकी पटियाल विदेश में छिपे हिमांशु भाऊ, अर्श दल्ला, हरियाणा के कौशल चौधरी गैंग के साथ मिलकर लॉरेंस गैंग के खात्मे में जुटा है.

दरअसल, गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई साबरमती जेल में बंद है और दूसरी तरफ उसका विरोधी गुट बंबीहा गैंग अपने गैंगस्टर्स के साथ मिलकर उसकी बाजुएं काटने में जुटा है, यानी वो खास खास जो लारेंस गैंग को ऑपरेट कर रहे हैं.(Haryana- Fear of major gang war between Lawrence Bishnoi and Bambiha gang, police alerted.)

किस किस की हत्याएं हुई

2 जनवरी को हरियाणा के कुरुक्षेत्र इलाके में सचिन बाधवा की गोली मारकर हत्या कर दी गई. जो लॉरेंस बिश्नोई गैंग (Lawrence Bishnoi)को बड़ी लॉजिस्टिक सपोर्ट देता था. वहीं फर्जी पासपोर्ट का जिम्मा भी उसके पास था, उसका मारा जाना विरोधी गुट अपनी कामयाबी मान रहा है. इसी तरह 30 जनवरी को हरियाणा यमुनानगर में लॉरेंस के शूटर राजन जाट की हत्या कर दी गई.लॉरेंस गैंग का खास गूर्गा राजन एक बड़ा झटका माना जा रहा है, जो लॉरेंस बिश्नोई गैंग के लिए बड़ा सिक्का माना जाता था.

सूत्रों के मुताबिक, एक के बाद एक इन हत्याओं के बाद दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान और पंजाब पुलिस अलर्ट पर है. क्योंकि हमला होने के बाद बदला लेना इस गैंग की नियति है और इसलिए मुखबिरों को अलर्ट किया गया है गैंगस्टर एक दूसरे के खून के प्यासे हो रहे हैं. कहीं बड़ी वारदात की आशंका से कई राज्यों की पुलिस जेल के भीतर बंद गैंगस्टर्स की हर मूवमेंट पर भी नजर रख रही है.

Advertisement

Related posts

0 रुपये का नोट भी छापा गया था

editor

‘न्यू इंडिया’ में लोग ख़ुद ही जेल जाकर  डेबिट कार्ड में जेल क्रेडिट करेंगे. यानी ख़ुद से एक साल जेल में रहेंगे, जेल की यातनाएं सहेंगे

atalhind

कैथल सिविल अस्पताल  में हंगामा , डॉक्टर पर  लगा  हीमोफीलिया पीड़ित बच्चे का इलाज न करने का आरोप

admin

Leave a Comment

URL